‘गाय अत्यधिक उपयोगी जानवर लेकिन इसे पूजना व्यर्थ है, सुपरवुमन की पूजा कीजिए न कि गायों की’

"गाय को "जानवर" कहने के बयान ने लोगों की भावनाओं को आहत किया है। देश में गाय माता के रूप में पूजनीय है, लोग उन्हें पूजते हैं। ऐसे में गाय और हिंदुत्व पर धारीवाल की टिप्पणी निंदनीय है।"

राजस्थान के शहरी विकास और आवास मंत्री शांति कुमार धारीवाल ने सोमवार (जुलाई 22, 2019) को राजस्थान विधानसभा में विवादास्पद टिप्पणी करते हुए कहा कि गाय एक “अत्यधिक उपयोगी जानवर” है, लेकिन इसकी पूजा करने का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि सुपरवुमन की पूजा की जानी चाहिए न कि गायों की। धारीवाल ने वीर सावरकर की किताब का हवाला देते हुए ये बातें कहीं।

कॉन्ग्रेस नेता की विवादित टिप्पणी पर पलटवार करते हुए भाजपा नेता वासुदेव देवनानी ने कहा कि शांति कुमार धारीवाल के गाय को “जानवर” कहने के बयान ने लोगों की भावनाओं को आहत किया है। उन्होंने कहा कि देश में गाय माता के रूप में पूजनीय है, लोग उन्हें पूजते हैं। ऐसे में गाय और हिंदुत्व पर धारीवाल की टिप्पणी निंदनीय है।

विधानसभा में अपनी बात रखते हुए धारीवाल ने कहा कि राष्ट्रवाद को लेकर भी टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि आज दुनिया में जितने भी मुस्लिम देश हैं, वो आपस में लड़ रहे हैं। भारत का मुस्लिम सर्वश्रेष्ठ है और देश के 22 करोड़ मुस्लिमों को साथ लिए बिना राष्ट्रवाद की कल्पना नहीं की जा सकती

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

गौरतलब है कि, सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार (जुलाई 22, 2019) को ही देसी नस्ल की गाय आदि के वध पर चिंता जताया और इस पर प्रतिबंध लगाने की माँग करने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए केंद्र और सभी राज्य सरकारों को नोटिस जारी किया। कोर्ट ने नोटिस जारी करते हुए उनसे पूछा कि इस दिशा में क्या कदम उठाए जा रहे हैं। साथ ही मथला चंद्रपति राव द्वारा दायर जनहित याचिका पर न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने सभी राज्यों को गैरकानूनी तरीके से चल रहे बूचड़खानों को बंद करने और उच्चतम न्यायालय के समक्ष अनुपालन रिपोर्ट दायर करने के लिए भी निर्देश देने की माँग की।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

राजदीप सरदेसाई, राम मंदिर
राजदीप सरदेसाई के इस बदले सुर से सभी हैरान हैं। अपनी ही बात से पलट गए हैं। पहले उन्होंने जल्दी सुनवाई ख़त्म करने का स्वागत किया था, अब वह पूछ रहे हैं कि इतनी जल्दी भी क्या है? उन्होंने गिरगिट की तरह रंग बदला है। राजदीप जजों को ही खरी-खोटी सुनाने लगे।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

104,900फैंसलाइक करें
19,227फॉलोवर्सफॉलो करें
109,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: