Thursday, August 5, 2021
Homeराजनीति'6 दिसंबर से राम मंदिर का निर्माण': 5.51 लाख दीये अयोध्या में जले,...

‘6 दिसंबर से राम मंदिर का निर्माण’: 5.51 लाख दीये अयोध्या में जले, 2500 बच्चों ने पेश की रामलीला

यूपी में योगी सरकार आने के बाद से ही अयोध्या में दीवाली पर भव्य आयोजन हो रहा है। इस बार दीपोत्सव को स्टेट फेयर का दर्जा देते हुए राज्य की बीजेपी सरकार ने 133 लाख रुपए का बजट आवंटित किया था।

अयोध्या मे दिवाली के मौके पर 5.51 लाख दीपक जलाए गए, जो अपने-आप में एक विश्व रिकॉर्ड है। श्रीराम की नगरी अयोध्या में ‘राम की पैड़ी’ पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित कई बड़े नेताओं ने भाग लिया। शनिवार (अक्टूबर 26, 2019) को आयोजित इस कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद रहीं। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद से ही दीपोत्सव के कार्यक्रम को भव्य बनाने पर विशेष जोर रहा है लेकिन इस बार का कार्यक्रम बेहद ख़ास है, क्योंकि अयोध्या विवाद पर अगले महीने सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने की उम्मीद है।

इस दौरान सीएम योगी ने एक मुहावरे का प्रयोग करते हुए नए भारत की ताक़त का एहसास दिलाया। उन्होंने कहा कि आज का भारत किसी को छेड़ता नहीं है, लेकिन कोई और छेड़े तो छोड़ता भी नहीं है, हमारा देश आज इस स्थिति में पहुँच चुका है। पिछले साल इसी दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान लगभग 4 लाख दीये जलाए गए थे, जबकि इस बार पिछली बार से भी 1.5 लाख ज्यादा दीपक जलाए गए हैं। इस दौरान भगवान राम की चर्चा करते हुए सीएम योगी ने कहा:

प्रभु श्रीराम सबके हैं। निषादराज, शबरी, गिद्धराज जटायु से लेकर गिरिजनों तक, इसीलिए वे मर्यादा पुरुषोत्तम हैं। प्रभु श्रीराम उत्तर में हिमाच्छादित हिमालय से लेकर दक्षिण के समुद्र तट तक और पूर्व में ब्रह्मपुत्र घाटी से लेकर राजस्थान के थार मरूस्थल तक सर्वमान्य हैं। यह भव्य और दिव्य दीपोत्सव तमस को दूर करने वाला तथा समाज के सभी वर्गों को प्रभु श्रीराम जी के आदर्शों से एकात्म स्थापित करने वाला है। मैं आह्वान करता हूँ कि इसमें शामिल होकर सामाजिक समरसता के प्रतीक, समाज और परिवार के लिए आदर्श मर्यादा पुरुषोत्तम से एकाकार हों।

इस अवसर पर 2500 छात्रों ने विभिन्न कलाओं द्वारा रामायण की कथा का प्रदर्शन किया। सरकार ने इसे ‘अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम’ करार देते हुए 133 लाख रुपए ख़र्च किए हैं। सरकार ने इसे ‘स्टेट फेयर’ का दर्जा दिया है। मध्य प्रदेश, झारखण्ड और राजस्थान से कलाकार पहुँचे हुए हैं। रामकथा पार्क में उन्होंने अपनी प्रस्तुतियाँ दी।

उधर, उन्नाव के सांसद साक्षी महाराज ने कहा है कि 6 दिसंबर से राम मंदिर का निर्माण प्रारम्भ हो जाएगा। उन्होंने मामले को गंभीरता से सुनने के लिए सुप्रीम कोर्ट के जजों का धन्यवाद करते हुए उन्नाव में कहा कि 6 दिसंबर से पहले ही राम मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि जैसे अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त किए जाने के बाद एक पत्ता भी नहीं हिला, वैसे ही हिन्दू और मुस्लिम मिल कर राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरू करेंगे। साक्षी महाराज ने उन्नाव में अधिकारियों व नेताओं के साथ विकास कार्यों की भी समीक्षा की। इस बैठक के दौरान जिले की प्रभारी मंत्री कमल रानी अरुण ने अफसरों को कड़ी डाँट पिलाई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,028FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe