Saturday, June 22, 2024
HomeराजनीतिAAP ने I.N.D.I.A. को बताया समय की बर्बादी तो कॉन्ग्रेस ने अलका लांबा को...

AAP ने I.N.D.I.A. को बताया समय की बर्बादी तो कॉन्ग्रेस ने अलका लांबा को बता दी ‘औकात’, कहा- वे बोलने के लिए अधिकृत नहीं, दिल्ली की सीटों पर नहीं हुई चर्चा

आप की नाराजगी के बाद दिल्ली कॉन्ग्रेस के प्रभारी दीपक बाबरिया ने पार्टी प्रवक्ता अलका लांबा को उनकी औकात बताते हुए कहा है कि ऐसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर बयान देने के लिए वे अधिकृत नहीं हैं। साथ ही उन्हें अपरिपक्व भी बताया है।

दिल्ली में I.N.D.I.A. का झगड़ा अलका लांबा के बयान के बाद सार्वजनिक हो गया है। लांबा ने कहा था कि कॉन्ग्रेस दिल्ली की सभी 7 सीटों पर लोकसभा का चुनाव लड़ेगी। इसके बाद आम आदमी पार्टी (AAP) ने I.N.D.I.A. गठबंधन को समय की बर्बादी बता दिया। ​फिर डैमेज कंट्रोल की कोशिश करते हुए कॉन्ग्रेस ने कहा है कि ऐसे मुद्दों पर बयान देने के लिए अलका लांबा अधिकृत नहीं हैं।

दिल्ली कॉन्ग्रेस के प्रभारी दीपक बाबरिया ने अलका लांबा के बयान पर आप की प्रतिक्रिया को भी दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। साथ ही इस विवाद का ठीकरा मीडिया पर फोड़ दिया है। बाबरिया ने कहा, “मेरी तो समझ में नहीं आ रहा है कि आम आदमी पार्टी की समझ को लेकर मैं क्या कहूँ। अलका लांबा पार्टी की प्रवक्ता हैं। लेकिन इतने बड़े महत्वपूर्ण मुद्दों पर बोलने के लिए वह अधिकृत नहीं हैं। जिस पत्रकार ने इस मुद्दे पर सवाल किया उसकी सोच को लेकर भी मुझे शंका है।” उनसे पूछा गया था कि आप ने कहा है कि कॉन्ग्रेस दिल्ली में गठबंधन नहीं करती है तो I.N.D.I.A. की बैठक में जाने का कोई मतलब नहीं है।

बाबरिया ने न्यूज एजेंसी ANI से कहा, “जब मैंने कहा था कि ऐसी कोई चर्चा नहीं हुई है, तब इस प्रकार की बात करना। आम आदमी पार्टी को समझ आ जाना चाहिए कि पूरा का पूरा मीडिया भाजपा को मदद करना चाहता है, AAP को उकसाना चाहता है। वे उकसावे के बाद इस प्रकार की बात करते हैं। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। जिस बारे में कोई बात नहीं उसको लेकर काल्पनिक बात करते हैं। हमारी अपरिपक्व प्रवक्ता के बारे में बता रहे हैं। अलका लांबा ने तो मुझे बताया था कि उन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं कहा है। फिर भी किसी ने उनके मुँह में शब्द रख दिए। मीडिया यह सब भारतीय जनता पार्टी की मदद करने के लिए कह रहा है। आम आदमी पार्टी भी इस तरह की हरकत कर अपने आप को नुकसान पहुँचा रही है।”

दरअसल, अलका लांबा के बयान के बाद आप की प्रवक्ता प्रियंका कक्कड़ ने कहा था, “अगर वो दिल्ली में गठबंधन नहीं करते तो I.N.D.I.A. गठबंधन में जाने का कोई मतलब नहीं है। यह सिर्फ समय की बर्बादी है। हमारा शीर्ष नेतृत्व तय करेगा कि गठबंधन की अगली बैठक में जाना है या नहीं। गठबंधन के लिए कॉन्ग्रेस हमारे पास आई थी। दिल्ली में कॉन्ग्रेस का कोई अस्तित्व नहीं है।”

बता दें कि बुधवार (16 अगस्त, 2023) को पार्टी हाईकमान ने दिल्ली कॉन्ग्रेस के नेताओं के साथ बैठक की थी। इस बैठक के बाद अलका लांबा ने कहा था, ”तीन घंटे तक चली बैठक में राहुल गाँधी, मल्लिकार्जुन खड़गे, केसी वेणुगोपाल और दीपक बाबरिया मौजूद थे।हमें आगामी लोकसभा चुनाव के लिए तैयारी करने को कहा गया है। यह निर्णय लिया गया है कि हम सभी सात सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। 7 महीने बचे हैं और पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को सभी सात सीटों के लिए तैयारी करने को कहा गया है।”

कॉन्ग्रेस के इस बयान के बाद दिल्ली की AAP सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज का भी बयान आया था। उन्होंने कहा था कि पार्टी का शीर्ष नेतृत्व इस पर फैसला लेगा। पार्टी की राजनीतिक समिति  I.N.D.I.A. गठबंधन के साथ बैठक करेगी। इसके बाद इस पर चर्चा की जाएगी।

गौरतलब है कि केंद्र की सत्ताधारी पार्टी भाजपा के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने के लिए कॉन्ग्रेस, आम आदमी पार्टी, तृणमूल कॉन्ग्रेस, जदयू, राजद समेत कई विपक्षी पार्टियों ने I.N.D.I.A. गठबंधन तैयार किया है। हालाँकि गठबंधन में शामिल कुछ पार्टियों के अब तक के रुख को देखते हुए 2024 के आम चुनावों से पहले इसमें बिखराव के आसार अधिक नजर आ रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आकाश शर्मा 'नयन'
आकाश शर्मा 'नयन'
हिन्दू, हिन्दू भाई-भाई

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -