Saturday, July 13, 2024
HomeराजनीतिAAP में फूल कंफ्यूजन: केजरीवाल ने कहा- 'मैं बहुत खुश हूँ', छोटे नेता बता...

AAP में फूल कंफ्यूजन: केजरीवाल ने कहा- ‘मैं बहुत खुश हूँ’, छोटे नेता बता रहे BJP की साजिश

“मैं अपना नामांकन दाखिल करने के लिए इंतजार कर रहा हूँ। मेरा टोकन नंबर 45 है। मैं बहुत खुश हूँ कि लोकतंत्र के इस पर्व में काफी लोग हिस्सा ले रहे हैं।”

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के लिए मंगलवार (जनवरी 21, 2019) को नामांकन करने का अंतिम दिन है, इसलिए तेजी से नामांकन प्रक्रिया जारी है। नई दिल्ली विधानसभा सीट पर केजरीवाल के अलावा 35 से अधिक प्रत्याशी नामांकन कराने पहुँचे हैं। अपनी बारी के इंतजार में अरविंद केजरीवाल को टोकन नंबर 45 मिला है।

नामांकन में हो रही देरी के पीछे भी आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता सौरभ भारद्वाज ने भाजपा का हाथ बताया है। उन्होंने कहा कि 35 उम्मीदवार बिना पेपर के आरओ ऑफिस पहुँच गए हैं। उनके पास नामांकन के लिए उचित दस्‍तावेज नहीं हैं। वे जोर दे रहे हैं कि जब तक उनके कागजात पूर्ण और नामांकन दाखिल नहीं होते हैं, वे सीएम केजरीवाल को नामांकन दाखिल करने की अनुमति नहीं देंगे। भारद्वाज ने बताया कि इन सबके पीछे भाजपा का हाथ है।

वहीं नामांकन के लिए इंतजार कर रहे सीएम केजरीवाल ने खुशी जाहिर करते हुए कहा, “मैं अपना नामांकन दाखिल करने के लिए इंतजार कर रहा हूँ। मेरा टोकन नंबर 45 है। मैं बहुत खुश हूँ कि लोकतंत्र के इस पर्व में काफी लोग हिस्सा ले रहे हैं।” यानी कि अरविंद केजरीवाल को इससे कोई दिक्कत नहीं है, मगर उनके नेता को लगता है कि इसके पीछे भी बीजेपी का ही हाथ है।

उल्लेखनीय है कि सौरभ भारद्वाज ने इससे पहले भी बीजेपी के उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट को शेयर करते हुए ट्वीट किया था, “बीजेपी उम्मीदवारों की लिस्ट देखते हुए और सीएम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ उम्मीदवार को देखकर ऐसा लग रहा है कि बीजेपी ने पहले ही सरेंडर कर दिया है। 70/70” 

गौरतलब है कि दिल्ली में 8 फरवरी को मतदान होगा जबकि नतीजे 11 फरवरी को घोषित होंगे। इससे पहले 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 70 में से 67 सीटें हासिल की थीं।

बीवी को कुत्ते से कटवाने से लेकर साली के शोषण व कार्यकर्ता के बलात्कार तक: केजरीवाल के साथ दागियों की फौज

चुनाव से पहले AAP की छीछालेदर: फर्जी डिग्री वाले MLA का पत्ता कटा, अब बीवी लड़ेंगी चुनाव

सिर्फ ‘तीसरे कैंडिडेट’ की भूमिका में है दिल्ली चुनावों में कॉन्ग्रेस, BJP ही लगा सकती है केजरी के झाँसों में सेंध

अनुसूचित जातियों और गरीब बच्चों के साथ खिलवाड़: दिल्ली की ‘शिक्षा क्रांति’ का काला सच

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू कश्मीर के उप-राज्यपाल को अब दिल्ली के LG जितनी शक्तियाँ, ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए भी उनकी अनुमति ज़रूरी: मोदी सरकार के आदेश पर भड़के...

जब से जम्मू कश्मीर का पुनर्गठन हुआ है, तब से वहाँ चुनाव नहीं हो पाए हैं। मगर जब भी सरकार का गठन होगा तब सबसे अधिक शक्तियाँ राज्यपाल के पास होंगी। ये शक्तियाँ ऐसी ही हैं, जैसे दिल्ली के एलजी के पास होती है।

लालू यादव ने हाथ जोड़ अनिल अंबानी को किया प्रणाम, प्रियंका चतुर्वेदी ने एन्जॉय किया ‘यादगार क्षण’: अनंत अंबानी की शादी में I.N.D.I. नेताओं...

अखिलेश यादव अपनी बेटी और पत्नी डिंपल के साथ समारोह में मौजूद रहे। यहाँ तक कि कॉन्ग्रेस नेता सलमान ख़ुर्शीद भी अपने परिवार के साथ भोज खाने के लिए पहुँचे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -