Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीति'शराब का धंधा कॉन्ग्रेस सांसद का... मगर फंडिंग ओडिशा की BJD को' : भाजपा...

‘शराब का धंधा कॉन्ग्रेस सांसद का… मगर फंडिंग ओडिशा की BJD को’ : भाजपा ने लगाया आरोप; जेपी नड्डा बोले- जवाब तो देना होगा

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने कहा है, “झारखंड के कॉन्ग्रेस सांसद भले ही कंपनी के मालिक हैं। लेकिन ओडिशा में बीजेडी सरकार इसे मैनेज कर रही थी। जब कंपनी इतनी संपत्ति इकट्ठा कर रही थी तो विजिलेंस, क्राइम ब्रांच, एक्साइज, ईओडब्ल्यू क्या कर रही थी और राज्य सरकार को इसकी जानकारी कैसे नहीं थी?”

झारखंड में कॉन्ग्रेस सांसद धीरज साहू के अलग-अलग ठिकानों पर चल रही आईटी विभाग की तलाशी अभी जारी है। सबसे ज्यादा कैश ओडिशा से बरामद हुआ है। जो कैश से भरी अलमारी की फोटो आपने देखी वो भी बालांगीर में बलदेव साहु एंड सन्स लिमिटेड ऑफिस की है। इसके अलावा जो ज्यादा कैश मिला है वो भी संबलपुर, तितिलागढ़ जैसे क्षेत्रों से बरामद हुआ है।

ऐसे में सुंदरगढ़ से भाजपा की सासंद कुसुम तेते ने इस पूरे भ्रष्टाचार के मामले को राज्य की सत्ताधारी पार्टी बीजेडी से जोड़ा है और स्थानीय मीडिया ने भी आरोप लगाया है कि भले ही इस पूरे भ्रष्टाचार को करने वाले कॉन्ग्रेस सांसद हैं लेकिन इसका फायदा बीजू जनता दल को हो रहा है।

धीरज साहू और BJD कनेक्शन

एक ओर जहाँ खबरें आ रही हैं कि अब तक आईटी रेड में मिला पैसा 400 करोड़ रुपए और 60 किलो सोना तक पहुँच गया है। वहीं भाजपा की कुसुम तेते ने कहा कि उन्होंने धीरज साहू का शराब कारोबार, जो ओडिशा में फैला हुआ है, उसका कनेक्शन ओडिशा की बीजू जनता दल से है।

उन्होंने कहा कि उन्होंने विधानसभा में कई बार मुद्दे को उठाया था लेकिन कभी किसी ने ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि बीजेडी के पूर्व विधायक जोगेश सिंह के धीरज साहू के कारोबार से कनेक्शन है। उनके मुताबिक ओडिशा की ये शराब मैनुफैक्चरिंग यूनिट पहले सिंह की माँ के नाम पर थीं। इस संबंध में उन्होंने कई बार बताया भी मगर कार्रवाई नहीं हुई।

भाजपा ने उठाए सवाल

इसके बाद भाजपा ने भी इस संबंध में भुवनेश्वर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की और प्रदेश प्रवक्ता लेखाश्री सामंतीसिंगार ने बीजेडी के कुछ नेताओं और मंत्रियों का नाम लेकर कहा कि भले ही कंपनी धीरज साहू की है, लेकिन उसे मैनेज बीजेडी द्वारा किया जाता है।

उन्होंने कहा, “झारखंड के कॉन्ग्रेस सांसद भले ही कंपनी के मालिक हैं। लेकिन ओडिशा में बीजेडी सरकार इसे मैनेज कर रही थी। जब कंपनी इतनी संपत्ति इकट्ठा कर रही थी तो विजिलेंस, क्राइम ब्रांच, एक्साइज, ईओडब्ल्यू क्या कर रही थी और राज्य सरकार को इसकी जानकारी कैसे नहीं थी? यह शराब का कारोबार चुनाव के दौरान बीजेडी के लिए पैसे का स्रोत है।”

स्थानीय चैनलों पर भी ऐसी खबरें चलाकर दावा किया जा रहा है कि ये शराब का धंधा राज्य में पॉलिटिकल फंडिंग का प्रमुख स्त्रोत था। कुछ लोगों ने आरोप लगाया है कि ओडिशा सरकार ने पिछले 25 वर्षों में शराब की दुकानों के लिए नए टेंडर जारी नहीं किए हैं। कुछ चुनिंदा व्यापारी हर साल लाइसेंस का नवीनीकरण कराते रहे हैं। आरोप लगाए गए हैं कि नवीन पटनायक सरकार की शराब नीति देशी शराब के निर्माताओं को फायदा पहुँचाने के लिए बनाई गई है, क्योंकि इन व्यवसायों के पैसे से सत्ताधारी पार्टी को फंड मिलता है।

जिन बीजेडी नेताओं का नाम साहू परिवार से जुड़ा बताया जा रहा है उसमें तितिलागढ़ से मंत्री तुकुनी साहू, सोनपुर से निरंजन पुजारी, नौपाड़ा से राजेंद्र ढोकिया और बौद्ध से प्रदीप अमात का नाम आ रहा है.. ऐसा कहा जा रहा है शराब के धंधे से इन लोगों को भी फायदा था।

जेपी नड्डा ने धीरज साहू से कहा- जवाब तो देना होगा

भारतीय जनता पार्टी ने जहाँ राज्य स्तर पर प्रदर्शन शुरू करके बीजेडी नेताओं से जवाब माँगना शुरू कर दिया है। वहीं राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी खुलेआम मोर्चा खोल दिया है।

नड्डा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर कहा, “बंधु जवाब तो देना पड़ेगा, तुमको भी और तुम्हारे नेता राहुल गाँधी को भी। ये नया भारत है, यहाँ पर राजपरिवार के नाम पर जनता का शोषण नहीं करने दिया जाएगा। भागते-भागते थक जाओगे, लेकिन कानून पीछा नहीं छोड़ेगा। अगर कॉन्ग्रेस भ्रष्टाचार की गारंटी है तो मोदी जी भ्रष्टाचार पर कार्यवाही की गारंटी हैं, जनता की लूटी हुई पाई- पाई लौटानी पड़ेगी।”

इसी तरह पीएम मोदी ने नोटो की गड्डियों की फोटो देख कहा था– देशवासी इन नोटों के ढेर को देखें और फिर इनके नेताओं को ईमानदारी के भाषणों को सुनें। पीएम ने लिखा था- जनता से लूटा है उसकी पाई-पाई लौटानी पड़ेगी, यह मोदी की गारंटी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -