Friday, June 25, 2021
Home राजनीति मतदान न कर पाने वाले दिग्विजय सिंह को BJP ने बताया Nervous, साध्वी ने...

मतदान न कर पाने वाले दिग्विजय सिंह को BJP ने बताया Nervous, साध्वी ने कहा ‘धर्मयुद्ध है यह’

दिग्विजय ने भाजपा के हिंदुत्व की काट के लिए कम्प्यूटर बाबा को प्रचार के लिए बुलाया था और कई साधु-संतों के साथ भगवा कपड़ों में रोड शो भी किया था। दिग्विजय के लिए साधु-संतों ने...

चुनाव प्रचार के लिए कई दिनों से भोपाल में डेरा जमाए दिग्विजय सिंह छठे चरण के दौरान मतदान करने में असफल रहे। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री भोपाल में ख़ुद को इसीलिए वोट नहीं दे सके, क्योंकि वह भोपाल लोकसभा क्षेत्र के मतदाता नहीं हैं। मतदाता सूची में दिग्विजय सिंह का नाम मध्य प्रदेश के राजगढ़ लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले उनके पैतृक कस्बे राघौगढ़ में पंजीकृत है। इसकी वजह से वो भोपाल में स्वयं को वोट नहीं दे पाए। दिग्विजय के पैतृक क्षेत्र में भी आज छठे चरण के तहत मतदान हुआ, लेकिन भोपाल से लगभग 150 किलोमीटर दूर अपने गाँव में दिग्विजय वोट डालने के लिए नहीं गए। सोशल मीडिया पर लोगों ने इस पर गुस्सा ज़ाहिर करते हुए पूछा कि सबको वोट देने की अपील करने वाले कुछ नेता ख़ुद मतदान क्यों नहीं करते?

वहीं दूसरी तरफ़ भोपाल लोकसभा क्षेत्र से भाजपा की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने मतदान में हिस्सा लिया। साध्वी प्रज्ञा ने आज रविवार (मई 12, 2019) को सुबह भोपाल के रेवेरा टाउन मतदान केन्द्र पर अपना वोट डाला। मतदान करने के बाद साध्वी प्रज्ञा ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि यह धर्म युद्ध है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में भाजपा को पहले से भी ज्यादा सीटें मिलेंगी और नरेन्द्र मोदी फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे। साध्वी प्रज्ञा वर्ष 2008 में हुए मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपित हैं और फिलहाल जमानत पर हैं। साध्वी प्रज्ञा ने कॉन्ग्रेस सरकार द्वारा ख़ुद को फँसाने और गिरफ़्तारी के बाद उनका टॉर्चर किए जाने को चुनाव में मुद्दा बनाया था।

साध्वी प्रज्ञा ने इस चुनाव को धर्मयुद्ध इसीलिए बताया क्योंकि उन्होंने जनता के बीच जाकर लगातार यह बताया कि दिग्विजय सिंह ‘हिन्दू आतंकवाद’ वाली थ्योरी गढ़ने वालों में प्रमुख नेता थे और साध्वी प्रज्ञा इस नैरेटिव की शिकार बनीं। साध्वी प्रज्ञा द्वारा इन बातों को छेड़ने के बाद भोपाल सहित पूरे देश में उन्हें जनता की सहानुभूति मिली। 1993 से 2003 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे कॉन्ग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह के ख़िलाफ़ उन्हें उतारना भाजपा की हिंदुत्ववादी नीतियों को आगे बढ़ाने में भी सहायक सिद्ध होगा। दिग्विजय सिंह ने वोट न डालने वाले सवाल पर कहा कि उन्हें इसका अफ़सोस है।

वहीं भाजपा खेमे का कहना है कि दिग्विजय बेचैनी और अधीरता के कारण वोट डालने नहीं जा सके। दिग्विजय लगातार भोपाल में कैम्प करते रहे क्योंकि मुख्यमंत्री कमल नाथ ने उन्हें राज्य के सबसे कठिन सीट से लड़ कर जीतने की चुनौती दी थी, ऐसा भाजपा का मानना है। दिग्विजय ने भाजपा के हिंदुत्व की काट के लिए कम्प्यूटर बाबा को प्रचार के लिए बुलाया था और कई साधु-संतों के साथ भगवा कपड़ों में रोड शो भी किया था। दिग्विजय के लिए साधु-संतों ने भोपाल कॉन्ग्रेस के दफ़्तर में हवन किया।

मध्य प्रदेश की आठ लोकसभा सीटों के लिए आज मतदान संपन्न हुआ। शाम 4 बजे तक मध्य प्रदेश में लगभग 53% मतदान हुआ था। पिछली बार भाजपा ने यहाँ अच्छा प्रदर्शन किया था लेकिन विधानसभा चुनाव हारने के बाद पार्टी ने अपनी तैयारियों को एक नया स्वरूप दिया। इसी क्रम में साध्वी प्रज्ञा को पार्टी की सदस्यता दिलाकर भोपाल से उतारा गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम प्रोफेसर के संपर्क में आकर MBA पास ऋचा बनी माहीन अली, लौटकर घर नहीं आई: सैलरी से मस्जिद को देती है ₹75000

इस्लाम अपनाने वाली ऋचा अब ट्रेनर बन गई है। अब वह खुद छात्राओं और महिलाओं को धर्मांतरण के लिए प्रेरित कर रही है।

3 महीने-10 बार मालिक, अनिल देशमुख को दिए ₹4 करोड़: रिपोर्ट्स में दावा, ED ने नागपुर-मुंबई के ठिकानों पर मारे छापे

ईडी सूत्रों के हवाले से कहा गया मुंबई के 10 बार मालिकों ने तीन महीने के भीतर अनिल देशमुख को 4 करोड़ रुपए दिए थे।

‘कुरान को UP पुलिस ने नाले में फेंका’ – TheWire ने चलाई फर्जी खबर, बाराबंकी मस्जिद विध्वंस मामले में FIR दर्ज

UP पुलिस ने बाराबंकी अवैध मस्जिद के संबंध में एक वीडियो डॉक्यूमेंट्री के माध्यम से गलत सूचना का प्रचार करने को लेकर द वायर के खिलाफ...

मोगा हत्याकांड: RSS के 25 स्वयंसेवकों ने बलिदान देकर खालिस्तानी आतंकियों की तोड़ी थी ‘कमर’

25 जून की सुबह मोगा में RSS की शाखा, सामने खालिस्तानी आतंकी... बावजूद कोई भागा नहीं। ध्वज उतारने से इनकार करने पर गोलियाँ खाईं लेकिन...

दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन जरूरत को 4 गुना बढ़ा कर दिखाया… 12 राज्यों में इसके कारण संकट: सुप्रीम कोर्ट पैनल

सुप्रीम कोर्ट की ऑक्सीजन ऑडिट टीम ने दिल्ली के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता को चार गुना से अधिक बढ़ाने के लिए केजरीवाल सरकार को...

‘अपनी मर्जी से मंतोष सहनी के साथ गई, कोई जबरदस्ती नहीं’ – फजीलत खातून ने मधुबनी अपहरण मामले पर लगाया विराम

मधुबनी जिले के बिस्फी की फजीलत खातून के कथित अपहरण मामले में नया मोड़। फजीलत खातून ने खुद ही सामने आकर बताया कि वो मंतोष सहनी के साथ...

प्रचलित ख़बरें

‘सत्यनारायण और भागवत कथा फालतू, हिजड़ों की तरह बजाते हैं ताली’: AAP नेता का वीडियो वायरल

AAP की गुजरात इकाई के नेता गोपाल इटालिया का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वे हिन्दू परंपराओं का अपमान करते दिख रहे हैं।

फतेहपुर के अंग्रेजी मीडियम स्कूल में हिंदू बच्चे पढ़ते थे नमाज: महिला टीचर ने खोली मौलाना उमर गौतम के धर्मांतरण गैंग की पोल

फतेहपुर के नूरुल हुदा इंग्लिश मीडियम स्कूल में मौलाना उमर के गिरोह की सक्रियता का खुलासा वहाँ की ही एक महिला टीचर ने किया है।

‘अपनी मर्जी से मंतोष सहनी के साथ गई, कोई जबरदस्ती नहीं’ – फजीलत खातून ने मधुबनी अपहरण मामले पर लगाया विराम

मधुबनी जिले के बिस्फी की फजीलत खातून के कथित अपहरण मामले में नया मोड़। फजीलत खातून ने खुद ही सामने आकर बताया कि वो मंतोष सहनी के साथ...

TMC के गुंडों ने किया गैंगरेप, कहा- तेरी काली माँ न*गी है, तुझे भी न*गा करेंगे, चाकू से स्तन पर हमला: पीड़ित महिलाओं की...

"उस्मान ने मेरा रेप किया। मैं उससे दया की भीख माँगती रही कि मैं तुम्हारी माँ जैसी हूँ मेरे साथ ऐसा मत करो, लेकिन मेरी चीख-पुकार उसके बहरे कानों तक नहीं पहुँची। वह मेरा बलात्कार करता रहा। उस दिन एक मुस्लिम गुंडे ने एक हिंदू महिला का सम्मान लूट लिया।"

‘हरा$ज*, हरा%$, चू$%’: ‘कुत्ते’ के प्रेम में मेनका गाँधी ने पशु चिकित्सक को दी गालियाँ, ऑडियो वायरल

गाँधी ने कहा, “तुम्हारा बाप क्या करता है? कोई माली है चौकीदार है क्या हैं?” डॉक्टर बताते भी हैं कि उनके पिता एक टीचर हैं। इस पर वो पूछती हैं कि तुम इस धंधे में क्यों आए पैसे कमाने के लिए।

‘हर चोर का मोदी सरनेम क्यों’: सूरत की कोर्ट में पेश हुए राहुल गाँधी, कहा- कटाक्ष किया था, अब याद नहीं

कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी सूरत की एक अदालत में पेश हुए। मामला 'सारे मोदी चोर' वाले बयान पर दर्ज आपराधिक मानहानि के मामले से जुड़ा है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
105,818FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe