Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीतिसिखों के जख्म पर नमक छिड़क राजीव गॉंधी को अधीर रंजन चौधरी ने दी...

सिखों के जख्म पर नमक छिड़क राजीव गॉंधी को अधीर रंजन चौधरी ने दी श्रद्धांजलि, कॉन्ग्रेस नेता ने लिखा- जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है…

राजीव गाँधी ने अपनी माँ और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी की हत्या के बाद हुए सिख नरसंहार को जायज ठहराने के लिए ये टिप्पणी की थी।

लोकसभा में कॉन्ग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने राजीव गाँधी की की बरसी पर श्रद्धांजलि देते हुए विवादित ट्वीट कर के फिर उसे डिलीट कर दिया। दरअसल, अधीर रंजन चौधरी ने जो ट्वीट किया, उसमें राजीव गाँधी का ये विवादित बयान लिखा हुआ था, “जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है।” राजीव गाँधी ने अपनी माँ और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी की हत्या के बाद हुए सिख नरसंहार को जायज ठहराने के लिए ये टिप्पणी की थी।

अधीर रंजन चौधरी ने लिखा कि वो राजीव गाँधी को उनकी पुण्यतिथि पर याद कर रहे हैं। हालाँकि, विवाद होने के बाद उन्होंने अपना ये ट्वीट डिलीट कर लिया और सफाई देते हुए लिखा, “मेरे ट्विटर हैंडल के साथ जो ट्वीट वायरल हो रहा है, उसका मेरे विचारों से कोई लेनादेना नहीं है। मेरी विरोधी ताकतों द्वारा मेरे खिलाफ दुर्भावनापूर्ण अभियान चलाया जा रहा है।” इस पर लोगों ने पूछा कि अगर ट्वीट में कुछ भी गलत नहीं था, तो उन्होंने उसे डिलीट क्यों किया?

इस ट्वीट को डिलीट करने के बाद अधीर रंजन चौधरी ने दोबारा राजीव गाँधी को उनकी बरसी पर श्रद्धांजलि देने के लिए ट्वीट किया और उसमें उनका दूसरा उद्धरण लगाया, जिसमें उन्होंने जनता के विकास में मानवीय पहलू पर जोर देने की बात की थी। लोग उनके पुराने ट्वीट को सिखों का अपमान भी बता रहे हैं। सिख नरसंहार को जायज ठहराने के आरोप उन पर लग रहे हैं। लोगों ने कहा कि अब कहीं अधीर रंजन चौधरी अकाउंट हैक होने वाली थ्योरी (बहाना) लेकर न आ जाएँ।

याद हो कि पिछले ही महीने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी पूर्व पीएम राजीव गाँधी के इस कुख्यात भाषण का उल्लेख किया था, जिसमें उन्होंने सिखों को नरसंहार को सही ठहराया था। बता दें कि आज भी सज्जन कुमार इस मामले में जेल में हैं, जो कॉन्ग्रेस के बड़े नेता थे। दिल्ली कॉन्ग्रेस में सक्रिय जगदीश टाइटलर हों या मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे कमलनाथ, इन ऐसे कई कॉन्ग्रेस नेताओं पर नरसंहार में शामिल होने के आरोप लगे।

इस पूरे घटनाक्रम के बाद अधीर रंजन चौधरी ने बयान जारी कर के कहा है कि उनका ट्विटर हैंडल हैक हो गया था। उन्होंने कहा कि उनके ट्विटर अकाउंट से एक विवेकहीन, पक्षपाती और बुरे नीयत से एक कंटेंट शेयर कर दिया गया। उन्होंने कहा कि तब वो पार्टी के एक कार्यक्रम के दौरान मंच पर व्यस्त थे और उनके फोन उनके पास नहीं था। उन्होंने अपना ट्विटर हैंडल हैक होने का आरोप भी लगाया। उन्होंने साइबर पुलिस से कार्रवाई की भी माँग की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली पुलिस को पाइपलाइन की रखवाली के लिए लगाना चाहती है AAP सरकार, कमिश्नर को आतिशी ने लिखा पत्र: घोटाले का आरोप लगा BJP...

बीजेपी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने जब से दिल्ली जल बोर्ड की कमान संभाली, उसके एक साल में जमकर धाँधली हुई और दिल्ली जल बोर्ड को बर्बाद कर दिया गया।

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -