Monday, July 26, 2021
Homeराजनीतिचुनाव आयोग ने कहा साध्वी लड़ेंगी चुनाव, अभी कोई दोष साबित नहीं हुआ

चुनाव आयोग ने कहा साध्वी लड़ेंगी चुनाव, अभी कोई दोष साबित नहीं हुआ

तहसीन पूनावाला ने साध्वी प्रज्ञा की उम्मीदवारी पर रोक लगाने को लेकर चुनाव आयोग से कहा था कि किसी भी ऐसे प्रत्याशी को चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं मिलनी चाहिए, जिसके तार आतंक से जुड़े हों।

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को भोपाल सीट से भाजपा ने अपना प्रत्याशी बनाया है। इस ऐलान के बाद से ही साध्वी प्रज्ञा को चुनाव लड़ने से रोकने की कवायद शुरू हो गई है। बता दें कि साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ तहसीन पूनावाला ने चुनाव आयोग से शिकायत करते हुए साध्वी प्रज्ञा की उम्मीदवारी पर रोक लगाने की सिफारिश की थी।

चुनाव आयोग ने साध्वी प्रज्ञा की उम्मीदवारी पर रोक लगाने से साफ तौर पर इनकार कर दिया है। चुनाव आयोग का कहना है कि अभी तक साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ कोई भी दोष साबित नहीं हुआ है और जब तक आरोप साबित नहीं हो जाता, चुनाव लड़ने पर रोक नहीं लगाई जा सकती। चुनाव आयोग ने कहा कि दोष साबित हो जाने पर चुनाव न लड़ने का प्रवाधान है। आरोपी होने पर चुनाव लड़ने से किसी की उम्मीदवारी पर रोक नहीं लगाई जा सकती।

तहसीन पूनावाला ने साध्वी प्रज्ञा की उम्मीदवारी पर रोक लगाने को लेकर चुनाव आयोग से कहा था कि किसी भी ऐसे प्रत्याशी को चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं मिलनी चाहिए, जिसके तार आतंक से जुड़े हों। पूनावाला ने कहा कि महाराष्ट्र आतंकवाद रोधी स्क्वाड ने साध्वी को 2008 के मालेगांव बम विस्फोट मामले में ‘मुख्य साजिशकर्ता’ के रूप में आरोपित किया था। इस विस्फोट में छह लोग मारे गए थे और 101 लोग घायल हुए थे।

तहसीन पूनावाला ने इसको लेकर एक ट्वीट भी किया था। इसमें पूनावाला ने कहा था कि उन्होंने चुनाव आयोग को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को लोकसभा चुनाव 2019 लड़ने से रोका जाए, क्योंकि उन पर आतंकवाद से जुड़े होने के आरोप हैं। हार्दिक पटेल को भी दंगे फैलाने के आरोप में चुनाव आयोग ने चुनाव लड़ने से रोका है। साथ ही उन्होंने कहा कि वो किसी राजनीतिक पार्टी के सदस्य नहीं हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,200FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe