Monday, September 27, 2021
Homeराजनीतिविवादित वीडियो ट्वीट करने पर बुरे फँसे केजरीवाल, चुनाव आयोग ने जारी थमाई...

विवादित वीडियो ट्वीट करने पर बुरे फँसे केजरीवाल, चुनाव आयोग ने जारी थमाई नोटिस, कल शाम तक देना है जवाब

चुनाव आयोग ने अपनी नोटिस में कहा है कि केजरीवाल पर प्रथम दृष्टया मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट तथा जन प्रतिनिधित्व कानून के उल्लंघन का मामला बनता है। चुनाव आयोग ने केजरीवाल को भेजी अपनी नोटिस में लिखा है, "यह वीडियो सांप्रदायिक तथा समाजिक मनमुटावों को मौजूदा स्तर से और ज्यादा बढ़ाने की क्षमता रखता है।"

दिल्ली चुनाव प्रचार के दौरान एक विवादित वीडियो ट्वीट करने के कारण चुनाव आयोग ने केजरीवाल को नोटिस भेजी है। यह विवादित वीडियो केजरीवाल ने 3 फरवरी को ट्वीट किया था।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चुनाव आयोग ने यह कदम भाजपा की शिकायत पर उठाया है। भाजपा ने अपनी शिकायत में केजरीवाल पर वोटों के लिए साम्प्रदायिक घृणा फैलाने का आरोप लगाते हुए इसे मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन बताया था।

चुनाव आयोग ने अपनी नोटिस में कहा है कि केजरीवाल पर प्रथम दृष्टया मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट तथा जन प्रतिनिधित्व कानून के उल्लंघन का मामला बनता है। चुनाव आयोग ने केजरीवाल को भेजी अपनी नोटिस में लिखा है कि उपरोक्त ट्वीटेड वीडियो के संदर्भ में वह मानता है कि, “यह वीडियो सांप्रदायिक तथा समाजिक मनमुटावों को मौजूदा स्तर से और ज्यादा बढ़ाने की क्षमता रखता है।”

चुनाव आयोग द्वारा केजरीवाल को भेजा गया नोटिस

नोटिस के मुताबिक, केजरीवाल वीडियो में यह कहते हुए सुनाई देते हैं, “दिल्ली के इस चुनाव में कुछ पार्टियाँ चाहती हैं- भाइयो बहनों मित्रों में हिंदू मुस्लिम, हिंदू मुस्लिम…. मीडिया भी चाहती है मुस्लिम, हिंदू मुस्लिम…. केजरीवाल कहते हैं- दिल्ली के हर बच्चे को जो दिल्ली में पैदा हुआ  है उसे ग्रेजुएशन तक अच्छी शिक्षा की गारंटी मेरी है।”

चुनाव आयोग ने केजरीवाल को अपनी नोटिस का जवाब 8 फरवरी की शाम 5 बजे तक देने का निर्देश दिया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

‘टोटी चोर’ के बाद मार्केट में AC ‘चोर’, कन्हैया ‘क्रांति’ कुमार का कॉन्ग्रेसी अवतार

एक 'आंगनबाड़ी सेविका' का बेटा वातानुकूलित सुख ले! इससे अच्छे दिन क्या हो सकते हैं भला। लेकिन सुख लेने के चक्कर में कन्हैया कुमार ने AC ही उखाड़ लिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,789FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe