Monday, January 25, 2021
Home राजनीति ये हिन्दू 'बनने' का मौसम आ गया है, हिन्दू-विरोध पर आधारित था नेहरूवादी सेक्युलरिज्म:...

ये हिन्दू ‘बनने’ का मौसम आ गया है, हिन्दू-विरोध पर आधारित था नेहरूवादी सेक्युलरिज्म: जेटली

जेटली ने भारत में मुख्यधारा के सेक्युलरिज्म को हिन्दू धर्म/हिंदुत्व के विरोध पर आधारित बताते हुए लिखा कि इसके जनक नेहरू का मानना था कि हिंदुत्व पिछड़ा, कट्टरपंथी और दकियानूसी/अन्धाकरवादी है। वह इसे वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने में रुकावट मानते थे।

केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने विपक्षी पार्टियों में स्वयं को हिन्दू दिखाने के लिए लगी होड़ पर कटाक्ष करते हुए अपने फेसबुक ब्लॉग पर लिखा कि अब तो सबके हिन्दू ‘बनने’ का मौसम आ गया है। उन्होंने कल शाम लिखी इस पोस्ट में नेहरूवादी सेक्युलरिज्म, उसमें छिपे हिन्दू धर्म के लिए तिरस्कार को भी रेखांकित किया। जेटली ने उन दिनों को भी याद किया जब “गर्व से कहो हम हिन्दू हैं” के नारे वाले स्टीकरों को विश्व हिन्दू परिषद ने प्रारंभ किया था, और भाजपा समेत चुनिन्दा संगठनों ने उसे उठाया और उसके लिए समाज की मुख्यधारा से तिरष्कृत भी हुए।

‘हिन्दू धर्म को पिछड़ा मानने पर आधारित है नेहरूवादी सेक्युलरिज्म’

जेटली ने भारत में मुख्यधारा के (छद्म) सेक्युलरिज्म को हिन्दू धर्म/हिंदुत्व के विरोध पर आधारित बताते हुए लिखा कि इसके जनक  नेहरू का मानना था कि हिंदुत्व पिछड़ा, कट्टरपंथी और दकियानूसी/अन्धाकरवादी है। वह इसे वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने में रुकावट मानते थे।

जेटली ने इस सैद्धांतिक हिन्दूफोबिया पर आधारित सेक्युलरिज्म के निर्वाचन में प्रतिबिंबित होने की प्रक्रिया का भी सूक्ष्मता से निरीक्षण किया। बकौल जेटली, बहुपक्षीय निर्वाचन वाली राजनीतिक प्रणाली का फायदा उठाते हुए कॉन्ग्रेस समेत कई दलों ने हिन्दू समाज को खंडित कर समुदाय विशेष और एक किसी जाति को अपना वोट बैंक बना कर रखा। समुदाय विशेष को डराने और उनका ध्रुवीकरण करने के लिए हिन्दू एकता के खिलाफ एक हौव्वा खड़ा करने की कोशिश की

उन्होंने इस ओर भी ध्यान आकर्षित किया कि इस गोलबंदी को तोड़ने वाली पहली आवाज 1980 और 1990 के दशक में श्री लालकृष्ण आडवाणी की थी। उन्होंने यह साफ़ कर दिया कि हालाँकि मज़हबी या पंथिक आग्रह भारत के राष्ट्र-राज्य का आधार नहीं हो सकते, पर सेक्युलरिज्म के नाम पर हिन्दुओं को निशाने पर भी नहीं लिया जा सकता है। उनकी आधुनिक भाषा ने एक बड़ी आबादी को आकर्षित करना शुरू किया (जोकि पहले संघ परिवार-भाजपा/जनसंघ को बूढ़े/दकियानूसी लोगों का गुट मानती थी)। बहुसंख्यक समुदाय हालाँकि अभी भी सहिष्णु और उदार था पर आडवाणी के आह्वाहन पर अनवरत क्षमायाचना की मुद्रा से बाहर आने लगा था। उन्होंने यह भी रेखांकित किया कि कैसे राजीव गाँधी का शाहबानो मामले में कथित अल्पसंख्यकों के तुष्टिकरण के लिए हर हद पार कर देना और मनमोहन सिंह का ‘अल्पसंख्यकों’ को देश के संसाधनों का पहला हकदार बताना कॉन्ग्रेस द्वारा हिन्दुओं में जागृत हो रही इस चेतना को नज़रंदाज़ करने को ही दिखाता है।

‘मध्य वर्ग की आकंक्षाओं में भी है हिंदुत्व’

जेटली ने हिंदुस्तान की बदलती हुई सामाजिक-आर्थिक स्थिति का ज़िक्र करते हुए इसे मध्यम वर्ग को एकत्रित और विस्तृत करने वाला बताया। उन्होंने इसे आकांक्षी, बिना कट्टरपंथी आग्रहों के धार्मिक और राष्ट्रीय सुरक्षा में दिलचस्पी लेने वाला बताया। वह सेक्युलरिज्म की परिभाषा में बहुसंख्यकों पर दुराग्रही हमला स्वीकार नहीं करेगा। उनकी राय 370, आतंकवाद जैसे मुद्दों पर बहुत स्पष्ट और पुख्ता है। उन्होंने सबरीमाला और राम मंदिर के मुद्दों पर मध्यम वर्ग की क्रुद्ध प्रतिक्रिया का उदाहरण देते हुए कहा कि इससे आजतक हिन्दुओं को गलियाँ दे-देकर ही अपनी दुकानें चलाने वालों की ‘प्रतिक्रिया’ को लेकर चिंतित कर दिया है।

‘राहुल गाँधी: जेएनयू वालों की तरफदारी से जनेऊ-धारी तक का सफ़र’

कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी का उदाहरण देते हुए जेटली ने कटाक्ष किया कि 2004, 2009, 2014 के चुनावों में अपना पंथिक आग्रह छिपा कर बैठे राहुल गाँधी कैसे अचानक से “जनेऊ-धारी ब्राह्मण” बन बैठे, और मंदिरों के चुनावी चक्कर लगाने प्रारंभ कर दिए।

उन्हें घेरते हुए जेटली ने पूछा कि उनका महबूबा मुफ़्ती-उमर अब्दुल्ला के अप्रत्यक्ष अलगावादी सुरों पर क्या रुख है? अयोध्या और सबरीमाला के मुद्दे पर उनकी राय स्पष्ट करने की चुनौती जेटली ने राहुल गाँधी को दी। उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा पर भी लपेटते हुए जेटली ने लिखा कि राहुल गाँधी अफस्पा हटाना और सेना की ताकत को कमजोर करना चाहते हैं। जेटली ने यह भी याद दिलाया कि राहुल गाँधी ने जेएनयू काण्ड के अभियुक्तों के समर्थन में विश्वविद्यालय का दौरा किया था और आजतक अपने वहाँ जाने को लेकर कोई स्पष्टीकरण जारी नहीं किया है।

‘दिग्विजय सिंह: हिन्दू आतंकवाद के पेटेंट-धारी बने गर्वित हिन्दू’

कॉन्ग्रेस के ही दूसरे नेता दिग्विजय सिंह, जिन्हें राहुल गाँधी का पहला राजनीतिक शिक्षक माना जाता है, को भी जेटली ने नहीं बख्शा। जेटली के बाटला हाउस मुठभेड़ को फर्जी बताने वाले बयान और आजमगढ़ जाकर मारे गए आतकंवादियों के परिजनों से मिलने को याद दिलाते हुए जेटली ने कटाक्ष किया कि ‘हिन्दू आतंकवाद’ सिद्धांत का दिग्विजय सिंह के पास पेटेंट है, क्योंकि इसका पहला उपयोग उन्होंने ही किया था। जेटली ने आगे लिखा कि आज राजनीतिक मजबूरियों के चलते दिग्विजय ‘गर्वित हिन्दू’ हो गए हैं।

आम आदमी पार्टी

अरविन्द केजरीवाल की ‘आप’ पर प्रहार करते हुए जेएनयू मामले में उनकी भूमिका भी याद दिलाई। उन्होंने याद दिलाया कि कैसे न केवल देश-विरोधी नारे लगाने वालों का नैतिक और राजनीतिक समर्थन किया गया, बल्कि आम आदमी पार्टी के नियंत्रण वाले दिल्ली सचिवालय ने दिल्ली पुलिस को आरोपियों पर मुकदमा चलाने की अनुमति देने वाली फाइल दबा कर रखी। जेटली ने आरोप लगाया कि आप का दिल जिहादियों को दिया हुआ है।

उन्होंने आप की पूर्वी दिल्ली प्रत्याशी आतिशी ( सिंह/मार्लेना) का भी जिक्र करते हुए उनके जीवन-भर अपनी मार्क्सवादी-वामपंथी पृष्ठभूमि को उभारने और अब चुनाव के लिए ‘क्षत्राणी/राजपूतानी’ बन जाने को दोहरे मानदंडों का चरम बताया।

‘नव-परिवर्तितों के लिए बड़ी सुविधा का मौसम हैं निर्वाचन’

हिंदुस्तान की अधिकांश आबादी को राष्ट्रभक्त और इससे इत्तेफाक न रखने वालों को हाशिए पर पड़े अपवाद बताते हुए जेटली ने इस बात कर अफ़सोस जाहिर किया कि हाशिए पर पड़े इन अपवादों को मीडिया और सोशल मीडिया उनकी वस्तुस्थिति से कहीं अधिक तवज्जो दे उनके शोर को विस्तार दे रहा है। उन्होंने यह भी जोड़ा कि ऐसे लोग मीडिया और सोशल मीडिया पर चाहे जितनी हाइप पा लें, निर्वाचन में जनता उन्हें नकार देगी- यही लोकतंत्र की ताकत है। अंतिम वाक्य में उन्होंने निर्वाचन-काल को नए-नए ‘परिवर्तित’ हुए लोगों के परिवर्तन के लिए सबसे अनुकूल मौसम बताया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आर्थिक सुधारों के पूरक हैं नए कृषि कानून: राष्ट्रपति के संदेश में किसान, जवान और आत्मनिर्भर भारत पर फोकस

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सोमवार (जनवरी 25, 2021) को 72वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शाम 7 बजे राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं।

ऐसे लोगों को छोड़ा नहीं जाना चाहिए: मुनव्वर फारूकी पर जस्टिस रोहित आर्य, कुंडली निकालने में जुटा लिब्रांडु गिरोह

हिन्दू देवी-देवताओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने वाले मुनव्वर फारूकी की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति रोहित आर्य ने कहा कि ऐसे लोगों को बख्शा नहीं जाना चाहिए।

15 साल छोटी हिन्दू से निकाह कर परवीन बनाया, अब ‘लव जिहाद’ विरोधी कानून को ‘तमाशा’ बता रहे नसीरुद्दीन शाह

नसरुद्दीन शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' को लेकर तमाशा चल रहा है। कहा कि लोगों को 'जिहाद' का सही अर्थ ही नहीं पता है।

इंडियन आर्मी ने कश्मीर ही नहीं बचाया, खुद भी बची: सेना को खत्म करना चाहते थे नेहरू

आज शायद यकीन नहीं हो, लेकिन मेजर जनरल डीके पालित ने अपनी किताब में बताया है कि नेहरू सेना को भंग करने के पक्ष में थे।

राम मंदिर के लिए ₹20 का दान (मृत बेटे के नाम से भी) – गरीब महिला की भावना अमीरों से ज्यादा – वायरल हुआ...

दान की मात्रा अहम नहीं बल्कि दान की भावना देखी जाती है। इस वीडियो से एक बात साफ है कि 80 वर्षीय वृद्ध महिला की भगवान राम के प्रति आस्था...

राम मंदिर के लिए दे रहे हैं दान तो इन 13 फ्रॉड UPI IDs को ध्यान से देख लीजिए, कहीं और न चला जाए...

राम मंदिर के आधिकारिक विवरण से मिलती-जुलती कई फ्रॉड UPI IDs बना ली गई हैं, जिसके माध्यम से श्रद्धालुओं को ठगने की कोशिश हो रही है।

प्रचलित ख़बरें

12 साल की लड़की का स्तन दबाया, महिला जज ने कहा – ‘नहीं है यौन शोषण’: बॉम्बे HC का मामला

बॉम्बे हाई कोर्ट की नागपुर बेंच ने शारीरिक संपर्क या ‘यौन शोषण के इरादे से किया गया शरीर से शरीर का स्पर्श’ (स्किन टू स्किन) के आधार पर...

राहुल गाँधी बोले- किसान मजबूत होते तो सेना की जरूरत नहीं होती… अनुवादक मोहम्मद इमरान बेहोश हो गए

इरोड में राहुल गाँधी के अंग्रेजी भाषण का तमिल में अनुवाद करने वाले प्रोफेसर मोहम्मद इमरान मंच पर ही बेहोश होकर गिर पड़े।

मदरसा सील करने पहुँची महिला तहसीलदार, काजी ने कहा- शहर का माहौल बिगड़ने में देर नहीं लगेगी, देखें वीडियो

महिला तहसीलदार बार-बार वहाँ मौजूद मुस्लिम लोगों को मामले में कलेक्टर से बात करने के लिए कह रही है। इसके बावजूद लोग उसकी बात को दरकिनार करते हुए उसे धमकाते हुए नजर आ रहे हैं।

निकिता तोमर को गोली मारते कैमरे में कैद हुआ था तौसीफ, HC से कहा- मैं निर्दोष, यह ऑनर किलिंग

निकिता तोमर हत्याकांड के मुख्य आरोपित तौसीफ ने हाई कोर्ट से घटना की दोबारा जाँच की माँग की है। उसने कहा कि यह मामला ऑनर किलिंग का है।

छठी बीवी ने सेक्स से किया इनकार तो 7वीं की खोज में निकला 63 साल का अयूब: कई बीमारियों से है पीड़ित, FIR दर्ज

गुजरात में अयूब देगिया की छठी बीवी ने उसके साथ सेक्स करने से इनकार कर दिया, जब उसे पता चला कि उसके शौहर की पहले से ही 5 बीवियाँ हैं।

बहन को फुफेरे भाई कासिम से था इश्क, निक़ाह के एक दिन पहले बड़े भाई फिरोज ने की हत्या: अश्लील फोटो बनी वजह

इस्लामुद्दीन की 19 वर्षीय बेटी फिरदौस के निक़ाह की तैयारियों में पूरा परिवार जुटा हुआ था। तभी शनिवार की सुबह घर में टूथपेस्ट कर रही फिरदौस को अचानक उसके बड़े भाई फिरोज ने तमंचे से गोली मार दी।
- विज्ञापन -

 

बॉम्बे HC के ‘स्किन टू स्किन’ जजमेंट के खिलाफ अपील करें: महाराष्ट्र सरकार से NCPCR

NCPCR ने महाराष्ट्र सरकार से कहा है कि वह यौन शोषण के मामले से जुड़े बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ तत्काल अपील दायर करे।

आर्थिक सुधारों के पूरक हैं नए कृषि कानून: राष्ट्रपति के संदेश में किसान, जवान और आत्मनिर्भर भारत पर फोकस

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सोमवार (जनवरी 25, 2021) को 72वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शाम 7 बजे राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं।

20 साल पहले पति के सपने में आया नंबर, दाँव लगाती रही पत्नी; 60 मिलियन डॉलर की लॉटरी जीती

कनाडा में एक महिला ने 60 मिलियन डॉलर की लॉटरी जीती है। वह भी उस संख्या (नंबर) की मदद से जो उसके पति के सपने में आए थे।

‘मुझे बंदूक दिखाओगे तो मैं बंदूक का संदूक दिखाऊँगी’: BJP पर बरसीं ‘जय श्री राम’ से भड़कीं ममता

जय श्री राम के नारों को अपनी बेइज्जती करार देने वाली ममता बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधा है।

गलवान घाटी में बलिदान हुए कर्नल संतोष बाबू को महावीर चक्र, कई अन्य जवान भी होंगे सम्मानित

गलवान घाटी में वीरगति को प्राप्त हुए कर्नल संतोष बाबू को इस साल महावीर चक्र (मरणोपरांत) से नवाजा जाएगा।

26 जनवरी पर क्यों दो बार सैल्यूट करता है सिख रेजिमेंट? गणतंत्र दिवस पर 42 साल पहले शुरू हुई परंपरा के बार में सब...

गणतंत्र दिवस परेड में भारतीय सशस्त्र बल का हर सैन्य दल एक बार सैल्यूट करता है, वहीं सिख रेजिमेंट दो बार सैल्यूट करता है।

नेताजी के बदले एक्टर प्रसनजीत चटर्जी की तस्वीर का राष्ट्रपति कोविंद ने कर दिया अनावरण? फैक्टचेक

लिबरल गिरोह नेताजी की उस तस्वीर पर सवाल उठा रहे हैं जिसका अनावरण राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनकी 125वीं जयन्ती के मौके पर 23 जनवरी को किया था।

ऐसे लोगों को छोड़ा नहीं जाना चाहिए: मुनव्वर फारूकी पर जस्टिस रोहित आर्य, कुंडली निकालने में जुटा लिब्रांडु गिरोह

हिन्दू देवी-देवताओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने वाले मुनव्वर फारूकी की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति रोहित आर्य ने कहा कि ऐसे लोगों को बख्शा नहीं जाना चाहिए।

TikTok स्टार रफी शेख ने की आत्महत्या: दोस्त मुस्तफा पर मारपीट और आपत्तिजनक वीडियो का आरोप

आंध्र प्रदेश के टिक टॉकर रफी शेख ने नेल्लोर जिले में अपने निवास पर आत्महत्या कर ली। पुलिस आत्महत्या के पीछे के कारणों का पता लगाने के लिए...

15 साल छोटी हिन्दू से निकाह कर परवीन बनाया, अब ‘लव जिहाद’ विरोधी कानून को ‘तमाशा’ बता रहे नसीरुद्दीन शाह

नसरुद्दीन शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' को लेकर तमाशा चल रहा है। कहा कि लोगों को 'जिहाद' का सही अर्थ ही नहीं पता है।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
385,000SubscribersSubscribe