Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीति‘यूपी-बिहार के भइये’ पर बँध गई प्रियंका और चन्नी की घिग्घी: सफाई में बोले-...

‘यूपी-बिहार के भइये’ पर बँध गई प्रियंका और चन्नी की घिग्घी: सफाई में बोले- बयान घुमा दिया, केजरीवाल के लिए कहा था

"चन्नी जी कह रहे थे कि पंजाब की सरकार पंजाबियों से चलनी चाहिए। उन्होंने जिस तरह से बोला उसे बस घुमाया गया है। मुझे नहीं लगता कि यूपी से यहाँ आकर कोई राज करना चाहता है।"

उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों को अपमानित करने वाले बयान को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सफाई दी है। उनका कहना है कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया और उन्होंने यह बात केजरीवाल जैसे नेताओं के संदर्भ में कही थी। वहीं कॉन्ग्रेस ​महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा का कहना है कि चन्नी के बयान को घुमाकर पेश किया गया। उल्लेखनीय है कि जब चन्नी यूपी-बिहार के लोगों के खिलाफ नफरत फैला रहे थे, तब प्रियंका उनके बगल में खड़ीं थी। वे मुस्कुराते हुए उनकी बात पर ताली बजा रहीं थी।

इस बयान को लेकर चन्नी के खिलाफ बिहार के पटना में एफआईआर भी दर्ज कराई गई है। लेकिन चन्नी ने का कहना है कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया जा रहा है। उन्होंने कहा है की जितने भी प्रवासी पंजाब में आए हैं, उन्होंने अपना खून-पसीना लगाकर पंजाब को विकास के रास्ते पर आगे बढ़ाया है। उन्होंने हमेशा विकास के लिए ही काम किया। हमारा उनसे खून-मांस का रिश्ता है। प्यार है, जो दिल से है और इसे कोई निकाल नहीं सकता। उन्होंने कहा, “मैं फिर से कहता हूँ जो दुर्गेश पाठक, संजय सिंह और केजरीवाल जैसे लोग बाहर से आकर खलल डालने का काम कर रहे हैं। मैंने उनके बारे में बात की थी। लेकिन, यूपी, बिहार और राजस्थान जैसी जगहों से आकर पंजाब में जो काम करते हैं, पंजाब उनका भी उतना ही है जितना हमारा है।”

वहीं प्रियंका गाँधी वाड्रा ने कहा है, “चन्नी जी कह रहे थे कि पंजाब की सरकार पंजाबियों से चलनी चाहिए। उन्होंने जिस तरह से बोला उसे बस घुमाया गया है। मुझे नहीं लगता कि यूपी से यहाँ आकर कोई राज करना चाहता है।”

15 फरवरी को चन्नी ने कॉन्ग्रेस नेता प्रियंका गाँधी (Priyanka Gandhi) के साथ पंजाब के रोपड़ में एक रैली को संबोधित किया था। चन्नी ने कहा था, “प्रियंका पंजाबियाँ दी बहू है। यूपी दे, बिहार दे, दिल्ली दे भईए आके इते राज नई कर दे। यूपी के भइयों को पंजाब में फटकने नहीं देना है।”  बता दें कि पंजाबी में ‘भइये’ एक अपमानजनक शब्द है। यह शब्द यूपी के लोगों के लिए एक गाली की तरह है।  

इसको लेकर चन्नी और प्रियंका की चौतरफा आलोचना हो रही थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 फरवरी को पंजाब के अबोहर में रैली को संबोधित करते हुए कहा था, “कॉन्ग्रेस हमेशा से एक क्षेत्र के लोगों को दूसरे से लड़ाती रही है, ताकि उनकी गाड़ी चल जाए। कॉन्ग्रेस के मुख्यमंत्री ने जो कल बयान दिया है, उस पर उनके बगल में बैठा ‘दिल्ली का परिवार’ है, जो मालिक है, वह खड़े होकर तालियाँ बजा रहा है। ये पूरे देश ने देखा है। अपने इन बयानों से ये लोग किसका अपमान कर रहे हैं? यहाँ का कोई ऐसा गाँव नहीं होगा, जहाँ पर हमारे उत्तर प्रदेश और बिहार के भाई-बहन मेहनत ना करते हों।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -