Friday, May 24, 2024
HomeराजनीतिBJP की महिला नेता ने शिवसेना सांसद संजय राउत के खिलाफ दिल्ली में कराई...

BJP की महिला नेता ने शिवसेना सांसद संजय राउत के खिलाफ दिल्ली में कराई FIR, अपशब्दों के इस्तेमाल और जान से मारने की धमकी देने का लगाया आरोप

संजय राउत ने कहा, “मेरे खिलाफ दिल्ली में दर्ज एफआईआर राजनीतिक मकसद से और मेरी आवाज दबाने के लिए की गई है। यह मेरी पार्टी को बदनाम करने के लिए किया गया है, क्योंकि सीबीआई, आयकर, ईडी का इस्तेमाल मेरे खिलाफ नहीं किया जा सकता है। मैं सांसद हूँ, मेरे खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज कराने के लिए कुछ लोगों को प्रोत्साहित करना सही नहीं है।”

शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत के खिलाफ भाजपा की महिला नेता ने दिल्ली में एक मामला दर्ज कराया है। भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय महामंत्री दीप्ति रावत ने एक इंटरव्यू में भाजपा की महिला कार्यकर्ताओं के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करने और उन्हें धमकाने का आरोप लगाते हुए गुरुवार (9 दिसंबर) को दिल्ली के मंडावली थाने में मामला दर्ज कराया।

दीप्ति रावत भारद्वाज ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि नौ दिसंबर को एक मराठी समाचार चैनल पर प्रसारित एक इंटरव्यू के दौरान शिवसेना सांसद राउत ने भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया और उन्हें जान से मारने की धमकी दी। शिकायत के दौरान भारद्वाज ने टीवी चैनल की क्लिपिंग्स को भी पुलिस के साथ साझा किया।

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शिकायत के आधार पर शिवसेना सांसद राउत के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धाराओं 500 (मानहानि की सजा) और 509 (किसी महिला की मर्यादा को ठेस पहुँचाने के इरादे से शब्द, हावभाव का इस्तेमाल करना या ऐसा कृत्य करना) के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। इसके साथ ही भारद्वाज ने अपने ट्विटर हैंडल से संजय राउत से इस्तीफे और माफी की माँग की।

एफआईआर पर प्रतिक्रिया व्यक्ति करते हुए संजय राउत ने कहा, “मेरे खिलाफ दिल्ली में दर्ज एफआईआर राजनीतिक मकसद से और मेरी आवाज दबाने के लिए की गई है। यह मेरी पार्टी को बदनाम करने के लिए किया गया है, क्योंकि सीबीआई, आयकर, ईडी का इस्तेमाल मेरे खिलाफ नहीं किया जा सकता है। मैं सांसद हूँ, मेरे खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज कराने के लिए कुछ लोगों को प्रोत्साहित करना सही नहीं है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -