Friday, September 17, 2021
Homeराजनीतिलोक परंपराओं को बढ़ाने वाली गोवा की पहली महिला राज्यपाल मृदुला सिन्हा का निधन:...

लोक परंपराओं को बढ़ाने वाली गोवा की पहली महिला राज्यपाल मृदुला सिन्हा का निधन: PM मोदी, अमित शाह ने जताया दुःख

"मृदुला सिन्हा जी को जनता की सेवा के लिए उनके प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। वह एक कुशल लेखिका भी थीं, जिन्होंने साहित्य के साथ-साथ संस्कृति की दुनिया में भी व्यापक योगदान दिया। उनके निधन से दुखी हूँ। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति।"

गोवा की पूर्व राज्‍यपाल, प्रतिष्ठित साहित्‍यकार व भाजपा नेता मृदुला सिन्‍हा (77) का बुधवार (नवंबर 18, 2020) को निधन हो गया। पीएम मोदी और अमित शाह समेत कई नेताओं ने उनके निधन पर दुख जताया।

उनके बारे में बता दें कि वह पूर्व राज्यपाल होने के साथ-साथ पाँचवा स्तंभ नाम से पत्रिका निकाल चुकी थीं। वह हिंदी लेखिका होने के साथ-साथ केंद्रीय कार्यसमिति की सदस्य थीं। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में वह केंद्रीय समाज कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष पद को भी संभाल चुकी थीं। उन्होंने लोक परंपराओं को बढ़ाने का काम भी अपने जीवन में बड़ी शिद्दत से किया था।

उन्हें यूपी हिंदी संस्थान का साहित्य भूषण सम्मान, दीन दयान उपाध्याय पुरस्कार समेत कई दूसरे सम्मान मिले थे। कई साहित्यिक मंचों से भी उन्हें सम्मानित किया जा चुका था। मौजूदा जानकारी के अनुसार 27 नवंबर 1942 को बिहार के मुजफ्फरनगर के छपरा गाँव में जन्मीं मृदुला सिन्हा गोवा की पहली महिला राज्यपाल थीं।

आज उनके निधन के बाद बहुत से नेता और आमजन अपना दुख प्रकट कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा, “मृदुला सिन्हा जी को जनता की सेवा के लिए उनके प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। वह एक कुशल लेखिका भी थीं, जिन्होंने साहित्य के साथ-साथ संस्कृति की दुनिया में भी व्यापक योगदान दिया। उनके निधन से दुखी हूँ। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति।”

गृहमंत्री अमित शाह ने लिखा, “गोवा की पूर्व राज्यपाल व वरिष्ठ भाजपा नेता मृदुला सिन्हा जी का निधन बहुत दुःखद है। उन्होंने जीवन पर्यन्त राष्ट्र, समाज और संगठन के लिए काम किया। वह एक निपुण लेखिका भी थी, जिन्हें उनके लेखन के लिए भी सदैव याद किया जाएगा। उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूँ। ॐ शान्ति।”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लिखा, “पूर्व राज्यपाल एवं साहित्यकार श्रीमती मृदुला सिन्हा का निधन मेरे लिए बेहद पीड़ादायक है। वे अपने लम्बे सार्वजनिक जीवन में हर दायित्व को निभाने में सहज और सफल रहीं। एक लेखिका के रूप में भी उन्होंने अपनी एक अलग पहचान बनाई। उनका पूरा जीवन समाज और साहित्य की सेवा के प्रति समर्पित रहा।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,922FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe