Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीति'किसी ने नहीं फेंके पत्थर, शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुई रैली': अरविंद केजरीवाल ने...

‘किसी ने नहीं फेंके पत्थर, शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुई रैली’: अरविंद केजरीवाल ने झूठ बोल कर सूरत को किया बदनाम? पुलिस ने बताया – दी गई थी Z+ सुरक्षा

उन्होंने आगे बताया कि पुलिस को जानकारी मिली थी कि उनकी रैली में पथराव हुआ है, लेकिन यह सिर्फ एक अफवाह थी। ऐसी कोई घटना नहीं हुई है।

गुजरात के सूरत (Surat) में सोमवार (28 नवंबर, 2022) को दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के ‘रोड शो’ के दौरान पथराव की चर्चा सामने आई थी। सीएम केजरीवाल ने भी दावा किया था कि उनके रोड शो के दौरान पत्थर फेंका गया। लेकिन, सूरत पुलिस ने इसका खंडन करते हुए पथराव की घटना से इनकार किया है। पुलिस का कहना है कि अरविंद केजरीवाल की रैली के दौरान पथराव की कोई घटना नहीं हुई और रैली शांतिपूर्ण तरीके से निकाली गई।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, डीसीपी (जोन-3) पिनाकिन परमार (Pinakin Parmar) ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए सूरत पुलिस की तरफ से पूरा बंदोबस्त किया गया था। कतारगाम इलाके में बापा सीताराम चौक से लेकर साईं बाबा मंदिर तक चार किलोमीटर की रैली थी। केजरीवाल को चार किलोमीटर के रोड शो में जेड प्लस सुरक्षा दी गई थी। इसके साथ ही उन्हें सीएपीएफ की तरफ से भी सुरक्षा व्यवस्था दी गई थी। यह रैली शांतिपूर्ण तरीके से पूरी हुई है।

उन्होंने आगे बताया कि पुलिस को जानकारी मिली थी कि उनकी रैली में पथराव हुआ है, लेकिन यह सिर्फ एक अफवाह थी। ऐसी कोई घटना नहीं हुई है। हालाँकि, रोड शो के दौरान दूसरी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ कहासुनी हुई थी, लेकिन पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित कर लिया और शांतिपूर्ण तरीके से रोड शो को पूरा करवाया।

मालूम हो कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दावा किया था कि जब वो लोग आगे बढ़ रहे थे, तो उनके (भाजपा का जिक्र करते हुए) समर्थकों ने रैली पर एक पत्थर फेंका। उन्होंने कहा था, “मुझे लगता है कि अगर उन्होंने पिछले 27 सालों में कोई काम किया होता तो उन्हें पत्थर फेंकने की जरूरत नहीं पड़ती। मैं उन्हें बताना चाहता हूँ कि केवल केजरीवाल ही बिजली के बिल माफ करेंगे, आपके बच्चों को पढ़ाएँगे और पत्थरों की जगह आपको फूल देंगे।”

AAP के संयोजक ने यह भी कहा था कि वह यहाँ गुंडागर्दी करने नहीं, बल्कि एक अच्छा समाज बनाने आए हैं। उन्होंने कहा, “आप ‘शरीफ’ (सभ्य), देशभक्त और ईमानदार लोगों की पार्टी है। मैं एक शिक्षित व्यक्ति हूँ और आपके लिए स्कूल बनवाऊँगा। अगर आपको दूसरों को गाली देना है तो उनके साथ जाएँ।” बता दें कि गुजरात की 182 विधानसभा सीटों पर दो चरणों में 1 और 5 दिसंबर को वोट डाले जाएँगे। चुनाव के नतीजे 8 दिसंबर को घोषित होंगे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -