Saturday, June 15, 2024
Homeराजनीति'आजम खान के बेटे ने चलाई थी मुझपर गोली, उसको नहीं मुझे है जान...

‘आजम खान के बेटे ने चलाई थी मुझपर गोली, उसको नहीं मुझे है जान का खतरा’ : अपना दल प्रत्याशी हैदर अली खान का आरोप

हैदर से पहले अब्दुल्ला आजम खान ने सोमवार को एक प्रेसवार्ता की थी। इसी मीटिंग में उन्होंने बीजेपी पर हत्या की साजिश रचे जाने का आरोप लगाया था। इस प्रेस वार्ता के बाद ही हैदर ने आज मीडिया से बात की।

भारतीय जनता पार्टी की गठबंधन पार्टी ‘अपना दल’ के स्वार उम्मीदवार हैदर अली खान ने चुनावों से पहले समाजवादी पार्टी पर बड़ा आरोप मढ़ा है। हैदर खान का कहना है अब्दुल्ला आजम खान और सपा के गुंडे उनकी हत्या करवा सकते हैं। हैदर अली खान ने बताया कि 30 साल पहले उनके दादा मिक्की मियां की भी सड़क हादसे में मौत हो गई थी और अब उन्हें शक है कि उनकी हत्या भी करवाई जा सकती है।

गौरतलब है कि हैदर अली खान का नाम पिछले कुछ दिनों से मीडिया में चर्चा में बना हुआ है। 2014 के बाद से वह एनडीए के पहले मुस्लिम प्रत्याशी हैं। बीजेपी की अगुवाई वाली नेशनल डेमोक्रेटिक एलायंस (NDA) में शामिल अपना दल ने उन्हें रामपुर की स्वार सीट से अपना प्रत्याशी बनाया है। हैदर खान नवाब खानदान से ताल्लुक रखते हैं और इस बार उनका मुकाबला आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम खान से होगा। उनका कहना है कि उनके ऊपर दो बार गोली चल चुकी है। अच्छे नसीब के कारण वह बच गए। वह दावा करते हैं कि उन्हें 14 फरवरी से पहले मारने की साजिश रची जा रही है।

हैदर अली खान का आरोप

यहाँ मालूम हो कि हैदर से पहले अब्दुल्ला आजम खान ने सोमवार को एक प्रेसवार्ता की थी। इसी मीटिंग में उन्होंने बीजेपी पर हत्या की साजिश रचे जाने का आरोप लगाया था। इस प्रेस वार्ता के बाद ही हैदर ने आज मीडिया से बात की। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा, “अब्दुल्ला की नहीं, बल्कि मेरी जान को खतरा है। मेरे दादा मिक्की मियाँ की भी सड़क हादसे में मौत हुई थी और जिस ट्रक से पूरा हादसा हुआ था, वह चोरी का था। इस घटना से आजम खान को सीधा फायदा हुआ था। हमें लगता है कि उनकी हत्या कराई गई। इस मामले में सीबीआई जाँच होनी चाहिए।”

जी न्यूज के अनुसार, हैदर ने अब्दुल्ला पर आरोप लगाते हुए कहा, “2014 में मुझे भगाने के लिए गोली चलाई गई थी। इस हमले में मैं बच गया। फिर, 2017 में अब्दुल्ला ने खुद मेरे ऊपर गोली चलाई, जिसमें दो एसओजी वाले इनके साथ मौजूद थे। गोली मेरे कॉलर से लगकर ऊपर गई। मेरी किस्मत हर बार इतनी तो अच्छी नहीं हो सकती कि मैं हर बार बच जाऊँ।”

वह आरोप लगाते हैं कि रामपुर में अधिकारियों पर सपा के गुंडे दबाव बना रहे हैं। उनका कहना है कि स्वार सीट के आरओ बने उप जिलाधिकारी ने दबाव में आकर नामांकन पत्र स्वीकार करने की रिपोर्ट टाइम से पहले ही दे दी थी। हैदर ने दावा किया कि तीन बजे तक उनको आपत्ति दाखिल करनी थी, लेकिन उन्होंने 11:30 बजे ही नामांकन पत्र सही होने की रिपोर्ट दे दी। वह कहते हैं कि उन्होंने इस संबंध में शिकायत भी की है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, हैदर खान ने कहा, “सपा शासनकाल में रामपुर के लोगों पर बहुत जुल्म हुए। बेकसूर लोगों को जेल भेजा गया। एनकाउंटर के नाम पर लोगों को मारा गया। इन सब मामलों की सीबीआई जाँच होनी चाहिए । रामपुर में निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए अर्धसैनिक बलों की तैनाती की जानी चाहिए। ऐसे स्पेशल अधिकारियों को लगाया जाए जो उत्तर प्रदेश से बाहर के हों।”

अब्दुल्ला आजम खान का डर

उल्लेखनीय है कि हैदर से पहले आजम खान ने अपना डर जाहिर करते हुए कहा था कि उन्हें अपनी सुरक्षा में तैनात पुलिस अधिकारियों पर भी भरोसा नहीं है। उन्हें नहीं मालूम कि कब कौन उन्हें गोली मार दे। अब्दुल्ला ने बीजेपी पर हत्या की साजिश रचने का भी आरोप मढ़ा था। उनका कहना था कि उनकी रेकी की जा रही है। उनका पीछा हो रहा है। उन्हें खबर मिली है कि चुनाव से पहले उन्हें सड़क हादसे में मारने की कोशिश हो सकती है या फिर उन्हें फर्जी केस में जेल भेजा जा सकता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

अब तक की सबसे अधिक ऊँचाई पर पहुँचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, उधर कंगाली की ओर बढ़ा पाकिस्तान: सिर्फ 2 महीने का बचा...

एक तरफ पाकिस्तान लगातार बर्बादी की कगार पर पहुँच रहा है, तो दूसरी तरफ भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -