Sunday, July 25, 2021
Homeराजनीतिचुनावी जनसभा के दौरान हार्दिक पटेल को पड़ा झापड़, BJP को ठहराया दोषी

चुनावी जनसभा के दौरान हार्दिक पटेल को पड़ा झापड़, BJP को ठहराया दोषी

पटेल का कहना है कि बीजेपी उन पर हमला करवा रहे हैं। उनकी मानें तो बीजेपी चाहती है कि उन्हें (हार्दिक) मार दिया जाए। वे कहते हैं कि वे ऐसे हमलों पर चुप नहीं रहेंगे।

2019 लोकसभा चुनावों को देखकर ऐसा लगता है मानो भारतीय राजनीति में जो कभी नहीं हुआ, वो सब इन चुनावों में देखने को मिल जाएगा। फिर चाहे इस सूची में आजम खान के बयानों को शामिल कर लिया जाए या फिर हार्दिक पटेल को पड़े थप्पड़ को।

जी हाँ, हाल ही में हुई चुनावी जनसभा के दौरान हार्दिक पटेल को थप्पड़ मारा गया है। घटना गुजरात के सुरेंद्र नगर की है। सोशल मीडिया पर यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।

मीडिया में आई ख़बरों के मुताबिक हार्दिक पटेल जिस समय सभा को संबोधित कर रहे थे तभी एक व्यक्ति मंच पर पहुँचा और हार्दिक को जोरदार थप्पड़ जड़ दिया। इस घटना के बाद जनसभा में हड़कंप मच गया।

इस वीडियो में हार्दिक पटेल और थप्पड़ मारने वाले शख्स के बीच नोक-झोंक भी साफ़ नज़र आई। हार्दिक ने इस तमाचे के लिए बीजेपी को दोषी ठहराया है। पटेल का कहना है कि बीजेपी उन पर हमला करवा रहे हैं। उनकी मानें तो बीजेपी चाहती है कि उन्हें (हार्दिक) मार दिया जाए। वे कहते हैं कि वे ऐसे हमलों पर चुप नहीं रहेंगे।

चुनाव जनसभा के दौरान हुई ऐसी घटना का यह पहला किस्सा नहीं है। गुरुवार(अप्रैल 18, 2019) को भाजपा प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव पर जूता फेंकते हुए हमला किया गया। इससे पहले दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी 2014 में रैली के दौरान थप्पड़ पड़ चुका है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मणिपुर के सेब, आदिवसियों की बेर और ‘बनाना फाइबर’ से महिलाओं की कमाई: Mann Ki Baat में महिला शक्ति की कहानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (25 जुलाई, 2021) को 'मन की बात' के 79वें एपिसोड के जरिए देश की जनता को सम्बोधित किया।

हेमंत सोरेन की सरकार गिराने वाले 3 ‘बदमाश’: सब्जी विक्रेता, मजदूर और दुकानदार… ₹2 लाख में खरीदते विधायकों को?

अब सामने आया है कि झारखंड सरकार गिराने की कोशिश के आरोपितों में एक मजदूर है और एक ठेला लगा सब्जी/फल बेचता है। एक इंजिनियर है, जो अपने पिता की दुकान चलाता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,111FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe