Saturday, January 22, 2022
Homeराजनीति'चंद्रशेखर आजाद की हत्या के लिए नेहरू जिम्मेदार, अंग्रेजों को बताया था उनका ठिकाना'...

‘चंद्रशेखर आजाद की हत्या के लिए नेहरू जिम्मेदार, अंग्रेजों को बताया था उनका ठिकाना’ – विधायक का आरोप

"पंडित जवाहरलाल नेहरू ने अंग्रेजों के साथ मिलकर चंद्रशेखर आज़ाद की हत्या करवाई थी। पंडित नेहरू को मालूम था कि वे अल्फ्रेड पार्क में बैठे हैं और नेहरू ने अंग्रेजों को इस बात की जानकारी दी।"

राजस्थान के भाजपा विधायक मदन दिलावर ने बड़ा बयान दिया है, जो पूरे देश में बहस का मुद्दा बन सकता है। उन्होंने देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि चंद्रशेखर आज़ाद की हत्या में वो भी शामिल थे।

विधायक मदन दिलावर ने महान स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आज़ाद की हत्या के लिए दिवंगत कॉन्ग्रेस अध्यक्ष जवाहरलाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराया। कॉन्ग्रेस नेताओं ने इस बयान का विरोध किया है। राजस्थान के कोटा स्थित रामगंज मंडी से विधायक मदन दिलावर भाजपा के प्रदेश महामंत्री का पद भी संभालते हैं। उन्होंने कहा

“पंडित जवाहरलाल नेहरू ने अंग्रेजों के साथ मिलकर चंद्रशेखर आज़ाद की हत्या करवाई थी। मृत्यु से पहले चंद्रशेखर आजाद, पंडित नेहरू से मिलने गए थे। इसके बाद पंडित नेहरू को मालूम था कि वे अल्फ्रेड पार्क में बैठे हैं और नेहरू ने अंग्रेजों को इस बात की जानकारी दी।”

उन्होंने आरोप लगाया कि नेहरू द्वारा अंग्रेजों को सारी जानकारी दिए जाने के बाद अल्फ्रेड पार्क में ब्रिटिश सिपाहियों ने चारों तरफ से आज़ाद को घेर लिया और वहाँ उन पर हमला कर दिया। बकौल मदन दिलावर, वीर चंद्रशेखर आज़ाद ने अंग्रेजों की गोली से मरने या फिर उनके कब्जे में जाने से जान देना ठीक समझा और भारत माँ के लिए खुद को ही गोली मार कर बलिदान हो गए।

राजस्थान के कॉन्ग्रेस नेता इस बयान से नाराज़ हो गए हैं। मदन दिलावर ने दिल्ली में 3 महीने से भी अधिक समय तक चले ‘किसान आंदोलन’ को लेकर भी कहा था कि उग्रवादी और डकैत उसमें घुस गए हैं।

मदन दिलावर ने कहा था कि ये सब मिल कर देश को तबाह करने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा था कि ये प्रदर्शनकारी देश के बारे में चिंतित नहीं हैं, बल्कि वो पिकनिक कर रहे हैं, चिकेन बिरयानी खा रहे हैं और वहाँ सारी सुविधाओं का मजा उठा रहे हैं। उन्होंने देश में फ्लू फैलाने की साजिश का भी आरोप लगाया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ईसाई बनने को कहा, मना करने पर टॉयलेट साफ़ करने को मजबूर किया’: तमिलनाडु में 17 साल की लड़की की आत्महत्या, माता-पिता ने बताई...

परिजनों ने आरोप लगाया कि हॉस्टल वॉर्डन द्वारा लावण्या प्रताड़ित किया गया था और मारा-पीटा गया था, क्योंकि उसने ईसाई मजहब में धर्मांतरण से इनकार किया था।

‘मेरे जलसे के बराबर में हिन्दुओं को इजाजत तो… घर में घुस इन्हें मारूँगा’ – जो था पहले IPS, कॉन्ग्रेसी नेता बनते ही उगला...

"मेरे जलसे के बराबर में हिन्दुओं को इजाजत दी गई तो मैं ऐसे हालात पैदा करूँगा कि संभालने मुश्किल हो जाएँगे।" - सिद्धू के सलाहकार मो. मुस्तफा

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,725FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe