Monday, August 2, 2021
Homeराजनीति'चंद्रशेखर आजाद की हत्या के लिए नेहरू जिम्मेदार, अंग्रेजों को बताया था उनका ठिकाना'...

‘चंद्रशेखर आजाद की हत्या के लिए नेहरू जिम्मेदार, अंग्रेजों को बताया था उनका ठिकाना’ – विधायक का आरोप

"पंडित जवाहरलाल नेहरू ने अंग्रेजों के साथ मिलकर चंद्रशेखर आज़ाद की हत्या करवाई थी। पंडित नेहरू को मालूम था कि वे अल्फ्रेड पार्क में बैठे हैं और नेहरू ने अंग्रेजों को इस बात की जानकारी दी।"

राजस्थान के भाजपा विधायक मदन दिलावर ने बड़ा बयान दिया है, जो पूरे देश में बहस का मुद्दा बन सकता है। उन्होंने देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि चंद्रशेखर आज़ाद की हत्या में वो भी शामिल थे।

विधायक मदन दिलावर ने महान स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आज़ाद की हत्या के लिए दिवंगत कॉन्ग्रेस अध्यक्ष जवाहरलाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराया। कॉन्ग्रेस नेताओं ने इस बयान का विरोध किया है। राजस्थान के कोटा स्थित रामगंज मंडी से विधायक मदन दिलावर भाजपा के प्रदेश महामंत्री का पद भी संभालते हैं। उन्होंने कहा

“पंडित जवाहरलाल नेहरू ने अंग्रेजों के साथ मिलकर चंद्रशेखर आज़ाद की हत्या करवाई थी। मृत्यु से पहले चंद्रशेखर आजाद, पंडित नेहरू से मिलने गए थे। इसके बाद पंडित नेहरू को मालूम था कि वे अल्फ्रेड पार्क में बैठे हैं और नेहरू ने अंग्रेजों को इस बात की जानकारी दी।”

उन्होंने आरोप लगाया कि नेहरू द्वारा अंग्रेजों को सारी जानकारी दिए जाने के बाद अल्फ्रेड पार्क में ब्रिटिश सिपाहियों ने चारों तरफ से आज़ाद को घेर लिया और वहाँ उन पर हमला कर दिया। बकौल मदन दिलावर, वीर चंद्रशेखर आज़ाद ने अंग्रेजों की गोली से मरने या फिर उनके कब्जे में जाने से जान देना ठीक समझा और भारत माँ के लिए खुद को ही गोली मार कर बलिदान हो गए।

राजस्थान के कॉन्ग्रेस नेता इस बयान से नाराज़ हो गए हैं। मदन दिलावर ने दिल्ली में 3 महीने से भी अधिक समय तक चले ‘किसान आंदोलन’ को लेकर भी कहा था कि उग्रवादी और डकैत उसमें घुस गए हैं।

मदन दिलावर ने कहा था कि ये सब मिल कर देश को तबाह करने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा था कि ये प्रदर्शनकारी देश के बारे में चिंतित नहीं हैं, बल्कि वो पिकनिक कर रहे हैं, चिकेन बिरयानी खा रहे हैं और वहाँ सारी सुविधाओं का मजा उठा रहे हैं। उन्होंने देश में फ्लू फैलाने की साजिश का भी आरोप लगाया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,543FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe