Advertisements
Sunday, May 31, 2020
होम राजनीति चुनाव चौखट पर फिर भी झारखंड में आपस में ही लड़ रहे विपक्षी दल,...

चुनाव चौखट पर फिर भी झारखंड में आपस में ही लड़ रहे विपक्षी दल, कॉन्ग्रेस गुटबाजी से त्रस्त

कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष उरांव ने माना कि गुटबाजी की चुनौती अब भी बनी हुई है। कुछ महीने पहले इसी तरह का आरोप लगाकर अजय कुमार ने प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया था।

ये भी पढ़ें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

झारखंड में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। राज्य की 81 सीटों पर पाँच चरणों में चुनाव कराए जाएँगे। नतीजे 23 दिसंबर को आएँगे। बावजूद इसके न तो विपक्षी गठबंधन और न ही कॉन्ग्रेस का अंतर्कलह समाप्त होता दिख रहा है। झारखंड प्रदेश कॉन्ग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने कहा है कि गुटबाजी अब भी पार्टी के लिए चुनौती बनी हुई है।

दूसरी ओर, विपक्षी गठबंधन भी अब तक आकार नहीं ले पाया है। लोकसभा चुनाव कॉन्ग्रेस, झामुमो, झाविमो और राजद ने मिलकर लड़ा था। लेकिन, फिलहाल ऐसी स्थिति नहीं दिख रही। झाविमो राज्य की सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा है। आठ नवंबर को वह पहली सूची जारी कर सकता है। कॉन्ग्रेस महागठबंधन में झाविमो को बनाए रखने के पक्ष में है। वहीं, राजद 14 सीटों की मॉंग कर रहा है, जबकि झामुमो उसे चार-पॉंच से ज्यादा सीटें देने को तैयार नहीं है।

रामेश्वर उरांव ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में कहा कि कॉन्ग्रेस में गुटबाजी अभी भी एक चुनौती बना हुआ है। उन्होंने कहा कि राज्य में नेताओं को निस्वार्थ और स्वेच्छा से काम करने की आवश्यकता है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले के पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार ने भी गुटबाजी का आरोप लगाते हुए इस्तीफा दिया था और कहा था कि वो पार्टी को एकीकृत और जिम्मेदार तरीके से आगे ले जाना चाहते थे, लेकिन चंद लोगों के निहित स्वार्थों के कारण ऐसा नहीं कर सके। अजय कुमार ने सोनिया और राहुल गॉंधी सहित 10 कॉन्ग्रेस नेताओं को भेजे अपने इस्तीफे में पार्टी के अपने सहयोगियों को अपराधियों से भी बदतर बताया था।

अजय कुमार द्वारा पार्टी पर लगाए गए गुटबाजी के आरोप पर जब रामेश्वर उरांव से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हाँ, यह एक चुनौती है। बता दें कि अजय कुमार ने अपने इस्तीफा पत्र में अन्य कई नेताओं के साथ ही उरांव पर भी राजनीतिक पदों को हथियाने का आरोप लगाया था। लेकिन उरांव का कहना है कि वो किसी गुट के लिए नहीं, बल्कि सोनिया गाँधी के नेतृत्व वाली पार्टी के लिए काम करते हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी को उनकी सेवाओं की जरूरत है और यह निस्वार्थ और स्वैच्छिक होना चाहिए। तभी पार्टी आगे बढ़ेगी।

वहीं विपक्षी दलों के बीच गठबंधन और सीट बँटवारे को सार्वजनिक नहीं किए जाने के सवाल पर रामेश्वर उरांव ने इसे पार्टी की रणनीति का हिस्सा बताते हुए बात करने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान विपक्ष कुछ बातों पर सहमत हो गया था और इसे जारी रखा गया है।

जब उनसे पूछा गया कि महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि कॉन्ग्रेस ने अपनी पूरी ताकत के साथ लड़ाई नहीं लड़ी थी और उसकी मानसिकता हार मानने वाली थी। तो झारखंड में क्या स्थिति है? उरांव ने भी इस पर सहमति जताते हुए कहा, “यह सही है, लेकिन झारखंड की स्थिति अलग है। बीजेपी ने राज्य के संसाधनों का दुरुपयोग किया है और इसका असर चुनाव में दिखेगा। हम पूरी ताकत से लड़ेंगे।”

इसके साथ ही प्रदेश में महागठबंधन में भी प्रेशर पॉलिटिक्स (दबाव की राजनीति) चरम पर है। झारखंड मुक्ति मोर्चा अधिक सीटों की जिद पर अड़ा है, तो कॉन्ग्रेस झाविमो के बगैर एक कदम आगे बढ़ने को तैयार नहीं है। राजद और वामपंथी भी अपना-अपना राग अलाप रहे हैं। इस बीच राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की कमान थाम ली है।

वैसे देखा जाए तो झारखंड में विधानसभा चुनाव के परिणाम हमेशा से ही राजनीतिक दलों को अप्रत्याशित नतीजे देते रहे हैं, लेकिन जैसा उलटफेर 2014 के विधानसभा में हुआ है वैसा कभी नहीं हुआ। चार पूर्व मुख्यमंत्री और एक उप मुख्यमंत्री अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र में जीत हासिल नहीं कर सके थे। अब देखना होगा कि आगामी चुनाव में राजनीतिक पार्टियों के बीच की सरगर्मियाँ कितनी बढ़ती है और इस बार किस तरह का राजनीतिक समीकरण निकल कर बाहर आता है।

Advertisements

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ख़ास ख़बरें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

मेरठ से दबोचा गया खालिस्तानी आतंकी तीरथ सिंह, सीमा पार से गोला-बारूद लाने के लिए हथियार तस्कर से जुड़ा था

उत्तरप्रदेश एटीएस और पंजाब पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने ज्वाइंट ऑपरेशन में मेरठ से खालिस्तानी आतंकवादी तीरथ सिंह को गिरफ्तार किया।

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने आम की चटनी के साथ बनाया समोसा, PM मोदी ने कहा- कोरोना पर जीत के बाद साथ लेंगे आनंद

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने रविवार को आम की चटनी के साथ समोसे का स्वाद लिया। उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को याद किया।

‘ईद पर गोहत्या, विरोध करने पर 4 लोगों को मारा’ – चतरा में हिन्दुओं का आरोप, झारखंड पुलिस ने बताया अफवाह

झारखंड के चतरा में हिन्दुओं ने मुसलमानों पर हमला करने का आरोप लगाया। कारण - ईद पर गोहत्या का विरोध करने को लेकर...

कल-पुर्जा बनाने के नाम पर लिया दो मंजिला मकान, चला रहे थे हथियारों की फैक्ट्री: इसरार, आरिफ सहित 5 गिरफ्तार

बंगाल एसटीएफ ने एक हथियार फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। पॉंच लोगों को गिरफ्तार किया है। करीब 350 अर्द्धनिर्मित हथियार बरामद किए हैं।

मुंबई में बेटे ने बुजुर्ग माँ को पीटकर घर से निकाला, रेलवे अधिकारियों ने छोटे बेटे के पास दिल्ली भेजने की व्यवस्था की

लॉकडाउन के बीच मुंबई से एक बेहद असंवेदनशील घटना सामने आई है। एक बेटे ने अपनी 68 वर्षीय माँ को मारपीट कर घर से बाहर निकाल दिया।

MLA विजय चौरे ने PM मोदी को दी गाली, भाई के साथ किसानों को धमकाया: BJP ने कहा- कॉन्ग्रेस का संस्कार दिखाया

विजय चौरे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के क्षेत्र छिंदवाड़ा के सौसर से विधायक हैं। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए भी अभद्र भाषा का प्रयोग किया।

प्रचलित ख़बरें

असलम ने किया रेप, अखबार ने उसे ‘तांत्रिक’ लिखा, भगवा कपड़ों वाला चित्र लगाया

बिलासपुर में जादू-टोना के नाम पर असलम ने एक महिला से रेप किया। लेकिन, मीडिया ने उसे इस तरह परोसा जैसे आरोपित हिंदू हो।

चीन के खिलाफ जंग में उतरे ‘3 इडियट्स’ के असली हीरो सोनम वांगचुक, कहा- स्वदेशी अपनाकर दें करारा जवाब

"सारी दुनिया साथ आए और इतने बड़े स्तर पर चीनी व्यापार का बायकॉट हो, कि चीन को जिसका सबसे बड़ा डर था वही हो, यानी कि उसकी अर्थव्यवस्था डगमगाए और उसकी जनता रोष में आए, विरोध और तख्तापलट और...."

जिस महिला अधिकारी से सपा MLA अबू आजमी ने की बदसलूकी, उसका उद्धव सरकार ने कर दिया ट्रांसफर

पुलिस अधिकारी शालिनी शर्मा का ट्रांसफर कर दिया गया है। नागपाड़ा पुलिस स्टेशन की इंस्पेक्टर शालिनी शर्मा के साथ अबू आजमी के बदसलूकी का वीडियो सामने आया था।

‘TikTok हटाने से चीन लद्दाख में कब्जाई जमीन वापस कर देगा’ – मिलिंद सोमन पर भड़के उमर अब्दुल्ला

मिलिंद सोमन ने TikTok हटा दिया। अरशद वारसी ने भी चीनी प्रोडक्ट्स का बॉयकॉट किया। उमर अब्दुल्ला, कुछ पाकिस्तानियों को ये पसंद नहीं आया और...

POK में ऐतिहासिक बौद्ध धरोहरों पर उकेर दिए पाकिस्तानी झंडे, तालिबान पहले ही कर चुका है बौद्ध प्रतिमाओं को नष्ट

POK में बौद्ध शिलाओं और कलाकृतियों को नुकसान पहुँचाते हुए उन पर पाकिस्तान के झंडे उकेर दिए गए हैं।

हमसे जुड़ें

210,044FansLike
60,894FollowersFollow
244,000SubscribersSubscribe
Advertisements