Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतिमंथन के लिए बुलाई गई बैठक में चलने लगे लात-घूँसे, कॉन्ग्रेस कार्यालय बन गया...

मंथन के लिए बुलाई गई बैठक में चलने लगे लात-घूँसे, कॉन्ग्रेस कार्यालय बन गया मैदान-ए-ज़ंग: केरल में BJP के खाता खोलते ही विरोधी खेमे में हाहाकार

त्रिशूर लोकसभा सीट को जीत कर भाजपा ने केरल में पहली बार खाता खोला है। यहाँ भाजपा के सुरेश गोपी ने अपने निकटतम प्रत्याशी सीपीएम के वीएस सुनील कुमार को 74,000 वोटों से हराया है। कॉन्ग्रेस प्रत्याशी मुरलीधरन यहाँ तीसरे नंबर पर रहे। उन्हें कुल 3,28,124 वोट मिले। इस हार के बाद कॉन्ग्रेस प्रत्याशी ने अपने राजनैतिक जीवन से संन्यास की घोषणा कर दी है।

केरल के त्रिशूर लोकसभा सीट पर पहली बार भारतीय जनता पार्टी (BJP) द्वार दर्ज की गई जीत कॉन्ग्रेस पार्टी को रास नहीं आ रही है। इसको लेकर शुक्रवार (7 जून 2024) को जिला कार्यालय में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। ऑफिस में एक-दूसरे पर लात-घूँसों की बौछार कर दी गई। भिड़ंत की वजह कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा हार का ठीकरा एक-दूसरे पर फोड़ने की कोशिश बताया जा रहा है।

इस मामले में पुलिस ने कुल 20 कॉन्ग्रेसी नेताओं-कार्यकर्ताओं पर FIR दर्ज करके जाँच शुरू कर दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शुक्रवार (7 जून 2024) को जिला कॉन्ग्रेस कार्यालय में कॉन्ग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं की मीटिंग बुलाई गई थी। इस मीटिंग में जिला अध्यक्ष जोशे वल्लूर और महासचिव संजीवन कुरिचिरा भी मौजूद थे।

कुछ ही देर की बातचीत के बाद कुरिचिरा ने जिला अध्यक्ष जोशे वल्लूर और पूर्व कॉन्ग्रेस सांसद टीएन प्रतापन को भाजपा प्रत्याशी से मिली हार के लिए जिम्मेदार बता डाला। खुद पर लगे आरोपों से जिला अध्यक्ष जोशे वल्लूर और उनके समर्थक भड़क गए। इन सभी ने एकजुट होकर जिला महासचिव संजीवन को पीटना शुरू कर दिया।

संजीवन पर लात-घूंसों की बौछार कर दी गई। उनको गंदी-गंदी गालियाँ और धमकियाँ दी गईं। कॉन्ग्रेस मुख्यालय में मौजूद कुछ अन्य लोगों ने जैसे-तैसे संजीवन को उनके ही जिला अध्यक्ष से बचा कर निकाला। इस दौरान किसी शख्स ने इस घटना का वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर डाल दिया। अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

जिला कार्यालय से निकलने के बाद संजीवन ने पुलिस थाने में जाकर जोशे वल्लूर और उनके 19 साथियों पर FIR दर्ज करवा दिया है। उन्होंने हमलावरों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है। पुलिस ने सभी आरोपितों पर भारतीय दंड संहिता (IPC) की विभिन्न जमानतीय धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। इसके बाद पूरे मामले की जाँच की जा रही है।

बता दें कि त्रिशूर लोकसभा सीट को जीत कर भाजपा ने केरल में पहली बार खाता खोला है। यहाँ भाजपा के सुरेश गोपी ने अपने निकटतम प्रत्याशी सीपीएम के वीएस सुनील कुमार को 74,000 वोटों से हराया है। कॉन्ग्रेस प्रत्याशी मुरलीधरन यहाँ तीसरे नंबर पर रहे। उन्हें कुल 3,28,124 वोट मिले। इस हार के बाद कॉन्ग्रेस प्रत्याशी ने अपने राजनैतिक जीवन से संन्यास की घोषणा कर दी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

NEET पर जिस आयुषी पटेल के दावों को प्रियंका गाँधी ने दी हवा, उसके खुद के दस्तावेज फर्जी: कहा था- NTA ने रिजल्ट नहीं...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में झूठी साबित होने के बाद आयुषी पटेल ने अपनी याचिका भी वापस लेने का अनुरोध किया। कोर्ट ने NTA को छूट दी है कि वह आयुषी पटेल के खिलाफ नियमानुसार एक्शन ले।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -