Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाज'सारे दस्तावेज कस्टडी में लिए जाएँ, 15 दिन में सौंपिए रिपोर्ट': LG ने दिए...

‘सारे दस्तावेज कस्टडी में लिए जाएँ, 15 दिन में सौंपिए रिपोर्ट’: LG ने दिए जाँच के आदेश, अरविंद केजरीवाल के घर को चमकाने पर ₹45 करोड़ खर्च करने का मामला

दिल्ली भाजपा ने भी इस मामले में बयान जारी किया है। BJP के प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल को अब मुख्यमंत्री बने रहने का कोई हक नहीं है, उन्हें जनता को जवाब देना ही होगा।

अरविंद केजरीवाल ने अपने बँगले को चमकाने के लिए 45 करोड़ रुपए खर्च कर दिए। अब दिल्ली के LG विनय कुमार सक्सेना ने इस मामले में जाँच के आदेश दिए हैं। उन्होंने मुख्य सचिव को आदेश दिया है कि इस मामले से जुड़े सारे दस्तावेजों को वो अपने संरक्षण में ले लें और साथ ही सभी तथ्यों को लेकर विस्तृत रिपोर्ट 15 दिन के भीतर पेश करें। खबर आई थी कि 2021-22 के दौरान दिल्ली सीएम के बँगले की मरम्मत वाली फाइलें गायब हैं।

अरविंद केजरीवाल के आवास के अलावा नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के सिविल लाइंस के 6, फ्लैग स्टाफ रोड में स्थित दफ्तर को लेकर भी भ्रष्टाचार के आरोप लग रहे हैं। LG ने इस मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए मीडिया रिपोर्ट्स का संज्ञान लिया है। उन्होंने इस मामले से जुड़े सभी डाक्यूमेंट्स को प्रिवेंटिव कस्टडी में लिए जाने का आदेश दिया है। इन सभी रिकॉर्ड्स की समीक्षा कर के रिपोर्ट तैयार की जाएगी। अब AAP संयोजक की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

दिल्ली भाजपा ने भी इस मामले में बयान जारी किया है। BJP के प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल को अब मुख्यमंत्री बने रहने का कोई हक नहीं है, उन्हें जनता को जवाब देना ही होगा। दिल्ली भाजपा के नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के AAP सरकार पर निशाना साधा। हाल ही में ये खबर भी आई है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने आवास की साज-सज्जा पर 45 करोड़ रुपए खर्चने के बाद अब उसका विस्तार करने जा रहे हैं। सिविल लाइंस के फ्लैगस्टॉफ में स्थित उनका बंगला फिलहाल 4.7 एकड़ में है जिसे 7.3 एकड़ में करने का निर्णय लिया गया है।

इस आवास में पर्दे ऐसे लगे जिनकी डिजाइनिंग ही 8 लाख के करीब की है। वहीं जमीन पर वो मार्बल लगे जिनकी कीमत 3 करोड़ थी। एक स्विमिंग पूल बना जो मालदीप होटलों के स्टैंडर्ड पर था। इसी तरह इस आवास में हर चीज सबसे महंगी लगाई गई और देखते-देखते साज-सज्जा में 45 करोड़ खर्च हो गए। ‘टाइम्स नाऊ’ ने इस पर अपनी रिपोर्ट को ‘ऑपरेशन शीश महल’ का नाम दिया था। वहीं भाजपा ने आरोप लगाया था कि दिल्ली सीएम दिल्लीवासियों की परेशानियों को नजरअंदाज करके जनता का पैसा घर पर खर्च रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डीपफेक वीडियो और ऑनलाइन फेक न्यूज़ पर लगेगी लगाम, ‘मोदी 3.0’ लेकर आ रहा ‘डिजिटल इंडिया बिल’: डेटा प्रोटेक्शन के बाद अब YouTube और...

अमित शाह का वीडियो वायरल कर दिया गया और दावा किया गया कि वो आरक्षण खत्म करने की बात कर रहे हैं। कई हस्तियाँ डीपफेक की शिकार बन चुकी हैं।

कश्मीर को अलग बताने वाली अरुंधति रॉय ने गुजरात दंगों को लेकर भी बोले थे झूठ: एहसान जाफरी की बेटियों से रेप और जिंदा...

साल 2002 के गुजरात दंगों को अरुंधति रॉय ने अपने लेख के जरिए कई तरह के झूठ और भ्रम फैलाने की कोशिश की थी। इसके लिए उन्हें माफी भी माँगनी पड़ी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -