Monday, June 17, 2024
Homeराजनीतिइंदौर में बीजेपी उम्मीदवार शंकर लालवानी की 11.75+ लाख वोटों के अंतर से रिकॉर्ड...

इंदौर में बीजेपी उम्मीदवार शंकर लालवानी की 11.75+ लाख वोटों के अंतर से रिकॉर्ड तोड़ जीत : 2 लाख मतों के साथ दूसरे नंबर पर नोटा

लोकसभा चुनाव में अब तक सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड माकपा के अनिल बसु के नाम था। उन्होंने साल 2004 में पश्चिम बंगाल में बीजेपी के स्वप्न कुमार नंदी को 5 लाख 92 हजार 502 वोटों से हराया था।

लोकसभा चुनाव 2024 के नतीजे आ रहे हैं। मध्य प्रदेश में सभी 29 लोकसभा सीटों पर बीजेपी को जीत मिल रही है। इसमें से इंदौर लोकसभा सीट पर बीजेपी उम्मीरवार ने रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल की है। ये वही सीट है, जहाँ से कॉन्ग्रेस कैंडिडेट ने आखिरी समय में अपना नाम वापस ले लिया था। इस सीट पर बीजेपी कैंडिडेट ने 1,17,5092 मतों से जीत दर्ज की है। हालाँकि यहाँ सबसे ज्यादा चौंकाने वाला प्रदर्शन नोटा ने किया है। बीजेपी कैंडिडेट के बाद दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा वोट नोटा को मिले हैं, जो 2 लाख से भी ज्यादा है।

इंदौर लोकसभा सीट पर मतगणना में बीजेपी कैंडिडेट को 12 लाख 26 हजार 751 वोट मिले हैं। दूसरे नंबर पर नोटा है। नोटा को 2 लाख 18 हजार 674 वोट मिले हैं। तीसरे नंबर पर बीएसपी का कैंडिडेट है, जिसे नोटा के चौथाई से भी कम वोट मिला है। बीएसपी कैंडिडेट संजय को 51 हजार 659 वोट ही मिल पाए। बीएसपी कैंडिडेट के मुकाबले नोटा को 4 गुना से भी ज्यादा वोट मिले हैं।

इंदौर में शंकर लालवानी की रिकॉर्ड जीत (फोटो साभार : चुनाव आयोग वेबसाइट)

इंदौर में बना रिकॉर्ड, बीजेपी कैंडिडेट को अब तक की सबसे बड़ी जीत

लोकसभा चुनाव में अब तक सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड माकपा के अनिल बसु के नाम था। उन्होंने साल 2004 में पश्चिम बंगाल में बीजेपी के स्वप्न कुमार नंदी को 5 लाख 92 हजार 502 वोटों से हराया था। आज तक लोकसभा चुनाव में कोई भी उम्मीदवार 6 लाख के अंतर से नहीं जीता था, लेकिन इंदौर में नोटा को हटा दें कि 11 लाख 75 हजार 092 वोटों से बीएसपी उम्मीदवार को हार मिली है। हालाँकि दूसरे नंबर पर नोटा को कैंडिडेट माना जाए, तो भी ये अंतर 10 लाख से ज्यादा का है।

गौरतलब है कि इंदौर से कॉन्ग्रेस उम्मीदवार अक्षय कांति बम ने नामांकन वापसी के आखिरी दिन अपना पर्चा वापस ले लिया था और वो बीजेपी में शामिल हो गए थे। इस सीट पर कॉन्ग्रेस का कोई उम्मीदवार ही नहीं था। ऐसे में कॉन्ग्रेस पार्टी ने नोटा को वोट देने की मुहिम चलाई, जिसकी वजह से नोटा को 2 लाख से ज्यादा वोट मिले।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -