Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीति'मैं मोदी को मार सकता हूँ, गाली भी दे सकता हूँ': महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस अध्यक्ष...

‘मैं मोदी को मार सकता हूँ, गाली भी दे सकता हूँ’: महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले का रैली में विवादित बयान, वीडियो वायरल

"मैं बहस क्यों कर रहा हूँ। मैं पिछले 30 साल से राजनीति में सक्रिय हूँ, लेकिन एक भी स्कूल मेरे नाम पर नहीं है। मैं हमेशा सबकी मदद करता हूँ। मैं मोदी को मार सकता हूँ, उन्हें गाली भी दे सकता हूँ।"

महाराष्‍ट्र कॉन्ग्रेस अध्‍यक्ष नाना पटोले (Nana Patole) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर वि‍वादित बयान दिया है। भंडारा जिले में एक प्रचार रैली के दौरान रविवार (16 जनवरी 2022) को पटोले ने कहा, “मैं मोदी को मार सकता हूँ और उनको गाली भी दे सकता हूँ।” यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। बता दें कि भंडारा जिले में मंगलवार को जि‍ला परिषद का चुनाव होना है।

कॉन्ग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने प्रचार रैली के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, “मैं बहस क्यों कर रहा हूँ। मैं पिछले 30 साल से राजनीति में सक्रिय हूँ, लेकिन एक भी स्कूल मेरे नाम पर नहीं है। मैं हमेशा सबकी मदद करता हूँ। मैं मोदी को मार सकता हूँ, उन्हें गाली भी दे सकता हूँ। इसलिए मोदी मेरे खिलाफ प्रचार करने आए। एक ईमानदार नेतृत्व आपके समक्ष खड़ा है।”

वहीं, नाना पटोले के आपत्तिजनक बयान को लेकर विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने उन्हें आड़े हाथों लिया है। प्रवीण दरेकर ने कहा क‍ि पीएम मोदी को लेकर पटोले का बयान सही नहीं है। इस मामले की जाँच होनी चाहिए। गौरतलब है कि अपने विवादित बयानों के कारण नाना पटोले अक्सर सुर्खियों में बने रहते हैं। वह कई बार महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार पर बयान देकर उद्धव सरकार की मुश्किलें बढ़ा चुके हैं।

बता दें कि ये वही नाना पटोले हैं, जिन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बगावत करने के बाद भाजपा छोड़ दी थी और फिर कॉन्ग्रेस में शामिल हो गए थे। पटोले वर्ष 2014 में भाजपा के टिकट पर भंडारा-गोंदिया लोकसभा क्षेत्र से जीत कर सांसद बने थे। दिसम्बर 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव से ऐन पहले नाना पटोले ने पार्टी से बगावत कर दी थी। उन्होंने न सिर्फ़ पार्टी की प्राथमिक सदस्यता, बल्कि लोकसभा से भी इस्तीफा दे दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हिंदुओं का गला रेता, महिलाओं को नंगा कर रेप: जो ‘मालाबर स्टेट’ माँग रहे मुस्लिम संगठन वहीं हुआ मोपला नरसंहार, हमें ‘किसान विद्रोह’ पढ़ाकर...

जैसे मोपला में हिंदुओं के नरसंहार पर गाँधी चुप थे, वैसे ही आज 'मालाबार स्टेट' पर कॉन्ग्रेसी और वामपंथी खामोश हैं।

जूलियन असांजे इज फ्री… विकिलीक्स के फाउंडर को 175 साल की होती जेल पर 5 साल में ही छूटे: जानिए कैसे अमेरिका को हिलाया,...

विकिलीक्स फाउंडर जूलियन असांजे ने अमेरिका के साथ एक डील कर ली है, इसके बाद उन्हें इंग्लैंड की एक जेल से छोड़ दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -