Saturday, July 31, 2021
Homeराजनीतिमस्जिद और ईदगाहों में नहीं होगी बकरीद की नमाज: महाराष्ट्र सरकार ने प्रतीकात्मक कुर्बानी...

मस्जिद और ईदगाहों में नहीं होगी बकरीद की नमाज: महाराष्ट्र सरकार ने प्रतीकात्मक कुर्बानी की अपील की

इससे पहले महाराष्ट्र सरकार में कॉन्ग्रेस मंत्री असलम शेख लगातार बकरीद पर मुस्लिम समुदाय को छूट दिलवाने के लिए सरकार पर दबाव बना रहे थे और उप मुख्यमंत्री अजीत पवार के साथ बैठक तक की बातें कर रहे थे। इसके अलावा कॉन्ग्रेस नेता व पूर्व मंत्री आसिफ नसीम खान ने मुख्यमंत्री से पत्र लिख कर छूट की अपील की थी।

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि इस बार बकरीद की नमाज मस्जिदों या फिर ईदगाह में नहीं पढ़ी जाएगी। इन्हें केवल घरों में रहकर अता किया जाएगा। इसके अलावा सरकार ने कहा है कि अभी हर बाजार बंद है। इसलिए अगर नागरिक पशु खरीदना चाहते हैं तो वे ऑनलाइन खरीदारी करें।

प्रदेश के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि महाराष्ट्र में किसी भी धार्मिक कार्यक्रम की अनुमति नहीं है इसलिए सभी को घरों के भीतर ही नमाज अदा करने के लिए कहा गया है। लोगों को नमाज पढ़ने के लिए मस्जिद जाने की मनाही है। इस वक्त सभी पशु बाजार और मीट मार्केट बंद हैं इस वजह से इन्हें ऑनलाइन ही मँगाया जा सकता है।

इसके अलावा महाराष्ट्र सरकार की तरफ से बकरीद पर जारी गाइडलाइन्स में प्रतीकात्मक कुर्बानी देने की अपील भी की गई है। कहा गया है कि कंटेनमेंट जोन में किसी भी तरह की रियायत नहीं दी जाएगी। पूरे राज्य में बकरीद के किसी भी धार्मिक जुटान की सख्त मनाही की गई है।

गौरतलब है कि इससे पहले महाराष्ट्र सरकार में कॉन्ग्रेस मंत्री असलम शेख लगातार बकरीद पर मुस्लिम समुदाय को छूट दिलवाने के लिए सरकार पर दबाव बना रहे थे और उप मुख्यमंत्री अजीत पवार के साथ बैठक तक की बातें कर रहे थे। इसके अलावा कॉन्ग्रेस नेता व पूर्व मंत्री आसिफ नसीम खान ने मुख्यमंत्री से पत्र लिख कर छूट की अपील की थी

उन्होंने लिखा था “जैसे सरकार ने गणेशोत्सव मनाने की छूट दी है। वैसे ही हम अपील करते हैं कि उपयुक्त रोक के साथ मुस्लिम समुदाय को ईद उल अदहा मनाने की अनुमति दी जाए।” उन्होंने कहा था कि इस गुहार पर सीएम प्राथमिकता के साथ निर्णय लें ताकि मुस्लिम समुदाय अपना त्योहार मना पाए।

यहाँ बता दें कि महाराष्ट्र इस वक्त भारत में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है। मुंबई में भले ही कोरोना के नए मामलों की संख्या कम हुई हो लेकिन प्रदेश के अन्य जिलों में तेजी से केस बढ़ रहे हैं। इसी के मद्देनजर गृहमंत्री ने बकरीद के लिए भी ये निर्देश जारी किए हैं। 17 जुलाई तक राज्य में मरीजों की संख्या 3 लाख के करीब पहुँच गई है। कुल संक्रमितों की संख्या वहाँ 284281 है। इनमें से 158140 वर्तमान में सक्रिय है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe