Friday, August 19, 2022
Homeराजनीति'त्रिपुरा में जो घटा ही नहीं, उस पर महाराष्ट्र में दंगे, मुस्लिम भीड़ ने...

‘त्रिपुरा में जो घटा ही नहीं, उस पर महाराष्ट्र में दंगे, मुस्लिम भीड़ ने मचाया उत्पात’: ठाकरे सरकार के गृहमंत्री ने की शांति की अपील

"त्रिपुरा में जो घटना ही नहीं घटी, उसको लेकर जिस तरह से महाराष्ट्र में दंगे हो रहे हैं। ये बिल्कुल गलत है। त्रिपुरा में जिस मस्जिद को जलाए जाने की अफवाह उड़ाई गई, वहाँ की पुलिस ने उस मस्जिद की फोटो जारी की है। इसके इलावा सोशल मीडिया पर सर्कुलेट की जा रही फेक फोटो का भी पर्दाफाश किया है।"

पिछले महीने त्रिपुरा में हुई घटना के नाम पर महाराष्ट्र सुलगने लगा है। राज्य के तीन शहरों अमरावती, नांदेड़ और मालेगाँव में शुक्रवार को कट्टरपंथी मुस्लिमों की उन्मादी भीड़ ने जमकर उत्पात मचाया और हिंदुओं को टारगेट कर हमले किए। यह सिलसिला आज (शनिवार, 13 नवंबर 2021) को भी जारी रहा। इसी कड़ी में आज हिंदू संगठनों ने भी बंद का आह्वान किया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, कट्टरपंथी दंगाइयों की भीड़ द्वारा मचाए गए उत्पात के बाद महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए इस घटना की निंदा की। पाटिल के मुताबिक, उन्होंने इस मामले में अमरावती की सांसद नवनीत राणा और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस से भी शांति बहाली को लेकर मदद माँगी है।

इस बीच एक वीडियो जारी कर सांसद नवनीत राणा ने भी घटना की निंदा करते हुए नेताओं और नागिरकों से शांति बनाए रखने की अपील की है। इसके साथ ही उन्होंने राज्य के मंत्रियों से इस मामले पर सियासी रोटी नहीं सेंकने की अपील भी की है।

रिपोर्ट के मुताबिक, अमरावती के हालात नाजुक बने हुए हैं। हिंसक विरोध के चलते पुलिस ने लाठीचार्ज के साथ ही जिले में कर्फ्यू लगा दिया है। इस मामले में 20 एफआईआर और 20 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। अधिकारियों के मुताबिक, शुक्रवार को करीब 8,000 मुस्लिमों की भीड़ त्रिपुरा के मामले में अमरावती के जिलाधिकारी कार्यालय को ज्ञापन सौंपने के लिए निकली थी।

फडणवीस ने की शांति बनाए रखने की अपील

बीजेपी नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र में उन्मादी मुस्लिमों की भीड़ द्वारा मचाए गए उत्पात की निंदा करते हुए कहा, “त्रिपुरा में जो घटना ही नहीं घटी, उसको लेकर जिस तरह से महाराष्ट्र में दंगे हो रहे हैं। ये बिल्कुल गलत है। त्रिपुरा में जिस मस्जिद को जलाए जाने की अफवाह उड़ाई गई, वहाँ की पुलिस ने उस मस्जिद की फोटो जारी की है। इसके इलावा सोशल मीडिया पर सर्कुलेट की जा रही फेक फोटो का भी पर्दाफाश किया है।”

बीजेपी नेता ने आगे कहा, “महाराष्ट्र में जिस प्रकार से मोर्चे निकाले गए और उनमें जिस तरह की हिंसा हुई और उसमें हिंदुओं की दुकानों को जलाने की कोशिश की गई। हम इस घटना की निंदा करते हैं।”

इसके साथ ही फडणवीस ने अमरावती में कल मुस्लिमों द्वारा किए दंगे के बाद आज मोर्चे निकाले गए उसकी भी निंदा करते हुए इसे सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने वाली घटना करार दिया। उन्होंने लोगों से हिंसा नहीं करने की अपील की। बीजेपी नेता ने राज्य की सत्ताधारी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार के जो नेता स्टेज पर जाकर भड़काऊ भाषण देते हैं और उसके बाद मोर्चे निकालते हैं तो इसकी भी जाँच होनी चाहिए और इन लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए।

गौरतलब है कि त्रिपुरा की घटना के विरोध के नाम पर नांदेड़, अमरावती और मालेगाँव में मुस्लिमों की भीड़ ने जमकर दंगा किया। हिंदुओं की दुकानों में तोड़फोड़ की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘10000 महिलाओं के साथ सोया हूँ’: विरोध करने पर रेप पीड़िता से पूर्व फुटबॉलर ने कहा था, आरोप – नंगा कर के 20 मिनट...

बेंजामिन मेंडी पर रेप का आरोप लगाने वाली एक पीड़िता ने बताया कि पूर्व फुटबॉलर ने उससे कहा था कि वह 10,000 महिलाओं के साथ सो चुका है।

‘कार खरीदी, गर्लफ्रेंड्स व सब्जी वालों का धन्यवाद’: व्यंग्य को सच समझ रवीश कुमार ने दी बधाई, जवाब मिला – मजाक है, वामपंथ की...

मधुर सिंह ने कार खरीदने वाली अपनी पोस्ट में अपनी एक्स व वर्तमान गर्लफ्रेंड्स एवं सब्जी वालों को धन्यवाद दिया। रवीश कुमार व्यंग्य को समझ नहीं पाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,277FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe