Friday, June 14, 2024
Homeराजनीति'बाहर निकल कर सबूत नष्ट कर सकते हैं मनीष सिसोदिया': CBI ने कोर्ट में...

‘बाहर निकल कर सबूत नष्ट कर सकते हैं मनीष सिसोदिया’: CBI ने कोर्ट में किया जमानत अर्जी का विरोध, AAP नेता ने कहा था – पत्नी की देखभाल करनी है

मनीष सिसोदिया की जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान सीबीआई ने कहा कि सिसोदिया को जमानत मिलने के बाद सबूतों को नष्ट किया जा सकता है, जिससे जाँच प्रभावित हो सकती है।

दिल्ली के पूर्व उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की जमानत अर्जी पर मंगलवार (21 फरवरी, 2023) को सुनवाई हुई। राउज एवेन्यू कोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान सीबीआई ने सिसोदिया की जमानत का विरोध किया। मनीष सिसोदिया ने अपने जमानत अर्जी में पत्नी की बीमारी का हवाला दिया है। वहीं मनीष सिसोदिया के वकील दयाल कृष्णन ने सीबीआई की जाँच पर सवाल उठाया।

मनीष सिसोदिया की जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान सीबीआई ने कहा कि सिसोदिया को जमानत मिलने के बाद सबूतों को नष्ट किया जा सकता है, जिससे जाँच प्रभावित हो सकती है। सीबीआई के तरफ से कहा गया कि सिसोदिया ने लगातार सबूत नष्ट करने का काम किया है। सीबीआई के वकील डीपी सिंह ने अदालत को जानकारी दी कि सिसोदिया ने पूछताछ के दौरान फोन अपडेट करने के लिए नष्ट करने की बात कही थी जबकि उन्होंने चैट (सबूतों) को नष्ट करने के लिए फोन नष्ट किए।

दूसरी तरफ मनीष सिसोदिया के वकील दयाल कृष्णन ने जमानत माँगते हुए कहा कि उनकी पत्नी बीमार हैं। सिसोदिया की बीमार पत्नी की देखभाल करने वाला कोई नहीं है। बेटा विदेश में पढ़ाई कर रहा है इसलिए पूर्व डिप्टी सीएम की जिम्मेदारी है कि वे अपनी पत्नी की देखभाल करें। मनीष सिसोदिया की तरफ से कहा गया कि उन्होंने सीबीआई की जाँच और पूछ ताछ में पूरा सहयोग किया है। इसलिए मनीष सिसोदिया को हिरासत में रखकर पूछताछ की जरूरत नहीं है।

सीबीआई की तरफ से एलजी द्वारा एजेंसी को जाँच सौंपे जाने वाले दिन ही फोन बदले जाने को लेकर सवाल उठाया गया। इस पर कृष्णन ने कहाकि एलजी द्वारा मामले को सीबीआई को सौंपे जाने वाले दिन ही फोन बदला जाना सिर्फ एक संयोग है। कोर्ट में अब मामले की अगली सुनवाई 24 मार्च को दोपहर 2 बजे होगी। बता दें कि आबकारी घोटाला मामले में आम आदमी पार्टी नेता मनीष सिसोदिया को पहले सीबीआई ने गिरफ्तार किया। इसके बाद ईडी ने भी उन्हें हिरासत में ले लिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

अब तक की सबसे अधिक ऊँचाई पर पहुँचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, उधर कंगाली की ओर बढ़ा पाकिस्तान: सिर्फ 2 महीने का बचा...

एक तरफ पाकिस्तान लगातार बर्बादी की कगार पर पहुँच रहा है, तो दूसरी तरफ भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -