Monday, July 22, 2024
Homeराजनीतिकोरोना के खिलाफ जंग में एकजुट भारत, वैक्सीन को लेकर किसी भी अफवाह से...

कोरोना के खिलाफ जंग में एकजुट भारत, वैक्सीन को लेकर किसी भी अफवाह से बचें: ‘मन की बात’ में पीएम मोदी

"भारत सरकार की तरफ से सभी राज्य सरकारों को मुफ्त वैक्सीन भेजी गई है, जिसका लाभ 45 साल की उम्र के ऊपर के लोग ले सकते हैं। इसे अपने राज्य के ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाएँ।''

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर जारी किसी भी अफवाह पर ध्यान न देने की अपील की है। पीएम ने कहा कि भारत कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में एकजुट है।

पीएम मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम के 76वें एपिसोड में देश में जारी कोरोना संकट से निपटने पर जोर देते हुए लोगों से अपील की कि वे इस संकट के बारे में सही स्रोत से ही जानकारियाँ जुटाएँ।

कोरोना वैक्सीन को लेकर अफवाहों से बचें: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए अपने पुराने मंत्र को दोहराते हुए कहा, ”वैक्सीन लगवाएँ और सावधनी बरतें और ‘दवाई भी, कड़ाई भी’ के मंत्र को कभी न भूलें।”

पीएम ने कोरोना के खिलाफ जंग में वैक्सीन के महत्व को रेखांकित करते हुए लोगों से किसी भी अफवाह से बचने को कहा। पीएम मोदी ने कहा, ”कोरोना के इस संकट काल में वैक्सीन की अहमियत सभी को पता चल रही है। इसलिए मेरा आग्रह है कि वैक्सीन को लेकर किसी भी अफवाह में न आएँ।”

केंद्र करा रहा राज्य सरकारों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया: पीएम मोदी

पीएम ने कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से सभी राज्य सरकारों को मुफ्त वैक्सीन भेजी गई है और अब देश की कॉर्पोरेट सेक्टर कंपनियाँ भी अपने कर्मचारियों को वैक्सीन लगाने के अभियान में भागीदारी निभा पाएँगी।

पीएम ने कहा, “भारत सरकार की तरफ से सभी राज्य सरकारों को मुफ्त वैक्सीन भेजी गई है, जिसका लाभ 45 साल की उम्र के ऊपर के लोग ले सकते हैं। अब तो 1 मई से देश के 18 साल के ऊपर के हर व्यक्ति के लिए वैक्सीन उपलब्ध होने वाली है।”

उन्होंने कहा, ”भारत सरकार की तरफ से मुक्त वैक्सीन का जो कार्यक्रम अभी चल रहा है, वो आगे भी चलता रहेगा। मेरा राज्यों से भी आग्रह है कि वो भारत सरकार के इस मुफ्त वैक्सीन अभियान का लाभ अपने राज्य के ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाएँ।”

पीएम ने कोरोना के खिलाफ जंग में लोगों की मदद करने वाले व्यक्तियों और संस्थाओं की तारीफ की। पीएम मोदी ने कोरोना के खिलाफ जंग में देश के डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के योगदानों को रेखांकित करते हुए कहा, ”दोस्तो, देश के डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी कोरोनावायरस के खिलाफ एक बड़ी लड़ाई लड़ रहे हैं। पिछले एक साल के दौरान उनके पास इस बीमारी को लेकर हर तरह के अनुभव हैं।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काँवड़िए नहीं जान पाएँगे दुकान ‘अब्दुल’ या ‘अभिषेक’ की, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक: कहा- बताना होगा सिर्फ मांसाहार/शाकाहार के बारे में,

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कांवड़ रूट पर दुकानदारों के नाम दर्शाने वाले आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी है।

AAP विधायक की वकीलगिरी का हाई कोर्ट ने उतारा भूत: गलत-सलत लिख कर ले गया था याचिका, लग चुका है बीवी को कुत्ते से...

दिल्ली हाईकोर्ट के जज ने सोमनाथ भारती की याचिका पर कहा कि वो नोटिस जारी नहीं कर सकते, उन्हें ये समझ ही नहीं आ रहा है, वो मामला स्थगित करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -