Saturday, June 19, 2021
Home राजनीति 'अगर मोदी सच में OBC होते तो RSS उन्हें प्रधानमंत्री नहीं बनने देता': मायावती

‘अगर मोदी सच में OBC होते तो RSS उन्हें प्रधानमंत्री नहीं बनने देता’: मायावती

मायावती के अनुसार चूँकि मोदी के जन्म और बचपन के समय उनकी जाति मोद-घाँची गुजरात में ओबीसी में नहीं गिनी जाती थी इसलिए मोदी को पिछड़ी जातियों का दर्द नहीं पता होगा।

नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए मायावती ने उनकी जाति पर एक बार फिर सवाल खड़े कर दिए हैं। उन्होंने दावा किया है कि RSS उन्हें प्रधानमंत्री कतई न बनने देता अगर वे सच में पिछड़ी जाति के होते। मायावती ने प्रधानमंत्री पर जातिगत हमला जारी रखते हुए यह भी कहा वह जन्मजात पिछड़े नहीं हैं और उन्होंने ‘असली जातिवाद’ नहीं झेला है।

अखिलेश ‘असली’ पिछड़े क्योंकि ‘ऑन-पेपर’ पिछड़े

मायावती ने अपनी प्रेस-कांफ्रेंस में पिछड़े की अनूठी परिभाषा सामने रखी। उनके अनुसार चूँकि मोदी के जन्म और बचपन के समय उनकी जाति मोद-घाँची गुजरात में ओबीसी में नहीं गिनी जाती थी इसलिए मोदी को उनका दर्द नहीं पता होगा। इसके उलट अखिलेश यादव ‘ऑन-पेपर’ पिछड़े’ हैं इसलिए उनका पिछड़ापन ‘असली’ है।

हालाँकि यह बयान देते समय वह एक-दो बातें भूल गईं। पहली कि गरीब चायवाले के परिवार में पैदा होने और किशोरावस्था में ही सन्यासी हो जाने के कारण नरेंद्र मोदी का प्रारंभिक जीवन भौतिक सुख-सुविधाओं से बहुत दूर रहा, वहीं मायावती के गठबंधन-मित्र अखिलेश यादव के पिता मुलायम अखिलेश के जन्म से 4 साल पहले ही विधायक बन चुके थे; यानि सत्ता की मलाई कटने लगी थी। अखिलेश जब महज़ चार साल के थे तब मुलायम राज्य सरकार के मंत्री भी बन गए थे।

17 साल की उम्र में जहाँ मोदी हायर सेकेंडरी पास कर घर छोड़ने और देश के दूसरे ध्रुवीय कोने में स्थित कोलकाता के बेलूर मठ जाने की तैयारी कर रहे थे, वहीं उसी उम्र में मायावती के गठबंधन-मित्र अखिलेश अपने पिता के मुख्यमंत्रित्व से परिवार को मिलने वाले का आनंद उठा रहे थे।

दूसरी बात जो मायावती मोदी का राजनीतिक विरोध करते-करते भूल गईं वह यह कि अनुसूचित जाति/दलितों के उलट पिछड़ी जातियों के पिछड़ेपन के विमर्श में आर्थिक फैक्टर महत्वपूर्ण हो जाता है। अतः चाहे मोदी जन्म के समय मोद-घाँची पिछड़े रहें हों या ना रहे हों, अमीरी में पैदा हुए और पले-बढ़े अखिलेश के मुकाबले वह कहीं ज्यादा पिछड़े माने जाएँगे।

मोदी ने नहीं कराया था अपनी जाति को पिछड़ों में शामिल  

नरेंद्र मोदी के इर्द-गिर्द हो रहे राजनीतिक विमर्श को जाति तक समेटने की जल्दी में मायावती ने भूतकाल में झूठ बोलने से भी गुरेज नहीं किया है। गत 27 अप्रैल को ही उन्होंने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद अपनी जाति को ओबीसी में शामिल अपने मुख्यमंत्री रहते करा दिया था। इसका ऑपइंडिया ने फैक्ट-चेक किया था तो पाया था कि मोद-घाँचियों को अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल मोदी के मुख्यमंत्रित्व काल 2001-14 में नहीं बल्कि 1994 में ही कर दिया गया था। उस समय गुजरात के मुख्यमंत्री कॉन्ग्रेस के छबीलादास मेहता थे और मोदी तो राजनीति से ही अल्प-विराम लेकर अहमदाबाद में एक स्कूल की स्थापना में लगे थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘खाना बनाकर रखना’ कह कर घर से निकला था मुकेश, जिंदा जलाने की खबर आई: ‘किसानों’ के टेंट या गुंडई का अड्डा?

किसानों के नाम पर सड़क पर कब्जा जमाने वाले कौन हैं? इनके टेंट नशे और गुंडई के अड्डे हैं? मुकेश की विधवा के सवालों का मिलेगा जवाब?

3 मिनट में 2 विधायकों के बेटे बने अफसर: पंजाब कॉन्ग्रेस में नाराजगी को दूर करना का ‘कैप्‍टन फॉर्मुला’ – बदली अनुकंपा पॉलिसी

सांसद प्रताप सिंह बाजवा के भतीजे और विधायक फतेहजंग बाजवा के बेटे अर्जुन प्रताप सिंह बाजवा को पंजाब पुलिस में इंस्पेक्टर (ग्रेड-2) और...

‘सांसद और केरल कॉन्ग्रेस प्रमुख सुधाकरण ने मेरे बच्चों के अपहरण की साजिश रची थी’ – केरल के CM विजयन का गंभीर आरोप

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने केरल के ही पीसीसी अध्यक्ष और कॉन्ग्रेस के लोकसभा सांसद सुधाकरण पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने...

कोरोना के टीकों से बढ़ जाती है मर्दों की प्रजनन क्षमता: 26-36 से बढ़ कर 30-44 का आया रिजल्ट

शोध में पाया गया कि फाइजर, मॉडर्ना के टीके पुरुषों की प्रजनन क्षमता को प्रभावित नहीं करते। दोनों खुराक के बाद शुक्राणुओं का स्तर...

राजस्थान में रायमाता मंदिर की जमीन पर कब्जे को लेकर विवाद: आम रास्ता की बात कह प्रशासन ने 9 को किया गिरफ्तार

मंदिर के महंत दशमगिरी ने आरोप लगाया कि मंडावा विधायक रीटा चौधरी के दबाव में प्रशासन ने यह कार्रवाई की है। पुलिस ने गांगियासर के...

खीर भवानी माता मंदिर: शुभ-अशुभ से पहले बदल जाता है कुंड के जल का रंग, अनुच्छेद-370 पर दिया था खुशहाली का संकेत

हनुमान जी लंका से माता खीर भवानी की प्रतिमा को ले आए और उन्हें जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से 14 किमी दूर तुलमुल गाँव में स्थापित कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

70 साल का मौलाना, नाम: मुफ्ती अजीजुर रहमान; मदरसे के बच्चे से सेक्स: Video वायरल होने पर केस

पीड़ित छात्र का कहना है कि परीक्षा में पास करने के नाम पर तीन साल से हर जुम्मे को मुफ्ती उसके साथ सेक्स कर रहा था।

BJP विरोध पर ₹100 करोड़, सरकार बनी तो आप होंगे CM: कॉन्ग्रेस-AAP का ऑफर महंत परमहंस दास ने खोला

राम मंदिर में अड़ंगा डालने की कोशिशों के बीच तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने एक बड़ा खुलासा किया है।

‘रेप और हत्या करती है भारतीय सेना, भारत ने जबरन कब्जाया कश्मीर’: TISS की थीसिस में आतंकियों को बताया ‘स्वतंत्रता सेनानी’

राजा हरि सिंह को निरंकुश बताते हुए अनन्या कुंडू ने पाकिस्तान की मदद से जम्मू कश्मीर को भारत से अलग करने की कोशिश करने वालों को 'स्वतंत्रता सेनानी' बताया है। इस थीसिस की नजर में भारत की सेना 'Patriarchal' है।

‘…इस्तमाल नहीं करो तो जंग लग जाता है’ – रात बिताने, साथ सोने से मना करने पर फिल्ममेकर ने नीना गुप्ता को कहा था

ऑटोबायोग्राफी में नीना गुप्ता ने उस घटना का जिक्र भी किया है, जब उन्हें होटल के कमरे में बुलाया और रात बिताने के लिए पूछा।

वामपंथी नेता, अभिनेता, पुलिस… कुल 14: साउथ की हिरोइन ने खोल दिए यौन शोषण करने वालों के नाम

मलयालम फिल्मों की एक्ट्रेस रेवती संपत ने एक फेसबुक पोस्ट में 14 लोगों के नाम उजागर कर कहा है कि इन सबने उनका यौन शोषण किया है।

कम उम्र में शादी करो, एक से ज्यादा करो: अभिनेता फिरोज खान ने पैगंबर मोहम्मद का दिया उदाहरण

फिरोज खान ने कहा कि शादी सीखने का एक अनुभव है। इस्लामिक रूप से यह प्रोत्साहित भी करता है, इसलिए बहुविवाह आम प्रथा होनी चाहिए।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
104,871FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe