Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीतिअमेरिका से लौटे मोदी ने याद दिलाई सर्जिकल स्ट्राइक की वो रात, सैनिकों को...

अमेरिका से लौटे मोदी ने याद दिलाई सर्जिकल स्ट्राइक की वो रात, सैनिकों को किया सलाम

ह्यूस्टन में हुए ‘Howdy Modi’ का ज़िक्र करते हुए मोदी ने कहा कि भारतवंशी समुदाय ने भव्य रूप से अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। उन्होंने इवेंट में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प की भागीदारी का भी ज़िक्र किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार देर शाम वतन लौट आए। पालम हवाई अड्डे पर लोगों ने उनका शानदार इस्तकबाल किया। बेहद सफल अमेरिकी दौरे से लौटे प्रधानमंत्री ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि दुनिया में भारत का मान 130 करोड़ देशवासियों की वजह से बढ़ा है। उन्होंने तीन साल पहले उड़ी हमले के बाद पाकिस्तान में घुसकर किए गए भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक का भी जिक्र किया।

मोदी ने कहा, “आज 28 सितंबर है, तीन साल पहले इसी दिन मैं पूरी रात एक पल के लिए भी नहीं सोया था। हर पल इसी इंतजार में था कि टेलीफोन की घंटी कब बजेगी। तीन साल पहले देश के वीर जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक करके भारत की शान को और ताकत के साथ प्रस्तुत किया था। 28 सितंबर की उस रात को याद करते हुए, हमारे वीर जवानों को उत्साह और पराक्रम को, मौत को मुट्ठी में लेकर चले उन जवानों को प्रणाम करता हूॅं।”

2014 में प्रधानमंत्री के तौर पर अपने पहले दौरे का ज़िक्र करते हुए मोदी ने कहा कि उस समय भी वह संयुक्त राष्ट्र गए थे। अभी भी वे यूएन गए। इन पाँच सालों में उन्होंने एक बड़ा बदलाव देखा। भारत के लिए सम्मान, उत्साह में वृद्धि हुई है। यह 130 करोड़ भारतीयों के चलते ही है।

ह्यूस्टन में हुए ‘Howdy Modi’ का  ज़िक्र करते हुए मोदी ने कहा कि भारतवंशी समुदाय ने भव्य रूप से अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। उन्होंने इवेंट में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प की भागीदारी का भी ज़िक्र किया।

मोदी ने कहा, “पूरे विश्व में हिंदुस्तानी कैसे प्रभाव पैदा कर सकते हैं, ये मैंने अपनी आंखों से देखा है। मैं यहां से अमेरिका में रहने वाले भारतीयों का धन्यवाद करता हूँ। आज विश्व में भारत की आन-बान की चर्चा है। विश्व में भारत की स्वीकृति बढ़ी है। उसका श्रेय सभी भारतीयों का है।” 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

विधानसभा से मंत्री का ही वॉकआउट: छत्तीसगढ़ कॉन्ग्रेस की लड़ाई में नया मोड़, MLA ने कहा था- मेरी हत्या करा बनना चाहते हैं CM

अपनी ही सरकार के रवैये से आहत होकर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री TS सिंह देव सदन से वॉकआउट कर गए। उन पर आदिवासी विधायक ने हत्या के प्रयास का आरोप लगाया था।

2020 में नक्सली हमलों की 665 घटनाएँ, 183 को उतार दिया मौत के घाट: वामपंथी आतंकवाद पर केंद्र ने जारी किए आँकड़े

केंद्र सरकार ने 2020 में हुई नक्सली घटनाओं को लेकर आँकड़े जारी किए हैं। 2020 में वामपंथी आतंकवाद की 665 घटनाएँ सामने आईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,426FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe