Thursday, October 28, 2021
Homeराजनीतिकमलनाथ की सलाह पर मध्य प्रदेश गवर्नर ने 6 सिंधिया समर्थक मंत्रियों को किया...

कमलनाथ की सलाह पर मध्य प्रदेश गवर्नर ने 6 सिंधिया समर्थक मंत्रियों को किया बर्खास्त, बेंगलुरु से वापस भोपाल लौट रहे हैं बागी विधायक

वहीं कमलनाथ ने भी विधानसभा में सरकार के फ्लोर टेस्ट से पहले बागी विधायकों को बेंगलुरु से वापस बुलाने की माँग की थी। कमलनाथ ने शुक्रवार को राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात की थी जिसमें उन्होंने राज्यपाल को एक पत्र सौंपा। इसमें उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी विधायकों की खरीद-फरोख्‍त कर रही है।

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने मुख्यमंत्री कमलनाथ की सिफारिश पर उन सभी 6 मंत्रियों को उनके पद से हटा दिया है जो सिंधिया के समर्थन में पार्टी से बगावत कर चुके हैं। जिन 6 सिंधिया समर्थक मंत्रियों को कमलनाथ मंत्रिमंडल से बर्खास्त किया गया है, उनके विभाग दूसरे मंत्रियों को दे दिए गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इन बर्खास्त किए गए मंत्रियों में इमरती देवी, तुलसीराम सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, महेन्द्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युमन सिंह तोमर और डॉ. प्रभुराम चौधरी शामिल हैं।

भोपाल के इस घटनाक्रम के बीच कॉन्ग्रेस से बागी हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा की ओर से राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन पत्र भरते ही उनके समर्थक कॉन्ग्रेस विधायकों के भी बेंगलुरु से भोपाल रवाना होने की खबर आ रही हैं। सिंधिया के एक करीबी समर्थक ने एक न्यूज एजेंसी को बताया कि बेंगलुरु में ठहरे सिंधिया समर्थक विधायकों में से अधिकतर विधायक बेंगलुरु से रवाना हो चुके हैं।

वहीं कमलनाथ ने भी विधानसभा में सरकार के फ्लोर टेस्ट से पहले बागी विधायकों को बेंगलुरु से वापस बुलाने की माँग की थी। कमलनाथ ने शुक्रवार (मार्च 13, 2020) को राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात की थी जिसमें उन्होंने राज्यपाल को एक पत्र सौंपा। इसमें उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी विधायकों की खरीद-फरोख्‍त कर रही है।

उन्‍होंने राज्‍यपाल से अनुरोध किया था कि वह ‘बेंगलुरु में बंधक बनाए गए विधायकों को मुक्‍त कराएँ।’ इसके साथ ही कमलनाथ ने राज्यपाल से विधानसभा के आगामी सत्र में अध्यक्ष द्वारा निर्धारित तिथि पर फ्लोर टेस्ट की माँग की थी। यह मुलाकात शुक्रवार को इन विधायकों के भोपाल पहुँचने से पहले हुई थी जिसमें उन्होंने सिंधिया समर्थक 6 मंत्रियों को हटाए जाने की सिफारिश की थी। खबरों के अनुसार एयरपोर्ट के बाहर कॉन्ग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियों के कार्यकर्ताओं के भारी संख्या में मौजूदगी को देखते हुए प्रशासन ने एयरपोर्ट के बाहर धारा 144 लगा दी है। भोपाल पहुँचने से पहले बागी विधायक ‘कमलनाथ सरकार गई, गई, गई…’ के नारे लगाते दिखे।

फिलहाल सत्तासीन कॉन्ग्रेस के 114 में से 22 विधायकों ने इस्तीफे दे दिए हैं। अगर इस्तीफे स्वीकार कर लिए गए तो कमलनाथ सरकार का गिरना तय है। इस्तीफा देने वाले कॉन्ग्रेस विधायकों में से 6 आज स्पीकर एनपी प्रजापति से मिलेंगे। स्पीकर ने नोटिस जारी कर इन विधायकों को हाजिर होने के लिए कहा था। इनमें से 6 विधायकों को शुक्रवार, 7 को शनिवार और बाकी 9 विधायकों को रविवार को उपस्थित होना है। स्पीकर ने इन विधायकों से मिलकर इस्तीफे की सत्यता बताने को कहा था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बॉम्बे हाई कोर्ट से आर्यन खान को मिली जमानत, 3 अक्टूबर को क्रूज पर रेड के बाद किए गए थे गिरफ्तार

बॉम्बे हाई कोर्ट ने लगातार तीन दिन की सुनवाई के बाद आर्यन खान को जमानत दी है। अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा को भी जमानत दी गई है।

‘वर्ल्ड कप में ये ड्रामे होते हैं, दिखावे की जरूरत नहीं’: क्विंटन डिकॉक ने डिटेल में बताया क्यों नहीं टेका घुटना

डिकॉक ने बयान में कहा कि जब भी सब वर्ल्ड कप में जाते हैं तो ऐसा कोई न कोई ड्रामा होता ही है। ये चीजें अच्छी बात नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
132,529FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe