Monday, August 2, 2021
Homeराजनीतिमूसा-बुरहान वानी की ज़मीन है त्राल: BJP से आगाह कर बोले उमर अब्दुल्ला

मूसा-बुरहान वानी की ज़मीन है त्राल: BJP से आगाह कर बोले उमर अब्दुल्ला

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि चुनाव का बहिष्कार करना खतरनाक हो सकता है, क्योंकि भाजपा की कुछ सीटों पर नजर गड़ी हुई है। अगर मतदाताओं ने बहिष्कार किया तो वही हाल हो सकता है जो लोकसभा चुनाव में हुआ था।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने त्राल को आतंकी बुरहान वानी और जाकिर मूसा की जमीन बताया है। लोगों से चुनाव का बहिष्कार नहीं करने और भाजपा से सावधान रहने की अपील करते हुए उन्होंने यह बात कही।

श्रीनगर में एक रैली को संबोधित करते हुए नेशनल कॉन्फ्रेन्स के उपाध्यक्ष उमर ने आतंकियों का महिमामंडन करने वाला यह बयान दिया। उन्होंने कहा कि त्राल से एक बीजेपी विधायक को जीत मिली जहां का बुरहान वानी और जाकिर मूसा रहने वाला था। अब उनकी (बीजेपी) नजरें कुछ और दूसरी विधानसभाओं पर है।

उमर अब्दुल्ला ने कहा, “हमें इन साज़िशों से लड़ना होगा। हम कमज़ोर होते हुए भी इन साज़िशों से नहीं लड़ सकते। हमें शक्तिशाली होने की ज़रूरत है। फारूक अब्दुल्ला ने केवल 10 फ़ीसदी वोट हासिल करके चुनाव जीता। मैं उन्हें बताना चाहूँगा कि यह उनकी विफलता का प्रमाण है कि केवल 10 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया।”

अब्दुल्ला ने यह कहते हुए त्राल के मतदाताओं को रिझाने का प्रयास किया कि वे चुनाव का बहिष्कार न करें। उन्होंने कहा, मतदान का बहिष्कार करना एक ख़तरनाक स्थिति है। अगर मतदाताओं ने बहिष्कार किया तो वही हाल हो सकता है जो लोकसभा चुनाव में हुआ था। उन्होंने ज़ोर देते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव में उस इतिहास को दोहराना नहीं है।

यहाँ इस बात का उल्लेख करना जरूरी है कि पिछले साल, नेशनल कॉन्फ्रेन्स और पीडीपी दोनों ने जम्मू और कश्मीर में स्थानीय निकाय चुनावों का बहिष्कार किया था।

अनंतनाग ज़िले के कोकेरनाग क्षेत्र में 2016 में एक मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी को सशस्त्र बलों ने मार गिराया था। 23 मई, 2019 को अंसार ग़ज़ावत उल-हिंद के तथाकथित प्रमुख ज़ाकिर मूसा मारा गया था। मूसा अल-क़ायदा का कश्मीर प्रमुख था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,543FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe