Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतिझगड़ा PM मोदी और BJP से... लेकिन भुगत रहे बंगाल के 72 लाख किसान:...

झगड़ा PM मोदी और BJP से… लेकिन भुगत रहे बंगाल के 72 लाख किसान: ममता कर रहीं ओछी राजनीति

बंगाल में 72 लाख से ज्यादा किसान हैं, जिन्हें ममता सरकार के कारण 6000 रुपए नहीं मिल पाए। बंगाल एकमात्र ऐसा राज्य है, जो योजनाओं का लाभ किसानों तक नहीं पहुँचने दे रहा।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (दिसंबर 25, 2020) पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) के तहत देश भर के किसानों को वित्तीय लाभ की किस्त जारी कर दी। एक बटन दबाकर आज पीएम ने 9 करोड़ से अधिक किसानों के खातों में 18 हजार करोड़ रुपए की मदद ट्रांसफर की। 

ऐसे में भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि बंगाल में 72 लाख से ज्यादा किसान हैं, जिन्हें इस स्कीम का फायदा मिलना था, लेकिन ममता सरकार के कारण ऐसा संभव नहीं हो सका। पीएम मोदी ने भी अपनी बात रखते हुए बंगाल सीएम की नीयत का पर्दाफाश किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों से बातचीत के दौरान ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा, “अगर बंगाल आपकी धरती है तो आपने बंगाल में किसानों को केंद्र सरकार की योजना से होने वाले लाभ से क्यों वंचित रखा? अब आप उठ कर पंजाब पहुँच गए? आपको क्या लगता है लोग इसे भूल जाएँगे।”

उन्होंने कहा कि बंगाल के किसानों को केंद्र की योजनाओं के लाभ से वंचित रखा गया। बंगाल एकमात्र ऐसा राज्य है, जो योजनाओं का लाभ किसानों तक नहीं पहुँचने दे रहा। ममता बनर्जी की विचारधारा ने बंगाल को बर्बाद कर दिया है। अपनी बात रखते हुए पीएम ने उस विचारधारा को भी कोसा, जिसके कारण आज बंगाल का विकास रुका हुआ है

बता दें कि बंगाल में किसान सम्मान निधि न लागू करने पर भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजय वर्गीय ने भी ममता बनर्जी को आड़े हाथों लिया। उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल की सीएम द्वारा सूची न देने के कारण बंगाल के 72 लाख किसान आज पीएम किसान सम्मान निधि मिलने से वंचित हुए हैं। उन्होंने पूछा, “ममता बनर्जी, आपका झगड़ा पीएम मोदी और भाजपा से है, पर उसका बदला बंगाल के किसानों से क्यों? आखिर पश्चिम बंगाल के किसानों ने आपका क्या बिगाड़ा है”

अपने अगले ट्वीट में उन्होंने ममता बनर्जी को ओछी राजनीति के लिए दुत्कारते हुए कहा, “पश्चिम बंगाल के 72 लाख किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि से ममता बनर्जी की ओछी राजनीति ने वंचित रखा हैं, 23 लाख किसानों ने केंद्र सरकार के PMKISAN पोर्टल पर पंजीकृत करवा कर दिखा दिया कि उन्हें इस मदद की कितनी ज़रूरत हैं। बंगाल के किसानो को 9800 करोड़ से वंचित रख रखा हैं। शर्म करो ममता बनर्जी”

उल्लेखनीय है कि इससे पहले गृहमंत्री अमित शाह ने बंगाल में किसानों को मदद न पहुँचा पाने के लिए सीएम ममता को जिम्मेदार बताया था। उन्होंने कहा था कि देश कहा था कि देश 10 करोड़ किसानों को डेढ़ सालों में 95 हजार करोड़ की सहायता दी गई है। लेकिन बंगाल के किसानों को इसका लाभ नहीं मिला, क्योंकि उनकी सूची ही ममता सरकार द्वारा केंद्र को नहीं दी गई। उन्होंने पूछा था कि आखिर ममता बनर्जी क्यों नहीं चाहती कि बंगाल के किसानों को 6 हजार रुपए नहीं मिलना चाहिए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेट्रोल-डीजल के बाद पानी-बस किराए की बारी, कर्नाटक में जनता पर बोझ खटाखट: कॉन्ग्रेस की ‘रेवड़ी’ से खजाना खाली, अब कमाई के लिए विदेशी...

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार की रेवड़ी योजनाएँ राज्य को महँगी पड़ रही हैं। पेट्रोल-डीजल के बाद अब पानी के दाम और बसों के किराए बढ़ाने की योजना है।

पूरी हुई 832 साल की प्रतीक्षा, राष्ट्र को PM मोदी ने समर्पित की नालंदा की विरासत: कहा- आग की लपटें ज्ञान को नहीं मिटा...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार के राजगीर में नालंदा विश्वविद्यालय के नए परिसर का उद्धघाटन किया। नया परिसर नालंदा विश्वविद्यालय के प्राचीन खंडहरों के पास है

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -