Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीतिपैगंबर मामले में NSA अजीत डोभाल ने नहीं कहा 'सबक सिखाएँगे', ईरान ने वापस लिया...

पैगंबर मामले में NSA अजीत डोभाल ने नहीं कहा ‘सबक सिखाएँगे’, ईरान ने वापस लिया बयान: विदेश मंत्रालय ने बताया क्या हुई बात

ईरान की ओर से डोभाल को कोट करते हुए एक बयान भी जारी किया था। लेकिन ईरानी विदेश मंत्रालय की बेवसाइट पर जारी इस बयान से बाद में इस दावे से जुड़ी लाइनें भी हटा ली गईं।

ईरान ने वह बयान वापस ले लिया है जिसमें दावा किया गया था कि भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने पैंगबर मुहम्मद का अपमान करने वालों को सबक सिखाने का भरोसा दिलाया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने भी विस्तार से बताया है कि ईरानी विदेश मंत्री डॉ. हुसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन (Dr. Hossein Amir Abdollahian) के साथ क्या बातचीत हुई।

ईरानी विदेश मंत्री तीन दिवसीय भारत यात्रा पर हैं। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा है कि यह यात्रा दोनों देशों के ऐतिहासिक संबंधों और साझेदारी को और मजबूती देगी। साथ ही बताया कि दिल्ली में विदेश मंत्री एस जयशंकर और उनके ईरानी समकक्ष के बीच कई मुद्दों पर चर्चा हुई, लेकिन इस दौरान पैगंबर मुहम्मद के कथित अपमान पर कोई चर्चा नहीं हुई। बागची ने कहा कि कुछ लोगों की टिप्पणियाँ और ट्वीट्स भारत सरकार के विचारों को नहीं दर्शाती है।

बागची ने 9 जून 2022 को मीडिया को बताया, “हमने यह स्पष्ट कर दिया है कि कुछ लोगों के ट्वीट और टिप्पणियाँ सरकार के विचारों को नहीं दर्शाती हैं। यह हमारे वार्ताकारों को भी बता दिया गया है और यह तथ्य भी है कि संबंधित लोगों द्वारा की गई टिप्पणी और ट्वीट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इस मुलाकात के दौरान इस मुद्दे को नहीं उठाया गया था।”

ईरानी विदेश मंत्रालय के उस ट्वीट को लेकर भी बागची से सवाल पूछा गया, जिसमें पैगंबर मुहम्मद मामले में एनएसए अजीत डोभाल और डॉ. हुसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन के बीच कथित बातचीत का हवाला दिया गया था। जवाब में उन्होंने कहा, “जहाँ तक ​​चर्चा की बात है एनएसए और ईरानी मंत्री के बीच काफी अच्छे संबंध है। मैं उस पर कोई टिप्पणी नहीं करूँगा। लेकिन आप जिस सोशल मीडिया पोस्ट का जिक्र कर रहे हैं, कृपया उसे एक बार फिर से चेक कर लें, पोस्ट को उन्होंने पहले ही हटा लिया है।”

ईरान ने दावा किया था कि एनएसए डोभाल ने ईरानी मंत्री के साथ अपनी बैठक के दौरान कहा था कि वह पैगबंर का अपमान करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा देंगे, जिससे अन्य लोग भी सबक लेंगे। ईरान की ओर से डोभाल को कोट करते हुए एक बयान भी जारी किया था। लेकिन ईरानी विदेश मंत्रालय की बेवसाइट पर जारी इस बयान से बाद में इस दावे से जुड़ी लाइनें भी हटा ली गई हैं।

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पैगंबर मोहम्मद पर की गई कथित विवादित टिप्पणी के लिए रविवार (5 जून, 2022) को राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया था, वहीं दिल्ली इकाई के मीडिया प्रमुख नवीन कुमार जिंदल को पार्टी से निष्कासित कर दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -