Friday, June 14, 2024
Homeराजनीति₹5 से लेकर ₹2000 तक… BJP को ऐसे दे सकते हैं चंदा: लोकसभा चुनाव...

₹5 से लेकर ₹2000 तक… BJP को ऐसे दे सकते हैं चंदा: लोकसभा चुनाव 2024 से पहले चंदा ड्राइव में PM मोदी ने भी दिया योगदान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी के 'डोनेशन पर नेशन बिल्डिंग' मुहिम के तहत पार्टी को 2000 रुपए का चंदा दिया। आम लोग भी बीजेपी को चंदा दे सकते हैं, इसके लिए नमो ऐप पर जाना होगा।

भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2024 को देखते हुए चंदा इकट्ठा करने का अभियान चलाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अभियान के तहत खुद भी पार्टी फंड में दान किया है और लोगों से भी राष्ट्र निर्माण के लिए बीजेपी को चंदा देने की अपील की है। इसके लिए नमो ऐप पर खास ऑप्शन भी दिया गया है, जिसके जरिए न सिर्फ बीजेपी कार्यकर्ता बल्कि आम लोग भी पार्टी को चंदा दे सकते हैं।

पीएम मोदी ने ‘डोनेशन फॉर नेशन बिल्डिंग’ मुहिम में दिया दान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी के ‘डोनेशन पर नेशन बिल्डिंग’ मुहिम के तहत पार्टी को 2000 रुपए का चंदा दिया। उन्होंने अपने एक्स अकाउंट पर इस चंदे की स्लिप को पोस्ट करते हुए लिखा, “मुझे भाजपा में योगदान देने और विकसित भारत के निर्माण के हमारे प्रयासों को मजबूत करने में खुशी हो रही है। मैं सभी से NaMoApp के माध्यम से राष्ट्र निर्माण के लिए डोनेशन का हिस्सा बनने का भी आग्रह करता हूँ।”

इतना ही नहीं जनता भी पार्टी के लिए चंदा दे सके, इसके लिए पीएम ने अपनी पोस्ट में NaMoApp का एक लिंक भी साझा किया है। इस लिंक पर जाकर आप सीधे बीजेपी को चंदा दे सकते हैं। जब आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे, तो सामने एक पेज खुलकर आएगा। यहाँ मौजूद इस फॉर्म में डोनेशन देने वाले को अपनी सारी जरूरी डिटेल्स भरनी हैं और उसके बाद अपने डोनेशन की रकम भरनी है और फिर एक्सेप्ट पर क्लिक कर देना है। इसे समझाने के लिए स्क्रीनशॉट भी दिया गया है।

नमो ऐप का स्क्रीनशॉट

वेबसाइट पर इन स्टेप्स में कर सकते हैं डोनेशन: सबसे पहले तो आपको https://www.narendramodi.in/donation/ पर जाना होगा। यहाँ से कुछ ही क्लिक में आप डोनेशन कर सकते हैं। पूरी प्रोसेस इस तरह से है…

सबसे पहले Enter Amount सेक्शन में जो भी राशि आप दान करना चाहते हैं वो सलेक्ट करें।

इसके बाद Enter your details में अपना नाम, Mobile Number, Email ID भरें।

इसके बाद Select your State सेक्शन में अपना राज्य चुनें।

इसके बाद Select your City में अपना शहर चुनें।

फिर Cause for donation में Party Fund चुनें।

इसके बाद Referral Code (Optional) रेफरल कोड डालें।

फिर Enter your Remark में अपना रिमार्क लिखें।

इसके बाद Make the donation में दिए गए डिक्लेरेशन को सेलेक्ट करके ACCEPT AND PROCEED पर क्लिक कर दें।

राजनीतिक पार्टियों को चंदा देने वालों को टैक्स में छूट मिलती है। इस तरह से बीजेपी को भी दान देने वाले दान दाताओं को इनकम टैक्स एक्ट 1961 के तहत आयकर में छूट दी जाएगी।

बता दें कि पीएम मोदी के साथ ही बीजेपी के कई और नेताओं ने पार्टी के डोनेशन फॉर नेशन बिल्डिंग कैंपेन के तहत चंदा दिया है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने 1 मार्च को इस अभियान की शुरुआत की थी। जेपी नड्डा ने एक्स पर एक पोस्ट में लिखा, ‘मैंने भारत को विकसित भारत बनाने के लिए पीएम मोदी के विजन को अपना व्यक्तिगत समर्थन देने के लिए बीजेपी को चंदा दिया है। आइए हम सभी आगे आएं और नमो ऐप का उपयोग कर DonationForNationBuilding जन आंदोलन में शामिल हों।’

चुनाव आयोग के आँकड़ों से पता चला है कि भाजपा वित्तीय वर्ष 2022-2023 में 719 करोड़ रुपये की फंडिंग इकट्ठा करने में कामयाब रही, जो पिछले वर्ष की तुलना में 17 प्रतिशत अधिक है। उसे 2021-2022 में 614 करोड़ रुपये का चंदा मिला था। चूँकि अब इलेक्टोरल बॉन्ड पर रोक लग गई है, ऐसे में पार्टी के कामकाज पर कोई फर्क न पड़े, इसके लिए बीजेपी ने समय से अपनी तैयारियाँ शुरू कर दी है और चंदा अभियान चला दिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -