Sunday, June 23, 2024
Homeराजनीतिबेट द्वारका के द्वारकाधीश मंदिर जाना हुआ आसान: PM मोदी ने भारत के सबसे...

बेट द्वारका के द्वारकाधीश मंदिर जाना हुआ आसान: PM मोदी ने भारत के सबसे लंबे केबल ब्रिज ‘सुदर्शन पुल’ का किया उद्धाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने शनिवार (24 फरवरी 2024) से अपने गृह राज्य गुजरात के दौरे पर हैं। वे रविवार (25 फरवरी 2024) की सुबह बेट द्वारका मंदिर पहुँचे और भगवान द्वारकाधीश का दर्शन-पूजन किया। मंदिर से लौटकर पीएम मोदी ने केबल आधारित भारत के सबसे लंबे पुल 'सुदर्शन सेतु' का उद्घाटन किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने शनिवार (24 फरवरी 2024) से अपने गृह राज्य गुजरात के दौरे पर हैं। वे रविवार (25 फरवरी 2024) की सुबह बेट द्वारका मंदिर पहुँचे और भगवान द्वारकाधीश का दर्शन-पूजन किया। मंदिर से लौटकर पीएम मोदी ने केबल आधारित भारत के सबसे लंबे पुल ‘सुदर्शन सेतु’ का उद्घाटन किया। लगभग 980 करोड़ रुपए की लागत से 2.32 किलोमीटर लंबा बना यह केबल ब्रिज ओखा को बेट द्वारका द्वीप से जोड़ता है।

सुदर्शन सेतु द्वारकाधीश मंदिर में आने वालों के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित होगा। इसके साथ ही ओखा मेनलैंड को बेट द्वारका द्वीप से जोड़ने से इस क्षेत्र में कनेक्टिविटी को बढ़ावा मिलेगी। सुदर्शन सेतु के निर्माण से पहले तीर्थयात्रियों को बेयत, द्वारकाधीश मंदिर तक पहुँचने के लिए नाव का सहारा लेना पड़ता था। बेट द्वारका ओख बंदरगाह के पास एक द्वीप है, जो द्वारका से 30 किलोमीटर दूर है।

सुदर्शन सेतु को भगवद्गीता के श्लोकों और दोनों तरफ भगवान कृष्ण की छवियों से सजाया गया है। चार लेन वाले इस सिग्नेचर ब्रिज पर दोनों तरफ 50 मीटर चौड़े फुटपाथ हैं। फुटपाथ के ऊपरी हिस्सों पर सौर पैनल लगाए गए हैं, जो 1 मेगावाट बिजली भी पैदा करते हैं। बता दें कि पीएम मोदी ने अक्टूबर 2017 में इस पुल की नींव रखी थी। इस पुल से लक्षद्वीप के लोगों को भी लाभ मिलेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुजरात में अलग-अलग जगहों पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में शामिल होंगे। इस दौरान वे 52,250 करोड़ रुपए से अधिक की विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे। जिन परियोजनाओं की वे आधारशिला रखेंगे उनमें स्वास्थ्य, सड़क, रेल, ऊर्जा, पर्यटन, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस जैसे क्षेत्र शामिल हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राजकोट, बठिंडा, रायबरेली, कल्याणी और मंगलागिरी में नवनिर्मित एम्स भी राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इसके अलावा वे नई मुंद्रा-पानीपत पाइपलाइन परियोजना की आधारशिला भी रखेंगे। वह राजकोट-ओखा, राजकोट-जेतलसर-सोमनाथ और जेतलसर-वांसजालिया रेल विद्युतीकरण परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 11,500 करोड़ रुपए से अधिक की 200 से अधिक स्वास्थ्य देखभाल परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे और राष्ट्र को समर्पित करेंगे। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल शाम (24 फरवरी 2024) को गुजरात पहुँचे थे। उन्होंने देर रात जामनगर में रोड शो भी किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

NEET पीपर लीक की जाँच अब CBI के हवाले, केंद्रीय जाँच एजेंसी ने दर्ज की FIR: PG की परीक्षा के लिए नई तारीखों का...

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से बताया गया कि विवाद की समीक्षा के बाद मंत्रालय ने मामले की व्यापक जाँच के लिए इसे सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -