Friday, July 30, 2021
Homeराजनीतिनिम्न और मध्यम वर्ग के लिए बिजली बिल कम करने का सरकार कर रही...

निम्न और मध्यम वर्ग के लिए बिजली बिल कम करने का सरकार कर रही प्रयास : पीएम मोदी

पीएम ने आश्वासन दिया कि साल 2022 से 2024 के बीच मुंबई-वासियों के लिए पौने 3 सौ किलोमीटर की मेट्रो रेल लाइन उपलब्ध हो जाएगी। उन्होंने ये भी कहा कि तीन साल के भीतर ही यहाँ करीब नब्बे हजार घर बनकर तैयार हो जाएंगे

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने महाराष्ट्र दौरे के दौरान कल्याण में कई परियोजनाओं के शिलान्यास और भूमिपूजन में हिस्सा लिया। इस दौरान मोदी ने लगभग एक लाख लोगों को संबोधित भी किया। बता दें कि आज अपने महाराष्ट्र दौरे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 41,000 करोड़ रुपये की आवासीय एवं मेट्रो परियोजनाओं की बुनियाद रखी। वह कल्याण में दो मेट्रो परियोजनाओं का भूमिपूजन के अलावा दो अन्य कार्यक्रमों में भी भाग लेने वाले हैं । इसके बाद वे पुणे में मेट्रो तीन परियोजना का भूमिपूजन करेंगे। कल्याण में पीएम मोदी ने मेट्रो मार्ग 5, ठाणे- भिवंडी- कल्याण और मेट्रो मार्ग 9- दहिसर पूर्व से मीरा-भाईंदर की आधारशिला राखी और ईडब्लूएस और एलआईजी हाउसिंग स्कीम की शुरुआत भी की।

आज तक की एक रिपोर्ट के अनुसार ठाणे-भिवंडी-कल्याण मेट्रो रेलमार्ग-पांच की अनुमानित लागत 8,416 करोड़ रुपये है और 24.9 किलोमीटर लम्बे इस लाइन में 17 स्टेशन होंगे। दहीसर-मीरा भयंदर मेट्रो रेलमार्ग-नौ 10.3 किलोमीटर लंबा होगा। इसमें आठ स्टेशन होंगे और इसकी अनुमानित लागत 6,607 करोड़ रुपये है। वहीं हिंजेवाड़ी से शिवाजीनगर के बीच की मेट्रो लाइन की लंबाई 23 किलोमीटर होगी और इसकी अनुमानित लागत 8,313 करोड़ रुपये है।

इस अवसर पर एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि मुंबई और ठाणे देश का वो हिस्सा है जिसने देश के सपनों को साकार करने में मदद की है। उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे गांवों-कस्बों से आए सामान्य लोगों ने यहां बड़ा नाम कमाया है, देश को गौरवान्वित किया है और यहां जन्म लेने वालों, यहां रहने वालों का ह्रदय इतना विशाल है कि सबको अपने दिल में जगह दी है। उन्होंने कहा कि यहां पर पूरे भारत की तस्वीर एक ही जगह दिखती है; जो भी यहां आता है वो मुंबइया रंग में रंग जाता है, मराठी परंपरा का हिस्सा हो जाता है।

मेट्रो और आवासीय परियोजनाओं के फायदे गिनाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा;

“आज मुंबई का विस्तार हो रहा है, चारों ओर विकास हो रहा है। लेकिन इसके साथ-साथ यहां संसाधनों पर भी दबाव बढ़ा है। विशेषतौर पर यहां के ट्रांसपोर्ट सिस्टम, सड़क और रेल व्यवस्था पर इसका प्रभाव दिखने को मिलता है। इसी को ध्यान में रखते हुए बीते चार-साढ़े चार वर्षों में मुंबई और ठाणे समेत इससे सटे तमाम इलाकों के ट्रांसपोर्ट सिस्टम को बेहतर करने के लिए अनेक प्रयास किए गए हैं। आज भी यहां जो 33 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक के प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास किया गया है, उसमें दो मेट्रो लाइन भी शामिल हैं। इसके अलावा, ठाणे में 90 हज़ार गरीब और मध्यम वर्ग के परिवारों के लिए अपने घरों के निर्माण से जुड़े प्रोजेक्ट की भी शुरुआत आज की गई हैं।”

वहीं उन्होंने कांग्रेस पर अप्रत्यक्ष रूप से वार करते हुए मुंबई की मेट्रो परियोजनाओं को अधर में लटकाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा;

“मुंबई में पहली बार साल 2006 में मेट्रो की पहली परियोजना की शुरुआत की गयी थी लेकिन 8 साल तक क्या हुआ, कहां मामला अटक गया, बताना मुश्किल है। पहली लाइन 2014 में शुरु हो सकी, वो भी सिर्फ 11 किलोमीटर की लाइन…8 साल में सिर्फ और सिर्फ 11 किलोमीटर।”

प्रधानमंत्री ने दावा किया कि आने वाले 3 साल में यहां 35 किलोमीटर की मेट्रो क्षमता और जुड़ जाएगी और साल 2022 से 2024 के बीच मुंबई वासियों को पौने 3 सौ किलोमीटर की मेट्रो रेल लाइन उपलब्ध हो जाएगी। साथ ही उन्होंने ये भी दावा किया कि तीन साल के भीतर ही यहाँ करीब नब्बे हजार घर बनकर तैयार हो जायेंगे। बकौल पीएम “केंद्र सरकार ने तय किया है कि साल 2022 में, जब देश आजादी का 75 वां पर्व मना रहा हो, तब देश के हर परिवार के पास अपनी पक्की छत हो, अपना पक्का घर हो।” उन्होंने एक रिपोर्ट के हवाले से ये भी दावा किया कि बीते 7-8 महीने में नए घर खरीदने की रफ्तार पिछले वर्ष के मुकाबले दो गुनी से भी अधिक हुई है।

प्रधानमंत्री आवास योजना और होम लोन की चर्चा करते हुए उन्होंने बताया;

“प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हमारी सरकार ढाई लाख रुपए तक की मदद सीधे बैंक में जमा कर रही है यानि लोन का अमाउंट सीधे ढाई लाख रुपए घट जाता है। यानि निम्न और मध्यम वर्ग की मदद होम लोन में भी की जा रही है। इसके अलावा, पहले के मुकाबले होम लोन पर ब्याज दर भी काफी कम हुई है। सरकार द्वारा इस योजना के तहत कमजोर तबके के लोगों को, निम्न आय वर्ग वालों को साढ़े 6 प्रतिशत की इंटरेस्ट सब्सिडी भी दी जा रही है। मिडिल इनकम ग्रुप वालों को भी 3 से 4 प्रतिशत की इंटरेस्ट सब्सिडी दी गई है।”

प्रधानमंत्री ने ये भी बताया कि सरकार निम्न और मध्यम वर्ग के लोगों के लिए बिजली बिल कम करने के लिए भी निरंतर प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि उजाला योजना के तहत अकेले महाराष्ट्र में ही सवा दो करोड़ से ज्यादा बल्ब बाँटे गए हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,052FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe