Tuesday, September 21, 2021
Homeराजनीति'जिनका फैक्ट्रियाँ बंद करने का इतिहास है, वो निवेश दे सकते हैं क्या?': जानिए...

‘जिनका फैक्ट्रियाँ बंद करने का इतिहास है, वो निवेश दे सकते हैं क्या?’: जानिए PM मोदी ने रघुवंश प्रसाद और कर्पूरी ठाकुर को क्यों किया याद

जंगलराज के युवराज क्या बिहार में उचित माहौल का विश्वास दे सकते हैं? जो वामपंथी, नक्सलवाद को हवा देते हैं, जिनका उद्योगों और फैक्ट्रियों को बंद कराने का इतिहास रहा है, वो निवेश का माहौल बना सकते हैं क्या? पीएम मोदी ने बिहार के दिवंगत सीएम को याद करते हुए कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर जी ने एक इंटरव्यू में कहा था....

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के समस्तीपुर में चुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ‘जननायक’ कर्पूरी ठाकुर और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह को याद किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना की बंदिशों के बीच भी इतनी भारी संख्या में आना, लोगों का ये जोश और उत्साह साफ-साफ बता रहा है कि नतीजे क्या होने वाले हैं। उन्होंने कहा कि यहाँ हर कोने में विजय का विश्वास है, उमंग है, उत्साह है और वो बिहार के उज्ज्वल भविष्य का संकल्प देख रहे हैं।

बिहार में छपरा में अपने सम्बोधन के बाद समस्तीपुर पहुँचे पीएम मोदी ने कहा कि आज अगर हर आकलन, हर सर्वे NDA की जीत का दावा कर रहा है तो उसके पीछे ठोस और मजबूत कारण है। उन्होंने कहा कि आज NDA की फिर से सरकार हमारी माताएँ-बहनें बना रही हैं, जिन्हें राजग सरकार, नीतीश सरकार ने सुविधाओं और अवसरों से जोड़ा है। उन्होंने कहा कि वो ‘जीविका दीदियाँ’, जो आज आत्मनिर्भर परिवार और आत्मनिर्भर बिहार की प्रेरणा बन रही हैं, वो NDA को ताकत दे रही हैं।

बिहार में हो रहे विकास कार्यों की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि घर-घर, स्कूल-स्कूल बने शौचालयों ने जिन बहनों-बेटियों को गरिमा दी, अंधेरे के इंतज़ार से मुक्ति दी, वो NDA की सरकार बना रही हैं। उन्होंने कहा कि जिन बहनों को पीने के पानी के संघर्ष से मुक्ति मिली, वो NDA के पक्ष में वोट डाल रही हैं। जीवन भर धुएँ में उलझती उन बहनों का वोट NDA के लिए है, जिनके घर में उज्जवला का सिलेंडर पहुँचा है।

समस्तीपुर की जनता को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी ने ये भी कहा कि बिहार के बेटे-बेटियाँ, जिन्हें आज मुद्रा लोन मिल रहा है, बैंकों ने जिनके लिए दरवाजे खोल दिए हैं, जिन्हें IIT-IIM-एम्स मिल रहा है, वो आज अपने उज्जवल भविष्य के लिए NDA पर भरोसा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज देश में एक तरफ लोकतंत्र के लिए पूर्ण रूप से समर्पित, एनडीए का गठबंधन है, वहीं दूसरी तरफ अपने निहित स्वार्थ को समर्पित पारिवारिक गठबंधन हैं।

सरदार वल्लभभाई पटेल को याद करते हुए पीएम मोदी ने पूछा कि उन्होंने अपना पूरा जीवन सिर्फ और सिर्फ देश के लिए लगाया या नहीं? सरदार पटेल कॉन्ग्रेस पार्टी के थे कि नहीं? उन्होंने आरोप लगाया कि फिर भी कॉन्ग्रेस पार्टी ने कल सरदार पटेल की जन्म जयंती पर उनका स्मरण तक नहीं किया। उन्होंने पूछा कि सिर्फ और सिर्फ अपने-अपने परिवार के लिए काम कर रही इन पारिवारिक पार्टियों ने आपको क्या दिया?

लालू यादव के परिवार द्वारा अर्जित की गई अकूत संपत्ति पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधते हुए पूछा कि बड़े-बड़े बंगले बने, तो किसके बने? महल बने, तो किसके बने? बड़ी-बड़ी करोड़ों की गाड़ियाँ आईं, गाड़ियों का काफिला बना, तो किसका बना? उन्होंने बताया कि NDA का मंत्र है सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास। NDA सरकार का निरंतर ये प्रयास रहा है कि कोई व्यक्ति, कोई भी क्षेत्र विकास के लाभ से छूट ना जाए। उन्होंने कहा कि सुविधा, सम्मान और सुअवसर में किसी के साथ भी कोई भेद नहीं होना चाहिए। यही तो सुशासन का भी लक्ष्य है।

पीएम मोदी ने समस्तीपुर की जनता को चेताया कि जिनकी नीयत खराब हो, जिनकी नीति सिर्फ गरीबों का धन लूटने की हो, जो निर्णय सिर्फ अपने और अपने परिवार को ध्यान में रखकर लेते हों, वो विकास के हर प्रयास का विरोध ही करेंगे। साथ ही कहा कि इन लोगों को गरीब की परेशानी, उसकी मुसीबतों से कोई लेना देना नहीं है। इन्हें गरीब सिर्फ और सिर्फ चुनाव में याद आते हैं। उन्होंने तंज कसा कि जब चुनाव आते हैं तो ये माला जपना शुरू कर देते हैं- गरीब, गरीब, गरीब… जब चुनाव पूरा हुआ तब ये बस अपने परिवार का कुनबा लेकर बैठ जाते हैं।

प्रधानमंत्री ने लोगों से सवाल दागा कि जंगलराज की विरासत, जंगलराज के युवराज क्या बिहार में उचित माहौल का विश्वास दे सकते हैं? जो वामपंथी, नक्सलवाद को हवा देते हैं, जिनका उद्योगों और फैक्ट्रियों को बंद कराने का इतिहास रहा है, वो निवेश का माहौल बना सकते हैं क्या? पीएम मोदी ने बिहार के दिवंगत सीएम को याद करते हुए कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर जी ने एक इंटरव्यू में कहा था- सत्ता के आसपास अवसरवादियों को शरण या तरजीह बिल्कुल नहीं मिलनी चाहिए।

कर्पूरी ठाकुर ने आगे कहा था कि ये अवसरवादी मुझे नहीं तो मेरे बेटे या संबंधियों को भ्रष्ट करेंगे। पीएम मोदी ने याद दिलाया कि कर्पूरी ठाकुर के बाद, बिहार के लोगों ने इस बात को 100 फीसदी सच होते देखा है। उन्होंने बताया कि बरौनी का खाद कारखाना अपने-आप बन्द नहीं हुआ था, ये उनकी गलत नीतियों के कारण बन्द हुआ था जो आज बड़ी-बड़ी बातें करके, लोक लुभावनी चर्चाएँ करते हैं। साथ ही याद दिलाया कि बरौनी के खाद कारखाने को भी नया जीवन मिल रहा है।

इस दौरान रघुवंश प्रसाद सिंह को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि रघुवंश बाबू ने हमेशा सोशलिस्ट मूल्यों को आगे बढ़ाया, अपना पूरा जीवन बिहार की सेवा में लगा दिया। उन्होंने याद दिलाया कि अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए रघुवंश प्रसाद सिंह को कैसे अपमानित किया गया, ये पूरे बिहार ने देखा है। हाल ही में रघुवंश प्रसाद सिंह का निधन हो गया था। उससे पहले उन्होंने लालू यादव की पार्टी राजद से इस्तीफा दे दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

आज पाकिस्तान के लिए बैटिंग, कभी क्रिकेट कैंप में मौलवी से नमाज: वसीम जाफर पर ‘हनुमान की जय’ हटाने का भी आरोप

पाकिस्तान के साथ सहानुभूति रखने के कारण नेटिजन्स के निशाने पर आए वसीम जाफर पर मुस्लिम क्रिकेटरों को तरजीह देने के भी आरोप लग चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,586FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe