Monday, January 17, 2022
Homeराजनीतिराहुल गाँधी से मिले प्रशांत किशोर, सियासी अटकलों के बीच बड़ा सवाल- क्या बनेंगे...

राहुल गाँधी से मिले प्रशांत किशोर, सियासी अटकलों के बीच बड़ा सवाल- क्या बनेंगे कॉन्ग्रेस के तारणहार?

कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी का लखनऊ दौरा टलने की वजह पीके की राहुल से मुलाकात के साथ जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल, प्रियंका का यह दौरा 14 जुलाई को होने वाला था, लेकिन अब इसे टालकर 16 जुलाई को कर दिया गया है।

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने मंगलवार (13 जुलाई 2021) को कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी से दिल्ली में उनके आवास पर मुलाकात की। इसके बाद से राजनीतिक गलियारों में अटकलें तेज हो गई हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, बैठक के दौरान प्रियंका गाँधी, केसी वेणुगोपाल और पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत समेत पार्टी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे।

यह बैठक पंजाब, राजस्‍थान और छत्‍तीसगढ़ में कॉन्ग्रेस इकाई में अंदरूनी कलह और उथल-पुथल को लेकर की गई। बीते कुछ महीनों से यहाँ सियासी संकट गहराया हुआ है। इसके अलावा उत्‍तर प्रदेश, उत्‍तराखंड, पंजाब, गोवा, मणिपुर और गुजरात में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में राहुल गाँधी से प्रशांत किशोर की मुलाकात को अहम माना जा रहा है।

हाल ही में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिल्ली में सीएम के आवास कपूरथला हाउस में किशोर से मुलाकात की थी। अमरिंदर ने किशोर को प्रधान सलाहकार नियुक्त किया था। हाल ही में पश्चिम बंगाल सहित कुछ राज्यों में विधानसभा चुनावों के दौरान प्रशांत किशोर पंजाब गए थे। हालाँकि, नतीजे आने के तुरंत बाद, उन्होंने एक राजनीतिक रणनीतिकार के रूप में अपने पद से हटने की इच्छा व्यक्त की थी।

मीडिया रिपोर्ट्स में कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी का लखनऊ दौरा टलने की वजह पीके की राहुल से मुलाकात के साथ जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल, प्रियंका का यह दौरा 14 जुलाई को होने वाला था, लेकिन अब इसे टालकर 16 जुलाई को कर दिया गया है।

बता दें कि 2014 में नरेंद्र मोदी के राजनीति प्रचार-प्रसार की जिम्‍मेदारी प्रशांत ने ली थी। इसके बाद उन्‍होंने बिहार चुनाव में नीतीश कुमार, पंजाब में अमरिंदर सिंह, आंध्र प्रदेश में जगन मोहन रेड्डी और बंगाल चुनाव में ममता बनर्जी के लिए काम किया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ये हिन्दू संस्कृति में ही संभव’: जिस बाघिन के कारण ‘टाइगर स्टेट’ बन गया मध्य प्रदेश, उसका सनातन रीति-रिवाज से हुआ अंतिम संस्कार

मध्य प्रदेश के पेंच नेशनल पार्क की ‘कॉलरवाली बाघिन’ के नाम से मशहूर बाघिन का हिंदू रीति-रिवाज से अंतिम संस्कार किया गया।

‘नहीं करने देंगे PM मोदी सुरक्षा चूक की जाँच’: जस्टिस इंदु मल्होत्रा को SFJ की धमकी, वकीलों से कहा – तुम सब खतरे में...

सुप्रीम कोर्ट ने पीएम मोदी की सुरक्षा चूक की जाँच के लिए जस्टिस इंदु मल्होत्रा के नेतृत्व में एक समिति का गठन किया था। SFJ ने उन्हें धमकी दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,731FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe