Saturday, July 2, 2022
Homeराजनीतिपंजाब में सरकारी आवास में नहीं रहेंगे पालतू कुत्ते, भगवंत मान ने दिया बाहर...

पंजाब में सरकारी आवास में नहीं रहेंगे पालतू कुत्ते, भगवंत मान ने दिया बाहर निकालने का आदेश, बग्गा ने कहा- ‘लाचार CM अब कुत्तों के पीछे पड़ गए हैं’

"पंजाब में सब मुद्दे खत्म हो गए हैं, जो लाचार सीएम भगवंत मान कुत्तों के पीछे पड़ गए हैं।"

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान (Bhagwant Mann) ने सरकारी कर्मचारियों को क्वार्टरों में पालतू कुत्तों को रखने पर रोक लगा दी है। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार ने सरकारी बंगलों और क्वार्टरों में रहने वाले पुलिस अधिकारियों को एक सप्ताह के भीतर अपने पालतू कुत्तों को घर से बाहर निकालने का आदेश दिया है।

13 मई को एक आदेश में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, पटियाला (ADGP) ने पुलिस अधिकारियों से स्पष्ट रूप से कहा है कि यदि उन्हें सरकारी आवास में पालतू कुत्तों को रखने की अनुमति नहीं है, तो उन्हें अपने घरों से बाहर निकाल दें।

पत्र में कहा गया था कि जिन कर्मचारियों ने अपने घरों में पालतू कुत्तों को रखा हुआ है, क्या उनके पास इसकी अनुमति है?” ADGP ने कहा था कि जिन अधिकारियों ने इस आदेश का अभी तक पालन नहीं किया है, वे अपने पालतू कुत्तों को एक सप्ताह के भीतर क्वार्टर से बाहर कर दें। आदेश के मुताबिक, अगर कोई भी कर्मचारी ऐसा करने से मना करता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सरकारी क्वार्टरों से कुत्तों को हटाने को लेकर एडीजी पटियाला ने जारी किया आदेश (फोटो साभार: दैनिक ट्रिब्यून)

इस आदेश को लेकर भाजयुमो (भारतीय जनता युवा मोर्चा) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तजेंदर पाल सिंह बग्गा ने पंजाब की ‘आप’ सरकार पर निशाना साधा है उन्होंने ट्वीट किया, “पंजाब में सब मुद्दे खत्म हो गए हैं, जो लाचार सीएम भगवंत मान कुत्तों के पीछे पड़ गए हैं। जब आप घर में कोई जानवर लाते हैं, तो कुछ समय में वो परिवार की तरह बन जाता है। लेकिन ये कहना की सभी पुलिसकर्मी अपने घर से उन कुत्तों को 1 हफ़्ते के अंदर निकाल दे। ऐसा कोई असंवेदनशील व्यक्ति ही कर सकता है।”

आपको बता दें मुख्यमंत्री भगवंत मान, जहाँ पालतू कुत्तों से छुटकारा पाने पर ध्यान दे रहे हैं। वहीं आप के सत्ता में आने के बाद से राज्य में कानून-व्यवस्था लगातार बिगड़ती जा रही है। पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) की प्रचंड जीत के बाद से राज्य के अलग-अलग इलाकों में हिंसा हो रही है। यहाँ तक कि प्रसिद्ध कबड्डी खिलाड़ी भी हिंसा से अछूते नहीं हैं। ड्रग्स की खुली बिक्री के वीडियो राज्य में वायरल हो रहे हैं और राज्य में कई वर्षों के बाद सांप्रदायिक हिंसा भी देखी गई है।

गौरतलब है कि पंजाब के पटियाला में पिछले महीने हिंसा के मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 6 एफआईआर दर्ज की थी। इस एफआईआर में 25 लोग नामजद थे, जिनमें से 3 को गिरफ्तार किया गया था। इनमें शिवसेना द्वारा निष्कासित किए गए हरीश सिंघला भी शामिल थे, जिन्हें कोर्ट ने दो दिन की पुलिस हिरासत में भेजा था। इनके अलावा कुलदीप सिंह और दलजीत सिंह भी पकड़े गए थे।

बता दें कि इस पूरी हिंसा का मास्टरमाइंड बरजिंदर सिंह परवाना को बताया गया था। पटियाला के आईजी एमएस चिन्ना ने बताया था, “पटियाला में कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ हुआ, जिसके संबंध में 6 प्राथमिकी दर्ज की हैं और हरीश सिंघला सहित 3 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। मुख्य आरोपित व मास्टरमाइंड बरजिंदर सिंह परवाना को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe