Monday, November 29, 2021
Homeराजनीति'केजरीवाल सरकार ने लोगों को हर मामले में किया विफल, दिल्ली मॉडल शासन पहले...

‘केजरीवाल सरकार ने लोगों को हर मामले में किया विफल, दिल्ली मॉडल शासन पहले ही खारिज’: कैप्टन अमरिंदर सिंह

“राष्ट्रीय राजधानी में स्थित गाँवों में किसानों को मुफ्त बिजली ना देकर और उद्योगों को बहुत ही ऊँचे दर पर बिजली उपलब्ध कराकर केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के लोगों की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। पंजाब के लोगों ने दिल्ली शासन मॉडल को पहले ही खारिज कर दिया है।”

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक बार फिर से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है। सोमवार (5 जुलाई 2021) को उन्होंने दिल्ली सरकार को घेरते हुए कहा, “राष्ट्रीय राजधानी में स्थित गाँवों में किसानों को मुफ्त बिजली ना देकर और उद्योगों को बहुत ही ऊँचे दर पर बिजली उपलब्ध कराकर केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के लोगों की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। पंजाब के लोगों ने दिल्ली मॉडल शासन को पहले ही खारिज कर दिया है।”

बता दें कि पंजाब सरकार बिजली संकट को लेकर इन दिनों विपक्ष के निशाने पर है। आम आदमी पार्टी भी जमकर विरोध कर रही है। इसी को लेकर पंजाब के मोहाली में शनिवार (3 जुलाई 2021) को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के घर के पास विरोध कर रहे आम आदमी पार्टी (AAP) के लोकसभा सांसद भगवंत मान और विधायक हरपाल सिंह चीमा समेत पार्टी के 23 सदस्यों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188 और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत नामजद FIR दर्ज की गई थी। 

AAP की पंजाब इकाई के प्रमुख भगवंत मान के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता बिजली कटौती को लेकर कॉन्ग्रेस सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। मुख्यमंत्री के फार्महाउस की ओर जाने वाली सड़क पर भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था और बहुस्तरीय बैरिकेड लगाए गए थे। AAP पार्टी के झंडे लिए कार्यकर्ता जैसे ही बैरिकेड के पहले स्तर से आगे बढ़े और दूसरे स्तर तक पहुँचे, पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछार की।

अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार उपभोक्ताओं, विशेष कर धान की खेती करने वाले किसानों को फसल बोने के लिए पर्याप्त बिजली उपलब्ध नहीं करा पाने पर विपक्ष के निशाने पर है। इससे पहले AAP नेताओं ने लोगों को सस्ती दरों पर 24 घंटे बिजली मुहैया कराने में ‘विफल’ रहने के लिए कॉन्ग्रेस सरकार की आलोचना की थी। मान ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि वे पंजाब के 2.75 करोड़ लोगों के ‘दुख’ को मुख्यमंत्री तक पहुँचाने के लिए एकत्र हुए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री पर आरोप लगाया था कि वे ‘अपने फार्महाउस में सो रहे हैं।’

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

‘शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा, वो पहले ही 14 महीने से जेल में’: इलाहाबाद...

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपनी टिप्पणी में कहा कि शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe