Wednesday, August 4, 2021
HomeराजनीतिAAP के सांसद भगवंत मान और MLA हरपाल सिंह कर रहे थे CM के...

AAP के सांसद भगवंत मान और MLA हरपाल सिंह कर रहे थे CM के घर के सामने विरोध-प्रदर्शन, पंजाब में FIR दर्ज

"मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अपने फार्महाउस में सो रहे हैं। पंजाब के 2.75 करोड़ लोगों के दुख को मुख्यमंत्री तक पहुँचाने के लिए हम एकत्र हुए।"

पंजाब के मोहाली में शनिवार (3 जुलाई 2021) को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के घर के पास विरोध कर रहे आम आदमी पार्टी (AAP) के लोकसभा सांसद भगवंत मान और विधायक हरपाल सिंह चीमा समेत पार्टी के 23 सदस्यों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188 और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत नामजद FIR दर्ज की गई है। 

इसके अलावा, 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है, जो इस प्रदर्शन का हिस्सा थे। यह जानकारी मोहाली के एसएसपी ने दी है। एसएसपी के मुताबिक, इस पूरे मामले में जाँच की जा रही है। शनिवार को आम आदमी पार्टी ने सिसवां में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के फार्महाउस पर प्रदर्शन किया था। 

बता दें कि AAP की पंजाब इकाई के प्रमुख भगवंत मान के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता बिजली कटौती को लेकर कॉन्ग्रेस सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। मुख्यमंत्री के फार्महाउस की ओर जाने वाली सड़क पर भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था और बहुस्तरीय बैरिकेड लगाए गए थे। AAP पार्टी के झंडे लिए कार्यकर्ता जैसे ही बैरिकेड के पहले स्तर से आगे बढ़े और दूसरे स्तर तक पहुँचे, पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछार की।

पंजाब अभूतपूर्व बिजली की कमी से जूझ रहा है और चिलचिलाती गर्मी के बीच शहरी और ग्रामीण इलाकों में लंबे समय तक बिजली की कटौती हो रही है। पंजाब सरकार ने राज्य सरकार के कार्यालयों के समय में कटौती करने और उच्च ऊर्जा खपत वाले उद्योगों को बिजली की आपूर्ति कम करने का पहले ही आदेश जारी कर दिया है।

अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार उपभोक्ताओं, विशेष कर धान की खेती करने वाले किसानों को फसल बोने के लिए पर्याप्त बिजली उपलब्ध नहीं करा पाने पर विपक्ष के निशाने पर है। इससे पहले AAP नेताओं ने लोगों को सस्ती दरों पर 24 घंटे बिजली मुहैया कराने में ‘विफल’ रहने के लिए कॉन्ग्रेस सरकार की आलोचना की थी। मान ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि वे पंजाब के 2.75 करोड़ लोगों के ‘दुख’ को मुख्यमंत्री तक पहुँचाने के लिए एकत्र हुए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री पर आरोप लगाया था कि वह ‘अपने फार्महाउस में सो रहे हैं।’

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe