Thursday, August 5, 2021
Homeराजनीतितुम्हारे बाप का ऑफिस है क्या?: मायावती के गठबंधन साथी ने डिप्टी कमिश्नर को...

तुम्हारे बाप का ऑफिस है क्या?: मायावती के गठबंधन साथी ने डिप्टी कमिश्नर को धमकाया

वीडियो में देखा जा सकता है कि विधायक ने डिप्टी कमिश्नर से कहा- "ये तेरे बाप का ऑफिस है क्या?" इस पर डिप्टी कमिश्नर ने उन्हें टोकते हुए कहा कि ये जो आप बाप-बाप की रट लगाए बैठे हैं, यह सही भाषा नहीं है।

पंजाब में लोक इंसाफ पार्टी के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस द्वारा डिप्टी कमिश्नर के साथ बदतमीजी करने का मामला सामने आया है। मामला गुरदासपुर का है। दोनों की कहासुनी का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस वीडियो में विधायक बैंस अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते दिख रहे हैं। ये झड़प डिप्टी कमिश्नर के दफ्तर में ही हुई। विधायक के ख़िलाफ़ केस दर्ज कर लिया गया है।

वीडियो में देखा जा सकता है कि विधायक ने डिप्टी कमिश्नर से कहा- “ये तेरे बाप का ऑफिस है क्या?” इस पर डिप्टी कमिश्नर ने उन्हें टोकते हुए कहा कि ये जो आप बाप-बाप की रट लगाए बैठे हैं, यह सही भाषा नहीं है। सिमरजीत सिंह के भाई भी विधायक हैं और लुधियाना की राजनीति में बैंस बंधुओं का ख़ासा दबदबा है। एसडीएम की शिकायत के बाद सिमरजीत बैंस के ख़िलाफ़ बदसलूकी का मामला दर्ज हुआ है।

सिमरजीत सिंह बैंस लोक इंसाफ पार्टी के संस्थापक हैं। वह 2017 पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन में रह चुके हैं। फिलहाल उनकी पार्टी पंजाब डेमोक्रेटिक अलायन्स का हिस्सा है, जिसमें मायावती की बसपा, वामपंथी सीपीआई और अन्य पार्टियाँ शामिल हैं। इस गठबन्धन ने मायावती को प्रधानमंत्री चेहरा घोषित कर 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जब मनमोहन सिंह PM थे, कॉन्ग्रेस+ की सरकार थी… तब हॉकी टीम के खिलाड़ियों को जूते तक नसीब नहीं थे

एक दशक पहले जब मनमोहन सिंह के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस नीत यूपीए की सरकार चल रही थी, तब हॉकी टीम के कप्तान ने बताया था कि खिलाड़ियों को जूते भी नसीब नहीं हैं।

UP के ‘मुंगेरीलाल’, दिन में देख रहे ख्वाब: अखिलेश के 400 विधायक जीतेंगे, प्रियंका गाँधी बनेंगी CM, बीजेपी को कैंडिडेट भी नहीं मिलेंगे

तिवारी ने बताया कि फिलहाल समाजवादी पार्टी या किसी अन्य राजनैतिक दल से गठबंधन की कोई बात नहीं चल रही है लेकिन प्रियंका ने कहा था कि कॉन्ग्रेस का लक्ष्य 2022 में भाजपा को हराना है और इसके लिए कॉन्ग्रेस हर तरह का राजनीतिक गठबंधन करने को तैयार है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,091FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe