Wednesday, April 21, 2021
Home राजनीति झारखंड की उन 15 सीटों का हाल जहाँ मोदी, राहुल और प्रियंका ने...

झारखंड की उन 15 सीटों का हाल जहाँ मोदी, राहुल और प्रियंका ने रैली की

2 सीटों से ख़ुद पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आगे चल रहे हैं। मुख्यमंत्री रघुवर दास को निर्दलीय सरयू राय पटखनी देते दिख रहे हैं। भाजपा के बागी नेता सरयू राय टिकट काटे जाने से नाराज़ होकर मुख्यमंत्री के ख़िलाफ़ निर्दलीय मैदान में उतर आए थे।

झारखंड विधानसभा चुनाव में कॉन्ग्रेस-झामुमो गठबंधन जीत की ओर अग्रसर है। जहाँ कॉन्ग्रेस 13 सीटें जीत रही है, वहीं झामुमो 27 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरती दिख रही है। एक सीट पर राजद आगे है। तीनों दलों का गठबंधन खबर लिखे जाने तक 41 सीटों पर आगे था।

अब एक नजर उन सीटों पर डालते हैं जहाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ने रैली की। राहुल गाँधी ने 2 दिसंबर को सिमडेगा में चुनावी जनसभा की। 9 दिसंबर को बड़कागाँव और राँची में उनकी रैली हुई। 12 दिसंबर को उन्होंने राजमहल और महगामा में अपनी पार्टी व गठबंधन के कैडर में जान फूँकने का काम किया। आइए, देखते हैं कि उन सीटों पर फिलहाल क्या स्थिति है;

सिमडेगा: भाजपा
बड़कागाँव: कॉन्ग्रेस
राँची: भाजपा
राजमहल: भाजपा
महगामा: झामुमो

प्रियंका गाँधी ने एकमात्र जनसभा पाकुड़ में की। वहाँ के ट्रेंड्स पर नज़र डालें तो कॉन्ग्रेस के आलमगीर आलम बड़ी जीत की ओर बढ़ते दिखाई दे रहे हैं। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिन जगहों पर अपनी जनसभा की, उस पर एक नज़र दाल लेते हैं। उन्होंने 25 नवंबर को मेदिनीनगर और गुमला में रैली की। प्रधानमंत्री 2 दिसंबर को जमशेदपुर व खूँटी पहुँचे। 9 दिसंबर को बरही और बोकारो में उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं की हौसला आफजाई की। 12 दिसंबर को धनबाद और 15 दिसंबर को दुमका में पीएम की रैली हुई। प्रधानमंत्री ने 17 दिसंबर को विपक्षी गठबंधन के सीएम उम्मीदवार हेमंत सोरेन के क्षेत्र बरहेट से अपनी चुनावी कैम्पेन का समापन किया। इस सीटों की स्थिति ऐसी है;

डाल्टेनगंज: भाजपा
गुमला: झामुमो
जमशेदपुर: निर्दलीय
खूँटी: भाजपा
बरही: कॉन्ग्रेस
बोकारो: कॉन्ग्रेस
धनबाद: भाजपा
दुमका: झामुमो
बरहेट: झामुमो

जैसा कि आप देख सकते हैं, पीएम मोदी ने 9 सीटों पर रैलियाँ की, जिनमें से 3 पर भाजपा आगे चल रही है। वहीं 2 सीटों से ख़ुद पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आगे चल रहे हैं। मुख्यमंत्री रघुवर दास को निर्दलीय सरयू राय पटखनी देते दिख रहे हैं। भाजपा के बागी नेता सरयू राय टिकट काटे जाने से नाराज़ होकर मुख्यमंत्री के ख़िलाफ़ निर्दलीय मैदान में उतर आए थे। ये अंतिम नतीजे नहीं हैं। वोटो की गिनती चल रही है। कुछ सीटों पर उम्मीदवारों के बीच फासला बेहद कम है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsjharkhand election results, jharkhand election result 2019, jharkhand election, jharkhand cm, jharkhand news, jharkhand chief minister, झारखंड विधानसभा चुनाव 2019, झारखंड चुनाव 2019, झारखंड न्यूज़, झारखंड का ताजा न्यूज़, झारखंड ताजा समाचार, झारखंड में सरकार, झारखंड में किसकी सरकार, झारखंड कौन जीता, झारखंड कौन हारा, झारखंड चुनाव, झारखंड विधानसभा चुनाव, पूर्वी जमशेदपुर सीट, गौरव वल्लभ कांग्रेस, सरयू बनाम रघुवर, झारखंड का मुख्यमंत्री कौन, झारखंड बीजेपी, जेवीएम बाबूलाल मरांडी, आजसू सुदेश महतो, जेएमएम हेमंत सोरेन, झामुमो कांग्रेस गठबंधन, झारखंड में किसकी सरकार, झारखंड काउंटिंग, रघुवर दास जमशेदपुर पूर्वी, सरयू राय, गौरव वल्लभ कांग्रेस, शिबू सोरेन, दुमका जेएमएम, जामा सीता सोरेन, हेमंत सोरेन दुमका, रवीश कुमार झारखंड चुनाव, झारखंड विधानसभा चुनाव 2019, झारखंड चुनाव 2019, लुइस मरांडी दुमका
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देश के 3 सबसे बड़े डॉक्टर की 35 बातें: कोरोना में Remdesivir रामबाण नहीं, अस्पताल एक विकल्प… एकमात्र नहीं

देश में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। 2.95 लाख नए मामले सामने आने के बाद देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़ कर...

‘गैर मुस्लिम नहीं कर सकते अल्लाह शब्द का इस्तेमाल, किसी अन्य ईश्वर से तुलना गुनाह’: इस्लामी संस्था ने कहा- फतवे के हिसाब से चलें

मलेशिया की एक इस्लामी संस्था ने कहा है कि 'अल्लाह' एक बेहद ही पवित्र शब्द है और इसका इस्तेमाल सिर्फ इस्लाम के लिए और मुस्लिमों द्वारा ही होना चाहिए।

आज वैक्सीन का शोर, फरवरी में था बेकारः कोरोना टीके पर छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेसी सरकार ने ही रचा प्रोपेगेंडा

आज छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री इस बात से नाखुश हैं कि पीएम ने राज्यों को कोरोना वैक्सीन देने की बात नहीं की। लेकिन, फरवरी में वही इसके असर पर सवाल उठा रहे थे।

पंजाब के 1650 गाँव से आएँगे 20000 ‘किसान’, दिल्ली पहुँच करेंगे प्रदर्शनः कोरोना की लहर के बीच एक और तमाशा

संयुक्त किसान मोर्चा ने 'फिर दिल्ली चलो' का नारा दिया है। किसान नेताओं ने कहा कि इस बार अधिकतर प्रदर्शनकारी महिलाएँ होंगी।

हम 1 साल में कितने तैयार हुए? सरकारों की नाकामी के बाद आखिर किस अवतार की बाट जोह रहे हम?

मुफ्त वाई-फाई, मुफ्त बिजली, मुफ्त पानी से आगे लोगों को सोचने लायक ही नहीं छोड़ती समाजवाद। सरकार के भरोसे हाथ बाँध कर...

मधुबनी: धरोहर नाथ मंदिर में सोए दो साधुओं का गला कुदाल से काटा, ‘लव जिहाद’ का विरोध करने वाले महंत के आश्रम पर हमला

बिहार के मधुबनी जिला स्थित खिरहर गाँव में 2 साधुओं की गला काट हत्या कर दी गई है। इससे पहले पास के ही बिसौली कुटी के महंत के आश्रम पर रात के वक्त हमला हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

रेप में नाकाम रहने पर शकील ने बेटी को कर दिया गंजा, जैसे ही बीवी पढ़ने लगती नमाज शुरू कर देता था गंदी हरकतें

मेरठ पुलिस ने शकील को गिरफ्तार किया है। उस पर अपनी ही बेटी ने रेप करने की कोशिश का आरोप लगाया है।

मधुबनी: धरोहर नाथ मंदिर में सोए दो साधुओं का गला कुदाल से काटा, ‘लव जिहाद’ का विरोध करने वाले महंत के आश्रम पर हमला

बिहार के मधुबनी जिला स्थित खिरहर गाँव में 2 साधुओं की गला काट हत्या कर दी गई है। इससे पहले पास के ही बिसौली कुटी के महंत के आश्रम पर रात के वक्त हमला हुआ था।

रेमडेसिविर खेप को लेकर महाराष्ट्र के FDA मंत्री ने किया उद्धव सरकार को शर्मिंदा, कहा- ‘हमने दी थी बीजेपी को परमीशन’

महाविकास अघाड़ी को और शर्मिंदा करते हुए राजेंद्र शिंगणे ने पुष्टि की कि ये इंजेक्शन किसी अन्य उद्देश्य के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। उन्हें भाजपा नेताओं ने भी इसके बारे में आश्वासन दिया था।

‘सुअर के बच्चे BJP, सुअर के बच्चे CISF’: TMC नेता फिरहाद हाकिम ने समर्थकों को हिंसा के लिए उकसाया, Video वायरल

TMC नेता फिरहाद हाकिम का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल है। इसमें वह बीजेपी और केंद्रीय सुरक्षा बलों को 'सुअर' बता रहे हैं।

हाँ, हम मंदिर के लिए लड़े… क्योंकि वहाँ लाउडस्पीकर से ऐलान कर भीड़ नहीं बुलाई जाती, पेट्रोल बम नहीं बाँधे जाते

हिंदुओं को तीन बातें याद रखनी चाहिए, और जो भी ये मंदिर-अस्पताल की घटिया बाइनरी दे, उसके मुँह पर मार फेंकनी चाहिए।

रवीश और बरखा की लाश पत्रकारिताः निशाने पर धर्म और श्मशान, ‘सर तन से जुदा’ रैलियाँ और कब्रिस्तान नदारद

अचानक लग रहा है जैसे पत्रकारों को लाश से प्यार हो गया है। बरखा दत्त श्मशान में बैठकर रिपोर्टिंग कर रही हैं। रवीश कुमार लखनऊ को लाशनऊ बता रहे हैं।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,653FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe