Thursday, April 18, 2024
Homeदेश-समाज'तमीज नहीं है क्या... क्यों नहीं दे रही तू': महिला अधिकारी के साथ कॉन्ग्रेस...

‘तमीज नहीं है क्या… क्यों नहीं दे रही तू’: महिला अधिकारी के साथ कॉन्ग्रेस विधायक ने की फोन पर अभद्रता, Video वायरल

"तूझे बोलने की तमीज नहीं है क्या... इतना भी नहीं लगता कोई जनप्रतिनिधि तुझे फोन कर रहा है... इसको नकल दे तू। क्यों नहीं दे रही है तू।”

राजस्थान के पूर्व मंत्री व मांडल से कॉन्ग्रेस विधायक रामलाल जाट की हुरड़ा तहसीलदार स्वाति झा के साथ बातचीच की ऑडियो सामने आई है। ऑडियो में रामलाल जाट महिला तहसीलदार से तू-तड़ाक करते सुनाई पड़ रहे हैं। कहा जा रहा है कि पहले कॉन्ग्रेस विधायक ने तहसीलदार से फोन पर अभद्रता से बात की और फिर उन्हें एपीओ कर दिया गया।

घटना के बाद राजस्थान तहसीलदार सेवा परिषद में नाराजगी है। इस संबंध में तहसीलदार सेवा परिषद ने राम लाल जाट के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है। इसमें उन्हें मामले की जानकारी दी गई है। साथ ही परिषद ने माँग की है कि अगर मामले में सही कार्रवाई नहीं की गई तो उन्हें राज्यव्यापी आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

RTS ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र

परिषद का कहना है कि फोन पर विधायक रामलाल ने तहसीलदार स्वाति झा से अमर्यादित और अभद्र तरीके से बातचीत कर धमकाया। उसके कुछ ही घंटों के बाद राजस्व मंडल ने स्वाती झा को पोस्टिंग की प्रतीक्षा में रखते हुए एपीओ करने के आदेश जारी कर दिए। इतना ही नहीं, कुछ समय बाद विधायक के व्यक्ति तहसीलदार के घर पहुँचे और वहाँ काम करने वाले एक दलित के साथ मारपीट भी की गई। इस संबंध में गुलाबपुरा थाने में केस दर्ज है।।

परिषद की माँग है कि दोषियों के खिलाफ़ जाँच करके मामले में कार्रवाई हो और रामलाल जाट के ख़िलाफ विधानसभा सत्र में निंदा प्रस्ताव लाया जाए। इस बीच रामलाल जाट ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि तहसीलदार जनता के काम नहीं करती हैं। उनका कहना है कि तहसीलदार को जनता के काम तो बताने ही होंगे न। इसमें अभद्रता वाली क्या बात है।

वायरल ऑडियो में क्या बोले कॉन्ग्रेस नेता

वायरल वीडियो में सुन सकते हैं कि रामलाल जाट लगातार अपने पद की धौंस महिला अधिकारी को देते सुनाई पड़ रहे हैं। वह पूछते हैं, “तूझे बोलने की तमीज नहीं है क्या… इतना भी नहीं लगता कोई जनप्रतिनिधि तुझे फोन कर रहा है।” वहीं महिला कहती हैं, “सर आप मुझसे तू तड़ाक करके बात कर रहे हैं। आपने मुझे कभी फोन नहीं किया और आप मुझसे तमीज से भी बात नहीं कर रहे।” इतने में कॉन्ग्रेस नेता तेज आवाज में कहते हैं, “इसको नकल दे तू। क्यों नहीं दे रही है तू।”

पूरी बातचीत के दौरान महिला अधिकारी बताती हैं कि अभी ऑफिस में लोग नहीं है और उन्होंने न तो किसी से बदसलूकी की है और न उन्हें कोई फोन आया है।

इस वीडियो में महिला अधिकारी अपने दफ्तर आए युवक को लेकर बताती हैं कि उसने उन्हें रामलाल जाट का नाम लेकर धमकी दी कि वह उनका ट्रांसफर करवा देगा। इसके अलावा युवक को भी महिला अधिकारी से बदसलूकी से बात करते हुए एक अन्य वीडियो में सुना जा सकता है। वह लगातार कहती हैं कि जब लोग होंगे, तभी दस्तावेज की नकल मिलेगी।

दैनिक भास्कर से बातचीत में रामलाल जाट ने कहा कि वे एक महिला का जमीन नामांतरण का काम कराने के लिए फोन कर रहे थे और फोन पर तहसीलदार से उन्होंने कोई अभद्रता नहीं की। रामलाल जाट का ये भी कहना है कि स्वाति झा जहाँ भी रही हैं, वहाँ उनका ट्रैक रिकॉर्ड विवादित ही रहा है और वे जनता के कामों में रोड़े अटकाती हैं।

घटना वाले दिन महिला तहसीलदार के साथ क्या हुआ

पूरी घटना बात 21 मई 2021 की है। हुरड़ा तहसील कार्यालय कोविड काल में आई गाइडलाइन के मुताबिक खुला था। इस दौरान कुछ युवक आए और लैंड रिकॉर्ड विभाग से किसी डॉक्यूमेंट की कॉपी माँगने लगे। स्वाति झा ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि अमूमन 3 दिन में कॉपी देने का प्रावधान है, इसलिए उन्होंने युवकों से कहा कि अगले वर्किंग डे पर यानी 24 मई को आएँ। इसी बात पर युवक बदसलूकी करने लगे। इसके बाद उन्होंने विधायक रामलाल जाट से बात करवाई। बाद में जो बात आई, उसकी ऑडियो-वीडियो ही सोशल मीडिया पर सामने आई है।

स्वाति झा ने अपने साथ हुई घटना पर CI सतीश मीणा से कहा था कि वे इस मामले में पुलिस शिकायत दर्ज करें। जब उनके लोग रिकॉर्डिंग समेत सब सबूत पेनड्राइव लेकर थाने निकले तो उनके साथ मारपीट हुई। इसके कुछ देर बाद उन्हें एपीओ कर दिया गया। उन्होंने इस फैसले के ख़िलाफ़ हाईकोर्ट में अपील की, जिस पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने तहसीलदार स्वाति झा के APO पर स्टे लगा दिया। फिलहाल उन्होंने वापस हुरडा तहसीलदार के तौर पर जॉइन कर लिया है। लेकिन इन सबके बीच RTS में आक्रोश बढ़ गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हलाल-हराम के जाल में फँसा कनाडा, इस्लामी बैंकिंग पर कर रहा विचार: RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने भारत में लागू करने की...

कनाडा अब हलाल अर्थव्यवस्था के चक्कर में फँस गया है। इसके लिए वह देश में अन्य संभावनाओं पर विचार कर रहा है।

त्रिपुरा में PM मोदी ने कॉन्ग्रेस-कम्युनिस्टों को एक साथ घेरा: कहा- एक चलाती थी ‘लूट ईस्ट पॉलिसी’ दूसरे ने बना रखा था ‘लूट का...

त्रिपुरा में पीएम मोदी ने कहा कि कॉन्ग्रेस सरकार उत्तर पूर्व के लिए लूट ईस्ट पालिसी चलाती थी, मोदी सरकार ने इस पर ताले लगा दिए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe