राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को फिर चेताया, कहा- अब गुलाम कश्मीर पर होगी बात

राजनाथ सिंह ने कहा कि कुछ दिनों पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने यह कहा था कि भारत बालाकोट हमले से भी बड़ी तैयारी कर रहा है। इसका मतलब यह है कि पाकिस्तान के पीएम ने वह मान लिया है जो भारत ने बालाकोट में किया था।

बीते दिनों परमाणु हथियार पर भारत की नीति में भविष्य में बदलाव की बात कह पाकिस्तान की नींद उड़ाने वाले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पड़ोसी को फिर से चेताया है। उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान से अब अगर बात हुई तो गुलाम कश्मीर पर होगी।

वे हरियाणा के पंचकूला में सभा को संबोधित कर रहे थे। राजनाथ सिंह ने कहा, “जम्मू-कश्मीर में विकास के लिए आर्टिकल 370 के प्रावधान खत्म किए गए हैं। हमारा पड़ोसी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दरवाजे खटखटा रहा है और कह रहा है कि भारत ने गलती की है। पाकिस्तान से बात तभी होगी जब वह आतंकवाद को बढ़ावा देना बंद करेगा। यदि बातचीत हुई तो गुलाम कश्मीर पर होगी।”

राजनाथ सिंह ने कहा कि कुछ दिनों पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने यह कहा था कि भारत बालाकोट हमले से भी बड़ी तैयारी कर रहा है। इसका मतलब यह है कि पाकिस्तान के पीएम ने वह मान लिया है जो भारत ने बालाकोट में किया था।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

गौरतइससे पहले रक्षा मंत्री ने शुक्रवार (अगस्त 16, 2019) को कहा था कि विषम परिस्थितियों में भारत परमाणु हथियारों को ‘पहले इस्तेमाल न करने’ की अपनी नीति में बदलाव कर सकता है। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि पर दिए इस बयान से पाकिस्तान सहमा हुआ है।

राजनाथ सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा था, “पोखरण वह क्षेत्र है, जिसने भारत को परमाणु शक्ति बनाने के लिए अटल जी के दृढ़ संकल्प को देखा और अभी तक पहले इस्तेमाल न करने की नीति के सिद्धांत के प्रति प्रतिबद्ध है। भारत ने इस सिद्धांत का कड़ाई से पालन किया है। भविष्य में क्या होता है यह परिस्थितियों पर निर्भर करता है।”

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

नीरज प्रजापति, हेमंत सोरेन
"दंगाइयों ने मेरे पति को दौड़ा कर उनके सिर पर रॉड से वार किया। इसके बाद वो किसी तरह भागते हुए घर पहुँचे। वहाँ पहुँच कर उन्होंने मुझे सारी बातें बताईं। इसके बाद वो अचानक से बेहोश हो गए।" - क्या मुख्यमंत्री सोरेन सुन रहे हैं मृतक की पत्नी की दर्द भरी आवाज़?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

145,306फैंसलाइक करें
36,933फॉलोवर्सफॉलो करें
166,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: