Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीति'अनुराग कश्यप को जेल भेजो': गिरफ्तारी के लिए मुंबई पुलिस को आठवले ने दिया...

‘अनुराग कश्यप को जेल भेजो’: गिरफ्तारी के लिए मुंबई पुलिस को आठवले ने दिया 7 दिन का अल्टीमेटम

"पुलिस कह रही है कि मामले की जाँच चल रही है। हम पुलिस पर विश्वास करते हैं। पायल ने अनुराग कश्यप के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराने की हिम्मत की है, तमाम लोग उसका समर्थन कर रहे हैं। अगर अनुराग कश्यप को 7 दिन में गिरफ्तार नहीं किया जाता तो हम धरने पर बैठेंगे।”

अभिनेत्री पायल घोष ने अनुराग कश्यप पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। इस संबंध में आज (28 सितंबर 2020) उन्होंने आरपीआई नेता रामदास आठवले के साथ प्रेस वार्ता की। प्रेस वार्ता में दोनों ने अनुराग कश्यप को गिरफ्तार करने की माँग उठाई। आठवले ने कहा कि पायल घोष ने पुलिस महकमे पर भरोसा करके अनुराग कश्यप के विरुद्ध मामला दर्ज कराया है। इस बात को मद्देनज़र रखते हुए पुलिस की ज़िम्मेदारी बनती है कि वह पायल को न्याय दिलाए। 

आठवले ने कहा, “मैं पायल घोष से मिला। उन्होंने बताया कि कई साल पहले जब वह फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा बनी थीं, तब उनके साथ शोषण की घटना हुई थी। इस मामले में मेरी एक सीनियर पुलिस अधिकारी से भी बात हुई है। मुझे पता चला है कि अभी तक अनुराग कश्यप को नहीं बुलाया गया है। पुलिस कह रही है कि मामले की जाँच चल रही है। हम पुलिस पर विश्वास करते हैं। पायल ने अनुराग कश्यप के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराने की हिम्मत की है, तमाम लोग उसका समर्थन कर रहे हैं। अगर अनुराग कश्यप को 7 दिन में गिरफ्तार नहीं किया जाता तो हम धरने पर बैठेंगे।” 

उन्होंने कहा, “सामान्य मामलों में पुलिस जल्द से जल्द कार्रवाई करती है। अनुराग कश्यप मुंबई में हैं फिर भी अभी तक इस मामले में कुछ नहीं हुआ है। पायल घोष असुरक्षित महसूस कर रही हैं। उन्होंने पुलिस से सुरक्षा की माँग की है। मैं खुद सुनिश्चित करूँगा कि पायल को सुरक्षा मिले। इन बातों का एक और मतलब स्पष्ट है कि पायल के साथ कुछ भी गलत होता है तो उसके लिए मुंबई पुलिस जिम्मेदार होगी।” उन्होंने इस संबंध में गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखने और आवश्यकता पड़ने अपनी पार्टी की तरफ से पायल को सुरक्षा मुहैया कराने की बात भी कही।

दिशा सालियान मामले में आठवले ने कहा, “दिशा सालियान मामले की सीबीआई जाँच होनी चाहिए। पुलिस ने उसकी लाश देखी थी और उसके शरीर पर कपड़े नहीं थे। यानी उसके साथ कुछ न कुछ गलत ज़रूर हुआ। पुलिस इस मामले में लापरवाह रवैया अपना रही है, हमें इस बात पर संदेह है कि सुशांत सिंह और दिशा सालियान का मामला संबंधित है। हम चाहते हैं कि पुलिस इस मामले में सक्रियता से काम करे, जिससे सच सामने आए।”

वहीं पायल घोष ने कहा, “मैंने यौन शोषण की शिकायत कर अपना करियर दाँव पर लगाया है। मैं केवल इतना चाहती हूॅं कि जो मेरे साथ हुआ वह किसी और के साथ न हो। इस तरह की बात कहने के लिए हिम्मत चाहिए, मैं सभी से निवेदन करती हूँ कि उन्हें डरने की ज़रूरत नहीं है। सभी को इस मुद्दे पर आगे आकर बोलना होगा तभी ऐसी घटनाएँ रुकेंगी।” अनुराग कश्यप की गिरफ्तारी नहीं होने पर उन्होंने अनशन पर बैठने की बात कही।

अभिनेत्री पायल घोष ने हाल ही में आरोप लगाया था कि फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप द्वारा उनका यौन उत्पीड़न किया गया था। उन्होंने बताया था कि अनुराग कश्यप ने उन्हें सहज करने के लिए उनसे कहा था कि इंडस्ट्री में फिल्म निर्माताओं और अभिनेत्रियों के बीच शारीरिक संबंध आम बात है। पायल घोष ने आगे कहा कि ऐसा आदमी अब महिलाओं की स्वतंत्रता के लिए बोल रहा है, वह एक ‘f***ing hypocrite’ है। इसके बाद पायल घोष ने मशहूर निर्देशक अनुराग कश्यप पर यौन शोषण मामले में एफआईआर दर्ज करवाई थी। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,363FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe