Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिसपा प्रवक्ता ने स्वामी प्रसाद मौर्य पर कार्रवाई की माँग की, बताया धर्मद्रोही: रामचरितमानस...

सपा प्रवक्ता ने स्वामी प्रसाद मौर्य पर कार्रवाई की माँग की, बताया धर्मद्रोही: रामचरितमानस का समर्थन करने पर अपनी ही नेता को भला-बुरा बोल रहे सपाई

रोली तिवारी ने कहा कि यदि उन्हें राजनीतिक भविष्य और सनातन धर्म में से उन्हें किसी एक को चुनना पड़ा तो वे सनातन धर्म को चुनेंगी।

रामचरितमानस के खिलाफ लगातार बयान दे रहे समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ उन्हीं की पार्टी की नेता खड़ी हो गई हैं। सपा प्रवक्ता डॉक्टर रोली तिवारी मिश्रा ने स्वामी प्रसाद मौर्य पर रासुका लगाने की माँग तक कर दी है। डॉक्टर रोली ने एक के बाद एक ट्वीट कर स्वामी प्रसाद मौर्य पर निशाना साधा। उन्होंने योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ कार्रवाई की अपील की।

सपा प्रवक्ता रोली तिवारी ने ट्विटर पर अपनी ही पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। रोली तिवारी ने शुक्रवार (3 फरवरी, 2023) की सुबह स्वामी प्रसाद मौर्य पर धार्मिक उन्माद और जातीय संघर्ष फैलाने की कोशिश का आरोप लगाया। उन्होंने स्वामी प्रसाद को धर्मद्रोही करार देते हुए राष्ट्र के लिए खतरा बताया। रोली तिवारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को टैग करते हुए स्वामी प्रसाद मौर्य पर रासुका लगाकर कार्रवाई की माँग की।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने पूछा कि सनातन धर्म के खिलाफ़ साजिश कर हिंदू जातियों को बाँटकर क्या देश में गृहयुद्ध जैसी भूमिका रची जा रही है?

रोली तिवारी कई दिनों से सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ हमलावर हैं। गुरुवार (2 फरवरी, 2023) को अपने एक ट्वीट में रोली तिवारी ने स्वामी प्रसाद मौर्य को रामचरितमानस पर शास्त्रार्थ का चैलेंज दिया था। उन्होंने लिखा, “मैं अपनी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव श्री स्वामी प्रसाद मौर्य को श्रीरामचरितमानस पर जनता के सामने Live शास्त्रार्थ के लिए आमंत्रित करती हूँ। अगर मैं उनसे हार गई तो राजनीति छोड़ दूँगी।”

एक गुरुवार (2 फरवरी, 2022) को हीं एक अन्य ट्वीट में रोली यह कह रही थीं कि यदि उन्हें राजनीतिक भविष्य और सनातन धर्म में से उन्हें किसी एक को चुनना पड़ा तो वे सनातन धर्म को चुनेंगी। ठीक एक दिन बाद शुक्रवार (3 फरवरी) को वे लिखती हैं कि एक तरफ राजनीतिक पद लाभ थे दूसरी तरफ प्रभु श्रीराम और रामचरितमानस मैंने प्रभु श्रीराम को चुना। उनकी इन ट्वीट्स के समाजवादी पार्टी के समर्थक ही उन पर हमला कर रहे हैं।

रोली तिवारी के ट्वीट का स्क्रीन शॉट

बता दें कि सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने रामचरितमानस को बकवास बताते हुए प्रतिबंध की माँग की थी। इसके बाद उन्हें साधु-संतो और महंतों की नाराजगी का सामना करना पड़ा था। इसके बाद मौर्य ने हिंदू संतों और महंतों को ‘आतंकवादी’ व ‘जल्लाद’ कहा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -