Tuesday, September 21, 2021
Homeराजनीतियूपी की जेल से छूटते ही सपा नेता नदीम फारुखी हुए बेलगाम, कहा- ‘पुलिस...

यूपी की जेल से छूटते ही सपा नेता नदीम फारुखी हुए बेलगाम, कहा- ‘पुलिस को अपने जूते की नोक पर रखता हूँ’

सपा नेता नदीम अहमद फारुखी ने अपने बयान में कहा है कि वह पुलिस को हमेशा अपने जूते की नोक पर रखते हैं। सपा नेता इतने पर ही नहीं रुके, इसके बाद उन्होंने कहा कि यह गर्व की बात है जो मुख्यमंत्री (योगी आदित्यनाथ) ने उन्हें गिरफ्तार कराया।

समाजवादी पार्टी के एक नेता ने जेल से छूटने के बाद ही विवादित बयान दे दिया। फ़िलहाल उनका बयान राजनीतिक गलियारों में चर्चा की वजह बना हुआ है। सपा नेता नदीम अहमद फारुखी ने अपने बयान में कहा है कि वह पुलिस को हमेशा अपने जूते की नोक पर रखते हैं। सपा नेता इतने पर ही नहीं रुके, इसके बाद उन्होंने कहा कि यह गर्व की बात है जो मुख्यमंत्री (योगी आदित्यनाथ) ने उन्हें गिरफ्तार कराया। 

विवादित बयान देने वाले नदीम अहमद फारुखी उत्तर प्रदेश स्थित फर्रुखाबाद जिले के सपा, जिलाध्यक्ष हैं। उन पर एक महिला ने छेड़छाड़, जानलेवा हमला और धमकी देने का आरोप लगाया था। जिसके बाद उन पर लगाए गए आरोपों के आधार पर संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज करके उन्हें जेल भेज दिया गया था। यह घटना बीते रविवार (1 नवंबर 2020) की बताई जा रही है।

जेल से बाहर आते ही एक जनसभा को संबोधित करते हुए सपा नेता नदीम अहमद फारुखी ने कहा- 

“हिम्मत नहीं थी किसी की बात करने के लिए। गर्व की बात है कि मुख्यमंत्री ने हमें अरेस्ट कराया। आप लोगों, बुजुर्गों की दुआएँ थीं और नौजवानों हौसला, वकीलों का साथ था। आज पहली बार शुक्रिया करता हूँ कि पुलिस ने भी हमारा बहुत सम्मान रखा 3 दिन तक। ऐसा पहली बार हुआ नहीं तो मैं पुलिस को अपने जूते की नोक पर रखता हूँ। एक ही डर था जेल जाने का अब वह डर भी ख़त्म हो गया।” इस बयान के बाद मौके पर मौजूद भीड़ नारे लगाते हुए सपा नेता का समर्थन भी करती है। 

पुलिस ने सपा जिलाध्यक्ष को रविवार को गिरफ्तार करने के बाद सोमवार को कड़ी सुरक्षा के बीच न्यायालय में पेश किया था। इसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया था और फिर उनकी जमानत के लिए न्यायालय में याचिका दायर की गई थी। अंततः बुधवार को जिला न्यायाधीश राजेश कुमार राय ने जमानत के लिए दायर की गई उनकी याचिका पर सुनवाई की थी। दोनों पक्षों को सुनने के बाद न्यायाधीश ने समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फारुखी की जमानत याचिका को स्वीकार कर लिया था। 

स्थानीय समाचार समूहों की रिपोर्ट्स के अनुसार सितारा बेगम नाम की महिला ने सपा नेता के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस अधीक्षक को लिखे गए पत्र में सितारा बेगम का कहना था कि नदीम अहमद फारुखी उनके घर के ठीक पीछे प्लाटिंग करा रहे हैं। इतना ही नहीं, रास्ता उनके घर से निकालने की योजना बना रहे हैं। महिला ने आरोप में यहाँ तक दावा किया था कि सपा नेता ने अपने साथियों के साथ मिल कर हथियारबंद होकर उनकी ज़मीन पर कब्ज़ा करने का प्रयास किया था।               

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

आज पाकिस्तान के लिए बैटिंग, कभी क्रिकेट कैंप में मौलवी से नमाज: वसीम जाफर पर ‘हनुमान की जय’ हटाने का भी आरोप

पाकिस्तान के साथ सहानुभूति रखने के कारण नेटिजन्स के निशाने पर आए वसीम जाफर पर मुस्लिम क्रिकेटरों को तरजीह देने के भी आरोप लग चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,586FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe