Tuesday, June 18, 2024
Homeराजनीति10 साल बाद संजय दत्त की राजनीति में वापसी, BJP की सहयोगी पार्टी में...

10 साल बाद संजय दत्त की राजनीति में वापसी, BJP की सहयोगी पार्टी में हो सकते हैं शामिल

“हमने अपनी पार्टी का विस्तार करने के लिए फिल्म क्षेत्र में काम करना शुरू कर दिया है। 25 सितंबर को अभिनेता संजय दत्त भी राष्ट्रीय समाज पार्टी में शामिल हो रहे हैं।”

बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त लगभग 10 साल बाद राजनीति में फिर से आने के लिए तैयार हैं। ऐसी ख़बर सामने आई है कि वे अब महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी राष्ट्रीय समाज पार्टी (RSP) में शामिल होंगे।

ख़बर के अनुसार, संजय दत्त, जो कभी समाजवादी पार्टी में शामिल हुए थे, महाराष्ट्र के एक मंत्री के अनुसार, राजनीति में फिर से प्रवेश करने के लिए तैयार हैं। पार्टी के संस्थापक और कैबिनेट मंत्री, महादेव जानकर ने रविवार (25 अगस्त) को कहा, 60 वर्षीय संजय दत्त आगामी 25 सितंबर तक RSP में शामिल हो सकते हैं। RSP महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ बीजेपी का एक सहयोगी दल है।

महादेव जानकर ने कहा कि RSP अपनी पार्टी का विस्तार करने के लिए फ़िल्म उद्योग की हस्तियों को पार्टी में शामिल कर रही है। बता दें कि RSP पार्टी मुख्य रूप से ‘धनगर’ या ‘चरवाहा’ समुदाय का प्रतिनिधित्व करती है।

महाराष्ट्र सरकार में पशुपालन और डेयरी विकास मंत्री महादेव जानकर ने कहा, “हमने अपनी पार्टी का विस्तार करने के लिए फिल्म क्षेत्र में काम करना शुरू कर दिया है। 25 सितंबर को अभिनेता संजय दत्त भी राष्ट्रीय समाज पार्टी में शामिल हो रहे हैं।”

इस कार्यक्रम के दौरान एक पहले का रिकॉर्ड किया हुआ वीडियो दिखाया गया, इसमें अभिनेता संजय दत्त RSP और जानकर का अभिवादन करते हुए उन्हें ‘भाई’ कहकर संबोधित किया था।

ख़बर के मुताबिक़, संजय दत्त आगामी महाराष्ट्र चुनावों में केवल RSP के लिए प्रचार करेंगे। फ़िलहाल, संजय दत्त की ओर से इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, क्योंकि उन्होंने अभी तक इस संदर्भ में कोई बयान जारी नहीं किया है।

ग़ौरतलब है कि संजय दत्त के स्वर्गीय पिता सुनील दत्त ने पाँच बार कॉन्ग्रेस पार्टी से मुंबई उत्तर-पश्चिम निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया था। उन्होंने अपनी मृत्यु से पहले मई 2004-2005 के दौरान यूपीए-1 सरकार में युवा मामलों और खेल मंत्री के रूप में भी कार्य किया था। संजय दत्त की बहन प्रिया दत्त मुंबई से कॉन्ग्रेस की पूर्व सांसद हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

दलितों का गाँव सूना, भगवा झंडा लगाने पर महिला का घर तोड़ा… पूर्व DGP ने दिखाया ममता बनर्जी के भतीजे के क्षेत्र का हाल,...

दलित महिला की दुकान को तोड़ दिया गया, क्योंकि उसके बेटे ने पंचायत चुनाव में भाजपा की तरफ से चुनाव लड़ा था। पश्चिम बंगाल में भयावह हालात।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -