Tuesday, September 21, 2021
Homeराजनीतिकेंद्रीय मंत्री नारायण राणे पर शिवसेना ने कराई FIR, स्वतंत्रता का साल भूलने पर...

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे पर शिवसेना ने कराई FIR, स्वतंत्रता का साल भूलने पर CM उद्धव ठाकरे की आलोचना की थी

केस दर्ज कराए जाने के बाद अब नाराय़ण राणे के बेटे नितेश राणे ने शिवसैनिकों को चेतावनी देते हुए उन्हें शेर की माँद में घुसने से बचने की सलाह दी है।

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता नारायण राणे के खिलाफ महाराष्ट्र के पुणे में एफआईआर दर्ज की गई है। सोमवार (23 अगस्त 2021) को शिवसेना की युवा इकाई ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की आलोचना करने को लेकर एफआईआर दर्ज कराई। राणे ने 15 अगस्त के संबोधन के दौरान देश के स्वतंत्र होने का वर्ष भूलने को लेकर मुख्यमंत्री की आलोचना की थी।

रिपोर्टों के अनुसार राणे के खिलाफ ‘आपत्तिजनक भाषा’ के इस्तेमाल को लेकर आईपीसी की धारा 153 और 505 के तहत केस दर्ज किया गया है। एबीपी की रिपोर्ट के अनुसार नासिक में भी उनके खिलाफ शिकायत की गई है और कथित तौर पर गिरफ्तारी का वारंट भी जारी कर दिया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार नासिक पुलिस ने चिपलून जाकर केंद्रीय मंत्री को गिरफ्तार करने का आदेश क्राइम ब्रांच को दिया है। इसमें कहा गया है, “राणे ने जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि यह शर्म की बात है कि राज्य के सीएम को यह नहीं पता कि देश को स्वतंत्रत हुए कितने साल हो गए। वे 15 अगस्त को अपनी स्पीच के दौरान पीछे बैठे लोगों से पूछते हैं कि आजादी को कितने साल हो गए।”

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री राणे ने 2005 में शिवसेना छोड़ दी थी। वह उद्धव ठाकरे के घोर आलोचक रहे हैं। इतना ही नहीं बीजेपी की जन आशीर्वाद यात्रा के खिलाफ शिवसेना शुरू से ही आक्रामक रही है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि मुंबई पुलिस ने जनआशीर्वाद यात्रा निकालने वाले कार्यकर्ताओं के खिलाफ करीब 22 केस दर्ज किए हैं। कोंकण का महाड़ इलाका शिवसेना का वर्चस्व वाला क्षेत्र माना जाता है। यहीं पर राणे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उद्धव ठाकरे पर टिप्पणी की थी।

युवा सेना को चेतावनी

केस दर्ज कराए जाने के बाद अब नाराय़ण राणे के बेटे नितेश राणे ने शिवसैनिकों को चेतावनी देते हुए उन्हें शेर की माँद में घुसने से बचने की सलाह दी है। उन्होंने ट्वीट किया, “मुंबई के जुहू स्थित हमारे घर के पास युवा सेना के कार्यकर्ताओं को इकट्ठा होने के लिए कहा गया है। मुंबई पुलिस उन्हें वहाँ आने से रोक, नहीं तो जो कुछ भी होगा उसकी जिम्मेदारी हमारी नहीं होगी। शेर की गुफा में जान की हिम्मत मत करो। हम इंतजार कर रहे होंगे!”

वहीं शिवसेना सांसद विनायक राउत ने कहा है, “मोदी को अपने मंत्रिमंडल से राणे के बाहर करके उसे साफ रखना चाहिए। राणे को सिर्फ शिवसेना पर हमला करने के लिए मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था और अपना काम करते हुए वह एक नए निचले स्तर पर आ गए।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज योगेश है, कल हरीश था: अलवर में 2 साल पहले भी हुई थी दलित की मॉब लिंचिंग, अंधे पिता ने कर ली थी...

आज जब राजस्थान के अलवर में योगेश जाटव नाम के दलित युवक की मॉब लिंचिंग की खबर सुर्ख़ियों में है, मुस्लिम भीड़ द्वारा 2 साल पहले हरीश जाटव की हत्या को भी याद कीजिए।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालत में मौत: पंखे से लटकता मिला शव, बरामद हुआ सुसाइड नोट

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है। महंत का शव बाघमबरी मठ में सोमवार को फाँसी के फंदे से लटकता मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,474FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe