Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीतितीसरी बार सत्ता में लौटे PM मोदी लेकिन AAP विधायक सोमनाथ भारती ने सिर...

तीसरी बार सत्ता में लौटे PM मोदी लेकिन AAP विधायक सोमनाथ भारती ने सिर मुँडवाने से किया इनकार, खुद को बता रहे सनातनी: कहा – बहुमत मिलता तो ये होती लोकतंत्र की हत्या

"160 सीटें नरेंद्र मोदी को नहीं मिल पाईं, इसीलिए नैतिकता के आधार पर नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देकर चला जाना चाहिए।"

लोकसभा चुनाव 2024 में NDA 292 सीटों के साथ सरकार बनाने जा रही है और भाजपा ने अकेले दम पर 240 सीटें प्राप्त की हैं। मालवीय नगर से लगातार तीसरी बार विधायक सोमनाथ भारती ने चुनाव परिणाम घोषित होने से पहले कहा था कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फिर से सरकार में आते हैं तो वो अपना बाल मुँडवा लेंगे और चेहरा काला कर लेंगे। हालाँकि, अब जब तस्वीर साफ़ हो गई है और नरेंद्र मोदी लगातार तीसरी बार शपथ लेने जा रहे हैं, तब वो अपने इस बयान से पलट गए हैं।

अब AAP विधायक सोमनाथ भारती ने कहा है कि नरेंद्र मोदी से उन्हें कोई तकलीफ नहीं है, तकलीफ इससे है कि उन्होंने जिस तरह से अपने शासन के दौरान हुनर दिखाए हैं। सोमनाथ भारती ने कहा कि जनता जिसको मरजीबनाए, जनता मालिक है और लोकतंत्र में जनता ही सब कुछ है, लेकिन ‘400 पार’ का नारा देकर जनता ने उन्हें 240 सीटें दी हैं। सोमनाथ भारती ने दावा किया कि जनता ने नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने का जनमत नहीं दिया है।

सोमनाथ भारती ने कहा, “160 सीटें नरेंद्र मोदी को नहीं मिल पाईं, इसीलिए नैतिकता के आधार पर नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देकर चला जाना चाहिए। क्योंकि, ये दायित्व जनता उनको तीसरी बार नहीं देना चाहती। जहाँ तक सिर मुँडाने की बात है, मैं एक सनातनी हूँ और एक सनातनी के घर में जब किसी की मृत्यु होती है तो वो संस्कार करवाने के बाद अपना सिर मुँडवाता है। नरेंद्र मोदी को अगर मैंडेट मिलता, तो भाजपा को 272 से ज़्यादा आता।”

सोमनाथ भारती ने दावा किया कि भाजपा को बहुमत से नीचे सीटें मिली हैं। सोमनाथ भारती ने कहा कि अगर पीएम मोदी को मैंडेट मिलता तो वो मानते कि लोकतंत्र की हत्या हुई है, और जब किसी की मौत हो तो संस्कार करने के बाद सिर मुँडवा कर इसका इजहार किया जाता है और वही उन्होंने कहा था। सोमनाथ भारती पर अपनी पत्नी को कुत्ते से कटवाने का आरोप भी लगा था। उत्तर प्रदेश में उनके चेहरे पर स्याही भी फेंक दी गई थी। वो अक्सर बड़बोलेपन के लिए जाने जाते रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -